न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें
bharat_electronics

लापता अधिवक्ता विस्फोटकों और हार्डकोर नक्सली के साथ गिरफ्तार,  गुप्त सूचना पर हुई कार्रवाई

1,407

Ramgarh: 4 जून को कार समेत लापता हुए रामगढ़ के अधिवक्ता रोबा कॉलोनी रांची रोड निवासी मिथिलेश कुमार सिंह को गया पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. अधिवक्ता के साथ रामगढ़ के बिंझार का रहने वाला हार्डकोर नक्सली रुपेश कुमार सिंह को भी गया के डोभी के पास से गिरफ्तार किया है.

mi banner add

इसके अलावा अधिवक्ता का साथी नईसराय निवासी और कार चालक मो. कलाम भी पुलिस के हत्थे चढ़ गया है. मौके से कार में रखा भारी मात्रा में जिलेटिन व नक्सली साहित्य भी बरामद हुआ है. गौरतलब है कि अधिवक्ता सहित तीन लोगों के लापता होने के मामले में कार चालक मोहम्मद कलाम के भाई ने रामगढ़ थाना में प्राथमिकी दर्ज करवाई थी.

इसे भी पढ़ें – सीएनटी ही नहीं आर्मी की जमीन पर भी माफिया ने कर लिया कब्जा और देखता रहा प्रशासन-1

स्पेशल एरिया कमेटी का सदस्य हैं नक्सली रूपेश  

गिरफ्तार किया गया हार्डकोर नक्सली मूल रूप से भागलपुर जिले के शाहकुंड प्रखंड का रहने वाला है. नक्सली रुपेश भाकपा माओवादी के क्राइम ब्यूरो टेक्निकल की स्पेशल एरिया कमेटी का सदस्य है. जानकारी के अनुसार, वह डुमरिया थाना क्षेत्र के छकरबंधा में नक्सलियों को विस्फोटक की सप्लाई करने जा रहा था.

छकरबंधा क्षेत्र में हाल ही में नक्सलियों ने पूर्व विधान पार्षद अनुज कुमार सिंह का मकान भी उड़ा दिया था. यह नक्सल प्रभावित क्षेत्र है. पुलिस सभी महत्वपूर्ण बिंदुओं को ध्यान में रखकर जांच कर रही है.

इसे भी पढ़ें – जमीन दलाल की फॉर्चूनर, पूर्व ट्रैफिक SP संजय रंजन, सिमडेगा SP और पूर्व DGP डीके पांडेय का क्या है कनेक्शन !

 नक्सलियों को विस्फोटक सप्लाई की मिली थी सूचना

Related Posts

BOI में घुसे चोर, कैश वोल्ट तोड़ने की कोशिश नाकाम, कुछ सिक्के ले भागे

बैंक के आमाघाटा ब्रांच की घटना, मुख्य दरवाजा तोड़कर अंदर घुसे चोर, ग्रिल भी तोड़ा

गया पुलिस को गुप्त सूचना मिली थी कि, हजारीबाग की ओर से नक्सली विस्फोटक लेकर छकरबंधा जा रहे हैं. गया पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर तत्काल एसटीएफ की टीम गठित कर डोभी मोड़ पर वाहन चेकिंग शुरू कर दी गई. इसी दौरान झारखंड की नंबर वाली एक सिल्वर कलर की स्विफ्ट डिजायर कार को पुलिस ने जब चेक किया, तो कार में विस्फोटक पाया गया.

उस कार में अधिवक्ता मिथिलेश कुमार सिंह, नक्सली रूपेश कुमार सिंह और कार चालक मोहम्मद कलाम मौजूद थे, सभी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया.

कई राज्यों में नक्सली को सप्लाई कर चुका है विस्फोटक

नक्सली रुपेश ने पूछताछ में स्वीकार किया कि, वह आसपास के कई राज्यों में नक्सलियों को विस्फोटक की सप्लाई करता था. इससे पहले भी तीन बार सप्लाई कर चुका है. वह जिस टीम का सदस्य है, उसका काम विस्फोटकों की आपूर्ति करना है.

पुलिस ने कार से 15 बंडल डेटोनेटर बरामद किए गए हैं. प्रत्येक बंडल में 25 इलेक्ट्रिक डेटोनेटर है. इसके अलावा 32 पीस जिलेटिन छड़, नक्सली साहित्य, तीन मोबाइल और एक चिप बरामद किया गया है.

इसे भी पढ़ें – दर्द-ए-पारा शिक्षक: शिक्षा की लौ जलाने वाले प्रेम, अपने परिवार का पेट पालने के लिए कमीशन पर निर्भर

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

dav_add
You might also like
addionm
%d bloggers like this: