JharkhandRanchi

Mission Olympic : सरकार का एक और कदम, खेल एकेडमी के प्लेयर्स के लिए बनेगा 450 बेड का हॉस्टल

Amit Jha

Ranchi:   मिशन ओलंपिक के लिए राज्य और केंद्र सरकार के साथ JSSPS (CCL) ने एक और पहल की है. होटवार में स्पोर्टस एकेडमी में पढ़ने वाले तकरीबन 450 प्लेयर्स के लिए हॉस्टल की कमी अब दूर होगी. 450 बेड के लिए ट्राइबल वेलफेयर मिनिस्ट्री, भारत सरकार ने 60 करोड़ रुपये की मंजूरी दी है. इसके अलावा पांचवीं और छठी क्लास में पढ़ने वाले तकरीबन 150 बच्चों को NIOS से जोड़े जाने की प्रक्रिया शुरू की गयी है. इससे उन्हें स्कूल जाने आने की थकान से राहत मिल सकेगी. खेल प्रैक्टिस के लिए अधिक समय भी मिल सकेगा.

advt

इसे भी पढ़ेंः तकनीकी शिक्षा का हाल: 17 सरकारी पॉलिटेक्निक कॉलेजों के 4642 छात्रों को जेई बनाते हैं केवल 77 शिक्षक

10 एकड़ में बनेगा हॉस्टल

फाइल फोटो.

जेएसएसपीएस (झारखंड स्पोर्टस खेल प्रमोशन सोसाइटी) के अनुसार आदिवासी कल्याण मंत्रालय़, केंद्र सरकार ने इस साल जनवरी-फरवरी में 60 करोड़ रुपये की मंजूरी दी है. इससे 450 बेड का हॉस्टल बनाये जाने हैं. इसके लिए होटवार में ही गर्ल्स हॉस्टल के पीछे 10 एकड़ जमीन को तय किया गया है. फिलहाल मंत्रालय से 10 करोड़ रुपये का आवंटन हो चुका है. कोरोना आपदा के कारण योजना फंसी पड़ी थी. अब इस दिशा में काम आगे बढ़ेगा.

एथलेटिक्स स्टेडियम के डॉरमेट्री में रहते हैं 231 लड़के

जेएसएसपीएस की तरफ से खेल एकेडमी का संचालन किया जाता है. 8 से 12 साल के लगभग 450 बच्चों को होटवार में रखकर फ्री एजुकेशन दिया जाता है. साथ ही अलग अलग खेलों में ट्रेनिंग भी दी जाती है. फिलहाल इनमें 231 लड़के और 206 लड़कियों को इसका लाभ मिल रहा है. होटवार के एकलव्य हॉस्टल में 206 गर्ल्स प्लेयर्स रहती हैं.

इसके अलावा 231 लड़कों को अभी बिरसा मुंडा एथलेटिक्स स्टेडियम के डॉरमेट्री में रखा जा रहा है. गर्ल्स हॉस्टल में लड़कियों को सहुलियत है पर डॉरमेट्री में रहने वाले लड़कों को लगातार परेशानी उठानी पड़ रही है. ऐसे में हॉस्टल बनाये जाने की योजना से उन्हें बड़ी राहत मिलेगी.

इसे भी पढ़ेंः यूपी बोर्ड ने जारी किये 10वीं और 12वीं कक्षा के रिजल्ट, यहां देखें अपने मार्क्स

NIOS से पढ़ने का मौका

खेल एकेडमी के प्लेयर्स डीएवी नंदराज, बरियातू (रांची) के स्कूल में फ्री में पढ़ाई करते हैं. पांचवीं क्लास से आठवीं तक पढ़ रहे प्लेयर्स होटवार से रोज स्कूल तक जाना आना करते हैं. इसके बाद उनके लिए खेल प्रैक्टिस करना थकान भरा प्रोग्राम हो जाता है. जेएसएसपीएस के सीइओ बासब चौधरी के अनुसार एकेडमी के प्लेयर्स के लिए होटवार स्पोर्टस कॉम्पलेक्स में ही NIOS (ओपेन स्कूल) से पढ़ाई कराये जाने की योजना बनायी जा रही है.

इससे उन्हें कई तरह से राहत मिलेगी. एक तो पढ़ाई का कॉस्ट घटेगा. आने जाने की समस्या बंद होने से थकान भी कम होगी. खेल में अधिक प्रैक्टिस कर सकेंगे. दुर्घटना के खतरे भी कम होंगे. अभी क्लास 5-6 के 147 बच्चों का ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कराये जाने की प्रक्रिया जारी है. अगले साल सातवीं-आठवीं के लगभग 300 बच्चों को NIOS से जोड़े जाने की भी योजना है.

इन प्रयासों से प्लेयर्स के लिए पढ़ाई और प्रैक्टिस के खूब मौके बन सकेंगे. इससे मिशन ओलंपिक के सफर पर तेजी से बढ़ने में मदद मिलेगी.

इसे भी पढ़ेंः ठाणे में अब तक 417 पुलिसकर्मी Corona से संक्रमित, तीन की मौत

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: