NationalTop Story

अर्थव्यवस्था पर मोदी सरकार दिशाहीन, ये मानव निर्मित आपदा लेकिन पीएम खामोश- चिदंबरम

विज्ञापन

New Delhi: 106 दिनों के बाद जेल से रिहा हुए पूर्व वित्त मंत्री और कांग्रेस नेता पी चिदंबरम ने मोदी सरकार पर जमकर निशाना साधा. गिरती अर्थव्यवस्था के लिए उन्होंने मोदी सरकार की नीतियों को जिम्मेदार बताते हुए कहा कि ये मानव निर्मित आपदा है.

आइएनएक्स मीडिया केस में किसी भी तरह की टिप्पणी से इनकार करते हुए उन्होंने कहा कि जेल में रहकर वो और मजबूत हुए हैं. मंत्री रहने के दौरान मेरा रिकॉर्ड और मेरी अंतरात्मा बिलकुल साफ है.

इसे भी पढ़ेंः#Unnao में गैंगरेप पीड़िता को जिंदा जलाने के मामले पर प्रियंका ने शाह, योगी पर साधा निशाना

advt

साथ ही कहा कि कल रात आजादी की सांस लेने के बाद मैंने पहली प्रार्थना कश्मीर के लोगों के लिए की जिन्हें बुनियादी आजादी भी नहीं दी गई है.

सरकार का अड़ियल और जिद्दी रवैया दोषपूर्ण

सरकार को अर्थव्यवस्था का कोई ओर-छोर नहीं मिल रहा, वह नोटबंदी और दोषपूर्ण जीएसटी जैसी विनाशकारी गलतियों का बचाव बहुत ही अड़ियल और जिद्दी तरीके से काम कर रही है.
इस वित्त वर्ष के सात महीने गुजरने के बाद भी भाजपा सरकार का यही मानना है कि अर्थव्यवस्था में आ रही समस्याएं चक्रीय हैं.

सरकार का यह मानना गलत है. सरकार लगातार गलती पर गलती कर रही हैं, जिन्हें छुपाने के लिए इस तरह के कदम उठाए जा रहे हैं. आज GDP 4.5 तक चली गई है क्या यही बीजेपी के अच्छे दिन हैं.

पीएम चुप क्यों हैं?

मीडिया से बात करते हुए पूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिदंबरम ने गिरती अर्थव्यवस्था पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की चुप्पी पर सवाल उठाये हैं. उन्होंने अपने मंत्रियों को इसे झेलने के लिए छोड़ दिया है. साथ ही कहा कि अर्थव्यवस्था की कमान अयोग्य हाथों में है, जिस वजह से ऐसा हो रहा है. उन्होंने कहा कि अगर बीमारी की पहचान नहीं होगी तो इलाज भी गलत होगा. सही इलाज के लिए मर्ज की जानकारी होना बेहद जरूरी है.

इसे भी पढ़ेंः#RBI का उपभोक्ताओं को झटकाः रेपो रेट में कोई कटौती नहीं, GDP अनुमान 6.1% से घटाकर 5 % किया

अगर GDP 5 फीसदी तक भी पहुंचती है तो हमारे लिए खुशी की बात होगी, क्योंकि GDP के गणित को जिस तरह से बदला गया है उस हिसाब से हालत 1.5 फीसदी तक के हैं.

उद्योगपति-मीडिया सब डरे हुए हैं

राहुल बजाज के डर के माहौल के बयान को लेकर उन्होंने कहा कि मीडिया, बिजनेसमैन सब डरे हुए हैं. मीडिया डर रही है, इसलिए सच्चाई छिपा रही है.

वहीं देश में बढ़ती रेप की घटनाओं पर चिदंबरम दुखी नजर आये. साथ ही कई शिक्षण संस्थाओं में हो रहे विरोध प्रदर्शन को लेकर भी उन्होंने चिंता जताई.

गौरतलब है कि आइएनएक्स मीडिया केस में आरोपी बनाये गये पूर्व केंद्रीय मंत्री बुधवार देर शाम तिहाड़ जेल से 106 दिनों बाद रिहा हुए हैं. अपनी जमानत पर उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले का वो स्वागत करते हैं.

इसे भी पढ़ेंःप्याज की कीमतों पर बोलीं #NirmalaSitharaman, ‘मैं लहसुन-प्याज ज्यादा नहीं खाती, मुझे फर्क नहीं पड़ता’

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button