JharkhandRanchi

MNREGA : 105 दिनों में 3.74 लाख योजनाएं पूरी कराने का दावा

  • विभागीय सचिव ने राज्य के सभी डीडीसी के साथ की बैठक

Ranchi : राज्य में मनरेगा योजनाओं में मानव दिवस सृजित किये जाने का नया टारगेट तय किया गया है. ग्रामीण विकास विभाग अगले 105 दिनों में 3.5 करोड़ मानव दिवस सृजित करेगा. इस दौरान 3.74 लाख योजनाओं को पूरा किये जाने की भी योजना है.
विभागीय सचिव आराधना पटनायक ने बुधवार को राज्य के सभी डीडीसी के साथ ऑनलाइन बैठक की. इसमें उन्हें नया टारगेट दिया गया. 18 सितंबर से राज्य में मनरेगा से श्रमिकों को जोड़े जाने के लिए विशेष अभियान चलाया जा रहा था. 22 अक्टूबर तक चलाये जानेवाले ‘काम मांगो अभियान’ के दौरान 1.38 करोड़ से अधिक मानव दिवस सृजित हुआ. यह पहले की तुलना में तकरीबन तीन गुना अधिक है. बैठक में मनरेगा कमिश्नर सिद्धार्थ त्रिपाठी भी मौजूद थे.

इसे भी पढ़ेः PUCL के वेबिनार में ज्यां द्रेज बोले- फादर स्टेन स्वामी को जेल में डालना उनके लिए मृत्युदंड के समान

गिरिडीह, गढ़वा ने सुधारी स्थिति

काम मांगो अभियान के दौरान गिरिडीह, गढ़वा, दुमका, पूर्वी सिंहभूम, पश्चिमी सिंहभूम जैसे जिलों ने इस बार बढ़िया काम किया है. अभियान से पहले उनकी रिपोर्ट कमजोर रही थी. सिमडेगा, लातेहार, सरायकेला, जामताड़ा आदि जिलों में जारी वित्तीय वर्ष में बेहतर प्रदर्शन किया जा रहा है. इस अभियान के तहत 33 दिनों में अब तक कुल 82,072 गुणवत्तापूर्ण परिसंपत्तियों का निर्माण किया गया.
अभियान से पहले छह महीने में लगभग 1.42 लाख योजनाओं को पूरा किया गया था. जारी वित्तीय वर्ष में अब तक (अक्तूबर) कुल 564 लाख मानव दिवस का सृजन किया गया है. इससे पिछले वित्तीय वर्षों में इसी महीने तक औसतन 400 लाख मानव दिवस का सृजन किया जाता था.

इसे भी पढ़ेः एयरपोर्ट पर यात्री के बैग में मिली एसएलआर राइफल की गोली, यात्री गिरफ्तार

कोरोना संकट में रोजगार बढ़ाने पर जोर

मनरेगा में ग्रामीणों के रूझान को देखते हुए विभाग नये सिरे से जुटेगा. योजना में अधिक से अधिक श्रमिकों की भागीदारी बढ़ाने को अभियान को 105 दिनों के लिए बढ़ा दिया है. इस दौरान सभी जिलों में विशेष प्रयास किये जायेंगे. पंचायतवार नियमित तौर पर अनुश्रवण का निर्देश भी इसके लिए विभागीय सचिव के स्तर से दिया गया है.

इसे भी पढ़ेः तीन महीने में पहली बार मीटिंग में साथ-साथ बैठे मेयर और नगर आयुक्त

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: