JharkhandLead NewsRanchi

MLA फंड : 50 लाख की राशि पेयजल योजनाओं में खर्च करने की बाध्यता खत्म, ऐच्छिक रूप से कर सकेंगे खर्च

Ranchi : विधायक फंड से 50 लाख रुपए तक की राशि निश्चित रूप से पेयजल योजनाओं में खर्च करने की बाध्यता को समाप्त कर दिया गया है. अब राशि विधायक की इच्छा पर विधानसभा क्षेत्र में पेयजल योजनाओं पर खर्च किया जा सकेगा. इस संबंध में ग्रामीण विकास विभाग जल्द संकल्प जारी करेगा. झारखंड में विधानसभा वार प्रत्येक विधायक को 4 करोड़ रुपए की राशि एमएलए फंड के तहत दी जाती है.

इसे भी पढ़ें:क्या योगी सरकार से नाराज हैं लोग और बदलना चाहते हैं?  जानें सर्वे में क्या हुआ खुलासा

राज्य सरकार ने 3 साल पहले यह प्रावधान किया था कि एमएलए फंड से 50 लाख की राशि निश्चित रूप से पेयजल योजना पर खर्च की जायेगी.

Chanakya IAS
SIP abacus
Catalyst IAS

ग्रामीण एरिया में जलापूर्ति को सुनिश्चित करने के लिए इस प्रावधान को लागू किया गया है. यह बात सामने आ रही है कि अधिकांश क्षेत्रों में जलापूर्ति के लिए कार्य किया गया है. वहीं अन्य योजनाओं से भी काम हो रहा है.

The Royal’s
Sanjeevani
MDLM

इसे भी पढ़ें:निगम ने पुलिया नहीं बनायी, पार्षद के सहयोग से अब लोग खुद से करायेंगे निर्माण

ऐसे में राज्य के विधायकों ने सरकार से अनुरोध किया था कि विधायक फंड इस्तेमाल की ऐच्छिक अनुमति दी जाये. मंत्रिपरिषद में इस पर विचार हुआ और एमएलए फंड की 50 लाख की राशि निश्चित रूप से पेयजल योजनाओं में खर्च करने की बाध्यता को समाप्त किया गया. ऐसे में अब विधायक विकास की योजनाओं का चयन कर सकेंगे.

पूरे चार करोड़ की राशि खर्च करने की अनुशंसा सड़क, पुल, नाली ,पेयजल सहित अन्य विकास योजना में ऐच्छिक रूप खर्च कर सकेंगे.

इसे भी पढ़ें:CAA के खिलाफ भड़काऊ भाषण मामले में शरजील इमाम पर देशद्रोह का आरोप तय

Related Articles

Back to top button