National

#MNS ने महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव लड़ने का किया फैसला, राज ठाकरे बोले- पैसा रोकने के लिए किया #ED केस

Mumbai: महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (एमएनएस) ने चुनाव लड़ने का फैसला किया है. एमएनएस प्रमुख राज ठाकरे ने इसकी आधिकारिक घोषणा कर दी है.

उन्होंने कहा कि वो जल्द पूरे महाराष्ट्र में चुनाव प्रचार के लिये जायेंगे. हालांकि यह अभी तक स्पष्ट नहीं हुआ है कि एमएनएस के कितने उम्मीदवार चुनाव मैदान में उतरेंगे.

इसे भी पढ़ें – #IndianRailway पर कैश संकट, कई गाड़ियों को बंद करने और साफ-सफाई के लिए स्पॉन्सरशिप पर विचार

कारोबारी फोन तक नहीं उठाते: राज ठाकरे

सरकार के खिलाफ आरोप लगाते हुए राज ठाकरे ने कहा कि उनके औऱ शरद पवार के खिलाफ ED की जांच इसलिए करायी जा रही है कि चुनाव में कोई आर्थिक मदद न मिल सके.

advt

राज ठाकरे ने कहा कि जब ED या कोई दूसरी एजेंसी किसी के पीछे पड़ती है तो कारोबारी या चुनाव में मदद करने वाले लोग उससे संपर्क करने से बचते हैं, फोन भी नहीं उठाते हैं.

खास सीटों पर उतार सकते हैं उम्मीदवार

ऐसा माना जा रहा है कि एमएनएस खास सीटों पर अपने उम्मीदवार उतार सकती है. पार्टी उन सीटों पर उम्मीदवार उतारने का ऐलान कर सकती है, जहां राज ठाकरे की अच्छी पकड़ है.

पार्टी ऐसी सीटों की पहचान कर रही है जहां उसके उम्मीदवारों के जीतने की संभावना है. लोकसभा चुनाव के दौरान राज ठाकरे ने जिन सीटों पर प्रचार किया था और उनमें काफी भीड़ उमड़ी थी, वैसी सीटों की पहचान की रही है.

रैली में आयी भीड़ को पार्टी अच्छा संकेत मान रही है. ऐसा माना जा रहा है कि उन सीटों पर एमएनएस के उम्मीदवार के चुनावी समर के उतरने की पूरी संभावना है.

इसे भी पढ़ें – #Sahebgunj: नेपाल से पानी छोड़ने के कारण गंगा के दियारा इलाकों में हजारों लोग फंसे, रेस्क्यू ऑपरेशन जारी

शिवसेना-बीजेपी का गठबंधन

महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में भीजेपी और शिवसेना मिल कर चुनाव लड़ रही हैं. इसके लिए सीटों के बंटवारे का फॉर्मूला लगभग तय हो गया है.

सूत्रों के मुताबिक शिवसेना 124 सीट और बीजेपी 146 सीटों पर चुनाव लड़ेगी. 18 सीटें अन्य सहयोगी पार्टियों को दी गयी हैं.

महाराष्ट्र विधानसभा चुनावों के लिए कांग्रेस ने अपनी पहली लिस्ट भी जारी कर दी है. कांग्रेस महासचिव मुकुल वासनिक ने 51 उम्मीदवारों की लिस्ट जारी की.

कांग्रेस और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) 288 सदस्यीय विधानसभा में 125-125 सीटों पर चुनाव लड़ने को सहमत हुई हैं. बाकी 38 सीटें अन्य गठबंधन सहयोगियों की दी जायेंगी.

इसे भी पढ़ें – एनोस के बाहर आने से खूंटी और लोहरदगा में हो सकती है कांग्रेस को परेशानी!

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: