ChaibasaJharkhandMain Slider

MNREGA: पश्चिमी सिंहभूम में लैंगिक भेदभाव का शिकार हो रहीं महिलाएं, योजना में बिचौलिये हावी

Chaibasa: राज्य में वापस आये प्रवासी मजदूरों से लेकर ग्रामीणों तक को रोजगार उपलब्ध कराने के दावे मनरेगा में किये जा रहे हैं. लेकिन सुदूरवर्ती इलाकों में मनरेगा योजनाओं में बिचौलियों का दबदबा खत्म नहीं हुआ है. महिला मनरेगा मजदूरों के नाम से योजना निकाली जाती है और जब काम करने का समय आता है तो पुरुषों से कराया जा रहा है.

इसका प्रमाण पश्चिमी सिंहभूम जिले के गोलमुंडा पंचायत में मिला है. सोनुआ प्रखंड के गोलमुंडा पंचायत में एक किमी कच्ची नाली की योजना चलायी जा रही है. कच्ची नाली निर्माण जिसका योजना (योजना कोड- 3408014/2020-2021 ⁄ 129479 /AS)  महिलाओं के नाम से निकाली गयी पर उन्हें ही काम करने से रोक दिया गया.

इसे भी पढ़ें – Palamu: डाकघर एजेंट ने एमआइएस और आरडी के बहाने खाताधारकों को लगाया 50 लाख रुपये का चूना, प्राथमिकी दर्ज

जिन मजदूरों के नाम निकली एमआर शीट, उन्हें ही काम करने से रोका


मनरेगा में महिलाओं के साथ लैंगिक भेदभाव पर गोलमुंडा पंचायत की सुशीला महली कहती हैं- गणेश बेसरा नाम के व्यक्ति ने पहले कच्ची नाली में काम करने की बात कह कर एमआर शीट निकाली, उसके बाद उसने यह कहते हुए काम देने से मना कर दिया कि यह काम पुरुषों को ही करना है.

इसे भी पढ़ें –कोरोना वेक्सिन को लेकर जारी घिनौनी राजनीति को इस तरह समझिये

योजना स्थल पर नहीं हुआ काम, कर ली गयी निकासी

कॉन्करेंट ऑडिट में भी रोजगार सेवक ऑडिट करने वाले को गुमराह कर चुके हैं. सोनुआ प्रखंड की पोड़ाहाट पंचायत अंतर्गत उदनिया गांव में कच्ची नाली की योजना स्वीकृत की गयी जहां कोई काम किये बिना योजना राशि से 10474 रुपये की निकासी कर ली गयी.

प्राप्त सूचना के अनुसार 23-24 जून को मनरेगा योजना के कॉन्करेंट ऑडिट के दौरान जब इसके बारे में रोजगार सेवक से पूछा गया था तो उनका कहना था कि काम हुआ है और यह योजना गांव सरन्दियपोस में चल रही है. लेकिन जब ऑडिट टीम के लोग दर्शाये गये योजना स्थल पर गये तब यह मामला सामने आया कि ऑडिट के समय पंचायत के रोजगार सेवक के द्वारा गलत जानकारी दी गयी.

इसे भी पढ़ें – PIB ने  विज्ञान मंत्रालय के उस बयान को ही हटाया, जिसमें बताया था COVAXIN लॉन्चिंग का टाइम 2021

4 Comments

  1. 178157 10939Sounds like some thing a lot of baby boomers should study. The feelings of neglect are there in numerous levels when a single is more than the hill. 341967

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button