न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

वाजपेयी के निधन के बाद भावुक हुए मोदी, कहा- खो दिया पिता तुल्य संरक्षक

हमने अटल रत्न खो दिया : मोदी

201

New Delhi : अटल बिहारी वाजपेयी को पिता तुल्य बताते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को कहा कि उनके निधन से अपूरणीय क्षति हुयी है. एक संक्षिप्त संबोधन में मोदी ने कहा कि वाजपेयी ने अपने नेतृत्व और संघर्ष से जनसंघ और भारतीय जनता पार्टी को मजबूती प्रदान की. उन्होंने कहा कि वाजपेयी इन पार्टियों को देश के हर हिस्से तक ले गए और भाजपा की नीतियां तथा सिद्धांत का विस्तार लोगों तक किया. उन्होंने कहा कि वाजपेयी का निधन पिता तुल्य संरक्षक का साया सिर से उठने जैसा है.

इसे भी पढ़ें- अंतिम सफर पर अटल बिहारी वाजपेयी, दिन के एक बजे तक बीजेपी मुख्यालय में अंतिम दर्शन

हमने अटल रत्न खो दिया : मोदी

मोदी ने कहा कि अटल जी ने मुझे संगठन और शासन के महत्व के बारे में समझाया. उन्होंने कहा कि वह जब कभी वाजपेयी से मिलते थे तो वह आत्मीयता के साथ गले लगाते. उन्होंने कहा कि हमने अपनी प्रेरणा खो दी है. हमने अटल रत्न खो दिया है। अटल जी का व्यक्तित्व और उनके जाने का दुख दोनों शब्दों के दायरे से परे हैं. मोदी वाजपेयी के निवास 6 ए, कृष्ण मेनन मार्ग गए और उन्हें श्रद्धांजलि दी. इसके पहले वाजपेयी के निधन को प्रधानमंत्री मोदी ने अपूरणीय क्षति बताते हुए कहा कि उन्होंने जीवन का प्रत्येक पल राष्ट्र को समर्पित कर दिया था और उनका जाना, एक युग का अंत है.

इसे भी पढ़ें- बढ़ानी है सरकार को स्थापना दिवस की शोभा, इसलिए छात्रों को तीन माह तक नहीं मिलेंगे 21 हजार शिक्षक

अटल जी की तपस्या और संघर्ष के कारण ही भाजपा का निर्माण हुआ

प्रधानमंत्री ने कहा कि अटल जी का जाना मेरे लिये व्यक्तिगत और अपूरणीय क्षति है. मेरे पास उनसे जुड़ी असंख्य स्मृतियां हैं. मेरे जैसे कार्यकर्ताओं के लिये वे प्रेरणस्रोत रहेंगे. मैं उनकी तीक्ष्ण बुद्धिमता और अभूतपूर्व वाकपटुता को खासतौर पर याद कर रहा हूं. मोदी ने कहा कि अटल बिहारी वाजपेयी के अभूतपूर्व नेतृत्व के कारण ही 21वीं सदी में मजबूत, समृद्ध और समावेशी भारत की नींव स्थापित हुई. विभिन्न क्षेत्रों में उनकी भविष्योन्मुखी नीतियों ने प्रत्येक भारतीय नागरिक के जीवन को छुआ. उन्होंने कहा कि अटलजी की तपस्या और संघर्ष के कारण ही भाजपा का तिनका तिनका जोड़कर निर्माण हुआ. उन्होंने सम्पूर्ण भारत का दौरा किया और भाजपा के संदेश का प्रचार प्रसार किया जिसके कारण भाजपा राष्ट्रीय राजनीति और कई राज्यों में एक मजबूत ताकत बन सकी. उल्लेखनीय है कि पूर्व प्रधानमंत्री वाजपेयी का लम्बी बीमारी के बाद गुरुवार को अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान :एम्स: में निधन हो गया.

इसे भी पढ़ें- 2012 से 2017 तक झारखंड के 218 NGO का FCRA लाइसेंस रद्द कर चुका है गृह मंत्रालय

वाजपेयी को राहुल गांधी ने दी श्रद्धांजलि

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने शुक्रवार को पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के आवास पर पहुंचकर उनको श्रद्धांजलि दी. लंबी बीमारी के बाद कल शाम एम्स में वाजपेयी ने अंतिम सांस ली. वह 93 वर्ष के थे. पार्टी के मुताबिक कांग्रेस अध्यक्ष कृष्णा मेनन मार्ग स्थित वाजपेयी के आवास पर सुबह करीब 8:45 बजे पहुंचे और दिवंगत नेता को श्रद्धांजलि अर्पित की. इससे पहले गुरुवार रात पार्टी की वरिष्ठ नेता सोनिया गांधी और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने भी वाजपेयी को श्रद्धांजलि अर्पित की थी.

palamu_12

इसे भी पढ़ें- अटल बिहारी वाजपेयी के निधन पर झारखंड में सात दिनों का राजकीय शोक, शुक्रवार को अवकाश

भारत ने अपना एक महान सपूत खो दिया

गौरतलब है कि राहुल गांधी ने वाजपेयी के निधन पर दुख प्रकट करते हुए कहा था कि आज भारत ने अपना एक महान सपूत खो दिया. वाजपेयी जी को करोड़ों लोग स्नेह और सम्मान देते थे. उनके परिवार एवं चाहने वालों के प्रति मेरी संवेदनाएं हैं. हम उनकी कमी महसूस करेंगे. सोनिया गांधी ने वाजपेयी के निधन पर शोक प्रकट करते हुए कहा कि वाजपेयी जीवन भर लोकतांत्रिक मूल्यों के लिए खड़े रहे और यह प्रतिबद्धता उनके हर काम में परिलक्षित होती थी. वहीं मनमोहन सिंह ने कहा कि राष्ट्र के प्रति वाजपेयी की सेवाओ को लंबे समय तक याद किया जाएगा.

इसे भी पढ़ें- भारतीय राजनीति के महानायक वाजपेयी जी को अलविदा नहीं कहा जा सकता

सर्व स्वीकृत नेता थे वाजपेयी : भागवत

आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को एक ‘‘सर्व स्वीकृत नेता’’ करार दिया जिन्होंने सार्वजनिक जीवन में भारतीय मूल्य कायम किए. भागवत ने आरएसएस के ट्विटर हैंडल का इस्तेमाल करते हुए ट्वीट किया कि वाजपेयी एक प्रखर दृढ एवं सर्व स्वीकृत नेता और महान व्यक्तित्व थे जिन्होंने भारतीय संस्कृति एवं मूल्यों को राष्ट्र जीवन में प्रतिष्ठित किया. उन्होंने कहा कि वाजपेयी के निधन से पैदा हुई शून्यता हमेशा बनी रहेगी. भागवत ने कहा कि दिवंगत नेता को अपनी श्रद्धांजलि अर्पित करने में हम राष्ट्र के साथ हैं.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

 

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

%d bloggers like this: