न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

मिस इंडिया बनेगी बीरेंद्र यादव की बेटी!

1,285

Jharia(Dhanbad): धनबाद के डुमरी निवासी बीरेंद्र यादव की बेटी मिस इंडिया बनेगी. बीरेंदर यादव की 22 साल की बेटी प्रीति कुमारी को मिस इंडिया कांटेस्‍ट के लिए चुना गया है. इसे पहले प्रीति मिस झारखंड की विनर रह चुकीं हैं.

ओडिशा से हुआ सेलेक्‍शन

मिस इंडिया बनने के लिए प्रीति‍ 19 नवम्बर को दिल्ली में होने वाली मिस इंडिया ग्रेंड फिनाले में हिस्‍सा लेंगी. प्र‍ीति ने बताया कि रांची में मिस इंडिया के ऑडिशन के लिए करीब 200 लड़कियों ने हिस्सा लिया था. लेकिन, मेरा चयन ओडिशा से मिस इण्डिया कंटेस्‍टेंट के लिए किया गया. उसने बताया कि वह धनबाद की पहली लड़की थी जो फैशन शो में भाग लिया करती थी. प्रीति ने कठिन परिश्रम से मिस झारखंड का ख़िताब अपने नाम किया. कहा कि मेरी मेहनत का नतीजा है कि मैं मिस इंडिया प्रतियोगिता में चुनी गई.

इसे भी पढ़ें: बीजेपी कार्यसमिति की बैठक में प्रोटोकॉल की धज्जी उड़ने के बाद, सरयू ने ट्विट कर सबको लपेटा

मॉडलिंग को कैरियर चुनने पर पहली चुनौती परिवार से मिली

silk_park

एक साधारण परिवार से ताल्लुक रखने वाली प्रीति का यह सफर बहुत ही चुनौती भरा रहा. शुरूआत में परिवार के लोग इससे नाखुश थे और उनसे सहयोग भी नहीं मिला. बाद में धीरे-धीरे घर वालों का साथ मिलने लगा और आज उसी की वजह से इस मुकाम पर पहुंची हैं. आज उसे धनबाद ही नहीं बल्कि, पूरे देश के लोग पहचान रहे हैं. प्रीति ने बताया कि सरकार की तरफ से कुछ भी सुविधा नहीं मिल पा रही है, वहीं प्रीति ने ये भी बताया कि‍ किसी सांसद, विधायक ने भी हमारी मदद नहीं की. यहां तक कि किसी को पता भी नहीं है कि हमारे धनबाद जिला में कोई मिस झारखंड भी रहती है.

पैरेंट्स बोले, धनबाद और झारखंड का नाम रौशन हुआ, पर सरकार उदासीन

प्रीति के पिता बीरेन्द्र यादव ने कहा कि बहुत अफसोस है कि मिस झारखंड बनी प्रीति को झारखंड सरकार द्वारा कोई मदद नहीं मिली. प्रीति की माता मंजू देवी बताती हैं कि बहुत ही कठिनाई से प्रीति से इस मुकाम तक पहुंचने के लायक बनाया और आज उसे मिस इंडिया के लिए आगे भेज रही हूं. मां ने कहा कि कहने वालों का मुंह तो नहीं बंद कर सकती. लेकिन, मुझे अपनी बेटी पर पूरा विश्वास और गर्व है कि मिस इण्डिया का ख़िताब जरूर जीतेगी और एक बार फिर से अपने धनबाद जिला का नाम रौशन करेगी.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: