ChaibasaJamshedpurJharkhand

CHAKRADHARPUR : चेक डैम टेंडर रद्द करने के लिए विधायक सुखराम ने लिखा सीएम को पत्र, चार ठेकेदारों पर कार्रवाई की मांग

CHAKRADHARPUR : चक्रधरपुर में बामनगुटु नाला में सीरीज चेक डैम का टेंडर को लेकर विधायक सुखराम उरांव ने मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को पत्र लिखा है. साथ ही उन्होंने इस पूरे मामले में चार ठेकेदारों पर कार्रवाई करने की भी मांग की है. बता दें कि चेक डैम का टेंडर चाईबासा लघु सिंचाई प्रमंडल की ओर से निकाला गया था.

यह लिखा है पत्र में

विधायक ने मुख्यमंत्री को लिखे पत्र में कहा है कि चक्रधरपुर प्रखंड में लघु सिंचाई प्रमंडल चाईबासा की ओर से बामनगुटु नाला में सीरीज चेक डैम का टेंडर निकाला गया था. उसकी हार्ड कॉपी जमा बीते 10 जून तक ही चाईबासा के लघु सिंचाई प्रमंडल कार्यालय में जमा करनी थी. इस बीच बीते 11 अगस्त को उस टेंडर प्रक्रिया में भाग ले रहे आस्था कंस्ट्रक्शन के कृष्णा कुमार सिंह ने उन्हें (विधायक सुखराम उरांव) को एक लिखित आवेदन दिया. उसमें लघु सिंचाई प्रमंडल, चाईबासा कार्यालय में हार्ड कॉपी निविदा पेपर जमा करने के दिन हुई घटित घटना का जिक्र करते हुए आवश्य संज्ञान लेकर कार्रवाई करने की बात कही गई. बताया गया कि आवेदन में अस्था कंस्ट्रक्शन के ठेकेदार द्वारा निविदा की हार्ड कॉपी जमा करने जाते समय चाईबासा ऑफिस के गेट के बाहर अज्ञात चार-पांच लोगों ने टेंडर पेपर छीनकर फाड़ दी थी. उस मामले में चाईबासा के मुफ्फसिल थाना में सनहा दर्ज कराया गया है.

Sanjeevani

2018 में भी रद्द हुआ था टेंडर 

बताया गया है वर्ष 2018 में भी लघु सिंचाई प्रमंडल चाईबासा की ओर से टेंडर निकाली गई थी, लेकिन उस समय भी टेंडर में भाग लेनेवाले ठेकेदारों के आपसी मतभेद और निजी हठ के कारण टेंडर को रद्द कर दिया गया था. विधायक सुखराम उरांव ने इस पूरे मामले में मुख्यमंत्री से टेंडर प्रक्रिया में भाग लेनेवाले चक्रधरपुर के ठेकेदार बिरेंद्र सिंहदेव, चाईबासा के श्रीशा सेल्स एंड कंस्ट्रक्शन, रांची की कंपनी मां मेरी मां इन्टरप्राइजेज और भागवती डेवलर्स एंड कंस्ट्रक्शन के आचरण को आपराधिक बताते हुए विकास के लिए बाधक बताया है. इस मामले में इन चारों ठेकेदारों की रजिस्ट्रेशन को काली सूची में डालने की मांग की है. साथ ही उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने की भी मांग की है.

इसे भी पढ़ें-चक्रधरपुर में जलजमाव के कारण लोगों को हो रही है मुश्किलें, जल्द से जल्द समस्या का व‍िभाग करे समाधान : पवन शंकर पांडेय

Related Articles

Back to top button