NationalUttar-Pradesh

गेस्ट हाउस कांड पीछे छूटा, माया-मुलायम एक मंच पर आये, मायावती बोलीं, मुलायम सिंह को भारी बहुमत से जितायें

NewDelhi : एक जून, 1995 को हुए गेस्ट हाउस कांड को सपा और बसपा  भूल चुके हैं. राजनीति की नयी इबारत लिखते हुए लोकसभा चुनाव 2019 के मद्देनजर लगभग 24 साल बाद सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव और बसपा सुप्रीमो मायावती एक मंच पर आये.  इस अवसर मुलायम सिंह यादव ने कहा कि यह हमारा आखिरी चुनाव है, कृपया हमको भारी बहुमत से जितायें.  इस क्रम में मुलायम ने  मायावती का स्वागत करते हुए कहा कि हमारा भाषण आप पहले भी सुन चुके हैं.

आज दूसरों को सुनिए. मुलायम ने जोर देकर कहा कि लंबा भाषण नहीं दूंगा, भारी बहुमत से जितायें. मुलायम ने कहा, आप लोग हमेशा मायावती जी का सम्मान करना. इससे पहले जब मंच पर मुलायम सिंह यादव को जब पानी दिया गया तो उन्होंने लोगों से भी यह पूछा कि क्या मायावती को पानी दिया गया है नहीं. इसके बाद जब मुलायम सिंह यादव भाषण देने के लिए खड़े हुए तो बसपा सुप्रीमो उनके सम्मान खड़ी हो गयीं.

मुलायम ने कहा, मैनुपरी हमारा जिला है, सब हमारे साथ हैं.  मंच पर से मायावती ने कहा कि मुलायम सिंह को भारी बहुमत से जितायें. पहले से भी  अधिक वोट से जितायें. मायावती  ने कहा कि गेस्ट हाउस कांड के बावजूद समझौता किया है. सपा के साथ गठबंधन पर अब और सफाई नहीं दूंगी.

इसे भी पढ़ेंःसाध्वी प्रज्ञा के चुनाव लड़ने पर रोक की मांग, कोर्ट पहुंचे मालेगांव धमाके के पीड़ित के पिता

मुलायम सिंह पीएम की तरह फर्जी पिछड़े वर्ग के नहीं

बसपा सुप्रीमो ने पीएम मोदी की जाति पर निशाना साधते हुए कहा कि मुलायम सिंह पीएम की तरह फर्जी पिछड़े वर्ग के नहीं हैं. मुलायम सिंह यादव जन्मजात पिछड़े वर्ग से ताल्लुकरखते हैं. वे  पिछड़े समाज के असली नेता हैं.  कहा कि मुलायम सिंह की विरासत को उनके एकमात्र उत्‍तराधिकारी अखिलेश यादव ने संभाला है. पीएम मोदी ने झूठे वादे किये. भाजपा की जुमलेबाजी चुनावों में काम नहीं आनेवाली.

मायावती ने भाजपा पर हमलावर होते हुए कहा कि  पीएम मोदी ने तो गठबंधन को सराब बता दिया. यह जनसमूह शराब नहीं, भाजपा को हटाने के नशे में हैं.  दो चरण के चुनाव हो चुके हैं.

भाजपा की हवा खराब हो चुकी है. रैली में अखिलेश यादव ने कहा कि देश नाजुक दौर से गुजर रहा है. किसान देश की  आत्‍़मा हैं. नौजवानों का भविष्य अंधकारमय है. ये चुनाव देश का भविष्य  तय करेगा. जनता पीएम मोदी से देश की चौकी छीनेगी. नया पीएम बनेगा तभी नया भारत बनेगा.

रैली शुरू होने से पूर्व मायावती के साथ मंच साझा करने के संबंध में मुलायम सिंह यादव ने कहा, हमें तो भाषण देना है. सभी नेता आ रहे हैं. हर दल के नेता हैं, कार्यक्रम है, दूसरी पार्टी के नेता हैं.  मैनपुरी में रैलियां करने के सवाल पर मुलायम सिंह ने कहा, क्षेत्र है इससे पहले भी रैली कर चुके हैं, जनता और कार्यकर्ता ने स्वीकार कर रखा है, हमें तो जाना होगा, हमारा क्षेत्र है, बुलाया भी है.

इसे भी पढ़ें – शहीद हेमंत करकरे को लेकर साध्वी का विवादित बयान, कहा- उन्हें कर्मों की मिली सजा

Advertisement

Related Articles

Back to top button
Close