JharkhandLead NewsRanchiTOP SLIDER

मनरेगा: 100 दिन रोजगार देने में फेल, सिर्फ 2.4 फीसदी मजदूरों को मिला सौ दिन काम

  • गिरिडीह, धनबाद, पलामू, देवघर, कोडरमा सहित अधिकांश जिले काम देने में फिसड्डी
  • तीन माह में कम से कम तीन लाख मजदूरों को 100 दिन का काम देने का अब लक्ष्य किया तय

Nikhil Kumar

Ranchi : झारखंड में मनरेगा का बुरा हाल है. 100 दिन के काम की गारंटी देनेवाली इस स्कीम से झारखंड के सिर्फ 2.4 फीसदी मजदूरों को ही 100 दिन का काम उपलब्ध कराया जा सका है. राज्य में 35 लाख से अधिक एक्टिव मजदूर मनरेगा से निबंधित हैं, लेकिन सिर्फ 54000 को ही 100 दिन का काम मिल पाया है. वित्तीय वर्ष 2021-22 के समाप्त होने में तीन माह से कम ही समय बचे हैं ऐसे में लक्ष्य के अनुरूप 100 दिन का रोजगार उपलब्ध कराना नामुमकिन लग रहा है.

advt

मनरेगा योजना में निचले स्तर से लेकर राज्य सचिवालय तक में मॉनिटरिंग की कमी का नतीजा यह है कि कई जिलों में तो दो फीसदी से भी कम मजदूरों को 100 दिन का काम मिला है.

सबसे खराब स्थिति गिरिडीह, धनबाद, पलामू, देवघर, कोडरमा, लातेहार, गढ़वा जिला की है जहां 2000 से कम मजदूरों को ही सौ दिन का काम मिला है.

इसे भी पढ़ें:NEWS WING IMPACT : खबर छपने के 2 घंटे के भीतर सुजीत के अकाउंट में ट्रांसफर हुए 50 हजार

5.19 लाख मजदूरों को 1 से 14 दिनों तक काम उपलब्ध कराया गया

राज्य में सबसे दिलचस्प बात यह भी है 519708 मजदूरों को एक से 14 दिनों तक ही काम उपलब्ध हो पाया है. वहीं, 15-30 दिनों तक 554537 मजदूरों को, 31-40 दिनों तक 211403 मजदूरों, 41-50 दिन तक 243503, 51-60 तक 196078, 61-70 दिन तक 1022331, 71-80 दिन तक 262501, 81-89 दिन तक 262501, 100 दिन तक 54041 मजदूरों को काम मिला.

इसे भी पढ़ें:साउथ अफ्रीका में टेस्ट सीरीज जीतने का सपना चकनाचूर, 7 विकेट से मिली भारत को हार

अब 81-90 दिनों तक काम करनेवालों को 100 दिन तक काम देने की कोशिश

वित्तीय वर्ष 2021-22 के समाप्त होने में बहुत ही कम समय बचे हुए हैं. ऐेस में अब ग्रामीण विकास विभाग सभी जिलों को 81-99 दिनों का कार्य कर चुके परिवारों पर विशेष फोकस करते हुए इन्हें रोजगार उपलब्ध कराने पर जोर दे रहा है, ताकि 100 दिनों का रोजगार देने में राज्य की उपलब्धि बेहतर हो सके.

यह प्रयास हो रहा है कि अगर 81-99 दिनों का कार्य कर चुके परिवारों को रोजगार उपलब्ध कराया गया तो अगले 15 से 20 दिनों में ही 100 दिनों का रोजगार प्राप्त करनेवाले परिवारों की संख्या 54 हजार से बढ़ कर 3 लाख से अधिक हो सकती है. इसी प्रकार 71-80 पर फोकस करते हुए इन परिवारों को भी 100 दिनों का रोजगार उपलब्ध कराया जा सकता है.

इसे भी पढ़ें:गरीब परिवारों को पेट्रोल में प्रति लीटर 25 रुपये छूट देने की कवायद तेज, मुख्यमंत्री ने की कार्य प्रगति की समीक्षा

जिला81-99100 दिन का कामप्रतिशत
रामगढ़573229747.1
खूंटी537419555.1
लोहरदगा281515284.5
प.सिंहभूम1016342594.5
गुमला1032832464.4
सिमडेगा854929024.3
दुमका1176438053.3
रांची885827852.9
गोड्डा1069324412.7
पाकुड़763615852.5
पूर्वी सिंहभूम793420442.5
जामताड़ा1239223302.4
बोकारो856621372.3
सरायकेला-खरसावां848518432.3
चतरा1059222462.3
हजारीबाग1158124082.1
साहेबगंज864717031.9
गढ़वा3069329831.6
लातेहार1339115161.5
कोडरमा49487491.5
देवघर1975018081.4
पलामू1258821561.3
धनबाद55157001.0
गिरिडीह2548719360.9

इसे भी पढ़ें:कई जगहों पर होगी बारिश, 3-4 डिग्री गिरेगा पारा

advt

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: