West Bengal

MobLynching : मुआवजे की मांग को लेकर हिंसक प्रदर्शन, युवक की पिटाई, पुलिस पर पत्थरबाजी

Asansol : सालानपुर थाना क्षेत्र में मॉब लिंचिंग की घटना के शिकार रेलपार बाबूतालाब निवासी मोहम्मद असलम खान के शव के साथ मुआवजे के मांग पर रेलपार डॉ बीसी रॉय रोड के निकट प्रदर्शन कर रहे मोहल्लेवासियों एवं पुलिस के बीच झडप में एक एसआइ सहित दो पुलिस कांस्टेबल घायल हो गये.

भीड़ को नियंत्रित करने के लिए पुलिस ने आधे दर्जन आंसू गैस के गोले दागे और लाठी चार्ज की. पत्थरबाजी में पुलिस के कई वाहन क्षतिग्रस्त हो गये. थाना पुलिस ने भीड को उकसाने, पुलिस पर हमला करने और सरकारी काम में बाधा देने के कारण भीड में शामिल 150 लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कर धर पकड आरंभ कर दी है.

स्थिति नियंत्रित करने के लिए इलाके में जगह जगह पर कई टुकडियों में भारी संख्या में पुलिस बलों की तैनाती की गयी है. पुलिस के गश्ती दल के वाहन इलाके में नियमित गश्त लगा रही है.

advt

इसे भी पढ़ें : #Assembly Elections : बोकारो के सीटिंग MLA बिरंची को पूर्व जिला अध्यक्षों से मिल रही है कड़ी टक्कर

बाहरी युवक के नाम पर पकड़ लिया

भीड में कुछ युवक नारेबाजी कर रहे थे कि जब हमारे इलाके के बेकसूर युवक को बाहर में मारा गया है तो रेलपार आने वाले हर बाहरी लोगों को भी पीटा जाये.

इतने में धादका निवासी एक युवक अपने मोटर साईकिल से वहां से गुजर रहा था कि भीड में शामिल कुछ लोगों ने उसे रोका और घेर कर पुलिस के सामने ही उसकी पिटाई आरंभ कर दी. युवक को भीड से बचाने के लिए पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच भारी रस्साकस्सी हुई.

पुलिस ने बलपूर्वक युवक को भीड़ से खींच कर बाहर निकाला. जिससे प्रदर्शनकारी उग्र हो उठे. जिसके बाद भीड़ में शामिल कुछ लोगों के उकसावे पर उग्र भीड ने पुलिस को केंद्र कर पत्थरबाजी करना आरंभ कर दिया. भारी पत्थरबाजी में पुलिस के दो कांस्टेबल एवं एक एसआई चोटिल हो गये.

adv

भीड को नियंत्रित करने के लिए पुलिस ने कई आंसू गैस के गोले दागे और लाठी चार्ज कर दिया. जिसके बाद लोगों में भगदड मच गयी. पुलिस ने लोगों को खदेड़ना आरंभ कर दिया.

इसे भी पढ़ें : #Dhullu तेरे कारण : SSP से मिले बियाडा के पूर्व अध्यक्ष, कहा- मेरे खिलाफ साजिश रच रहे हैं बाघमारा MLA

शिल्पांचल के प्रशासनिक एवं उच्च पदस्थ अधिकारियों ने जताई चिंता

Asansol : मॉब लिंचिंग की घटनाओं में लगातार बढोत्तरी एवं बेकसूर लोगों को निशाना बनाये जाने को लेकर शिल्पांचल के प्रशासनिक एवं उच्च पदस्थ अधिकारियों ने चिंता जताते हुए इस पर सख्ती से रोक लगाये जाने और लोगों में जागरूकता चलाये जाने की बात कही. भीड के बेकाबू होकर  जांच पडताल और सच्चाई जाने बिना ही हिंसक रूप ले लेने से लोगों में दहशत बढती जा रही है.

भीड को उकसाने वाले तत्वों से बचें और अफवाह से बनायें दूरी : मेयर जितेंद्र

पांडेश्वर के विधायक सह मेयर जितेंद्र तिवारी ने मॉब लिंचिंग की घटनाओं को समाज के लिए हानिकारक बताते हुए लोगों को इससे बचने को कहा. उन्होंने प्रशासन द्वारा अफवाह फैलाने वालों पर कार्रवाई किये जाने की बात कही. जनसाधारण से अफवाहों पर ध्यान न देने और मॉब लिंचिंग जैसी घटनाओं में लिप्त न होने की बात कही.

इसे भी पढ़ें : चतुर्थ विधानसभा: 127 कार्यदिवस में 127 विधेयक हुए पारित, पूछे गये 9455 प्रश्न

अफवाहों से बचने और कानून को हाथ में न लें : कुलपति

काजी नजरूल यूनिवर्सिटी के कुलपति डॉ साधन चक्रवर्ती ने मॉब लिंचिग की घटनाओं पर चिंता जताते हुए लोगों को अफवाहों से बचने और कानून को हाथ में न लेने का आग्रह किया. उन्होंने मॉब लिंचिंग की घटनाओं को शर्मनाक बताते हुए बेकसूर निहत्थे लोगों के साथ हो रही हिंसा पर रोक के लिए पुलिस को सख्ती से निबटने को कहा.

पुलिस आयुक्त ने घटना को दुखद कहा               

पुलिस आयुक्त डीपी सिंह ने मॉब लिंचिंग की घटनाओं को दुखद बताते हुए मॉब लिंचिंग में शामिल लोगों पर कडी कार्रवाइ की बात कही. उन्होने कहा कि मॉब लिचिंग जैसे शर्मनाक घटनाओं में शामिल लोगों और कानून को हाथों में लेने वालों  को किसी भी कीमत पर बख्शा नहीं जायेगा.

इसे भी पढ़ें : #TVNL नहीं दे रहा है मृत कर्मियों के आश्रितों को अनुकंपा के आधार पर नौकरी

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button