Crime NewsGarhwaJharkhand

नाबालिग छात्रा से सामूहिक दुष्कर्म, पहाड़ी से नीचे लाकर फेंका, दो गिरफ्तार

  • पीड़िता ने तीन शादीशुदा और बाल-बच्चेदार युवकों पर लगाया आरोप
  • पिता के आवेदन पर नामजद प्राथमिकी दर्ज
  • पुलिस ने दो को किया गिरफ्तार, तीसरे आरोपी की है तलाश

Garhwa : जिले के खरौंधी थाना क्षेत्र में सातवीं कक्षा की छात्रा से सामूहिक दुष्कर्म के बाद उसे पहाड़ी से नीचे फेंक दिया गया. हालांकि, पीड़िता की जान बच गयी. आरोप है कि सामूहिक दुष्कर्म की इस घटना को तीन शादीशुदा युवकों ने अंजाम दिया है. पीड़िता की मेडिकल जांच के बाद उसका इलाज किया जा रहा है.

इसे भी पढ़ें –गरीब कैदियों के परिजनों को मिल रही मदद, सरकारी योजनाओं से जोड़ा जा रहा

पीड़िता बोली- खेत में धान का बोझा बांध रही थी, तीन लोग आये और जबरन पहाड़ पर ले गये

पीड़िता ने खरौंधी थाना में आवेदन देकर तीन लोगों को नामजद आरोपी बनाया है. पीड़िता ने पुलिस को बताया कि 30 अक्टूबर को वह खुरधन पहाड़ी के नीचे खेत में धान का बोझा बांध रही थी. इसी बीच तीन लोग आये और उसे जबरन पकड़ लिया. वे लोग उसके मुंह में दुपट्टा डालकर उसे खुरधन पहाड़ी पर लगभग 500 मीटर ऊपर ले गये और वहां एक पेड़ के नीचे तीनों ने उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया.

इसे भी पढ़ें –तालाब से मिलीं दुधमुंही बच्ची और उसकी मां की लाशें, ससुरालवालों पर दहेज प्रताड़ना का आरोप

शाम साढ़े पांच बजे सामूहिक दुष्कर्म किया, रात साढ़े 11 बजे पहाड़ी के नीचे लाकर फेंक दिया

पीड़िता ने बताया कि आरोपियों ने उसे खेत से शाम 4:30 बजे उठाया था, जबकि शाम 5.30 बजे ऊंची पहाड़ी पर पहुंचकर उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया. इसके बाद रात के 11:30 बजे उन लोगों ने पीड़िता को पहाड़ के नीचे लाकर फेंक दिया. पीड़िता ने कहा, “उस समय मेरी हालत इतनी नाजुक थी कि मैं मदद के लिए न किसी को पुकार पा रही थी और न ही किसी को कुछ इशारा ही कर पा रही थी.”

इसे भी पढ़ें – बाबूलाल का आरोप, उपचुनाव में झामुमो कांग्रेस के पॉलिटिकल एजेंट बन गये हैं सरकारी अफसर

गांव की एक महिला ने सुबह में गड्ढे में पड़ा देखा पीड़िता को

एक ग्रामीण महिला सुरजी कुंअर ने शनिवार की सुबह में पीड़िता को पहाड़ी के नीचे गड्ढा में पड़ा हुआ देखा. सुरजी कुंअर ने बताया कि वह 31 अक्टूबर की सुबह करीब चार बजे वह गाय-बैल को खोलने के लिए आयी थी. इसी दौरान देखा कि जहां गाय-बैल बंधे हुए थे, वहीं बगल में गड्ढे में एक लड़की पड़ी हुई दिखी. इसकी सूचना लड़की के घरवालों को दी गयी.

इसे भी पढ़ें – रिम्स में ट्यूटर पद पर नियुक्ति के लिए बनी नियमावली पर हाइकोर्ट में सुनवाई, सभी पक्षों को दस्तावेज पेश करने का निर्देश

पिता ने दर्ज करायी नामजद प्राथमिकी

पीड़िता के पिता ने बताया कि रविवार को खरौंधी थाना में तीनों आरोपी के खिलाफ नामजद एफआईआर करायी. आवेदन में उन्होंने परसवान गांव के संजय उरांव, रंजन उरांव और मानिक उरांव पर आरोप लगाते हुए बताया है कि उनके द्वारा उनकी बच्ची के साथ सामूहिक दुष्कर्म किया गया है. तीनों आरोपी शादीशुदा और बाल-बच्चेदार हैं.

इसे भी पढ़ें – अब भाजपा ने दुमका में दर्ज करायी FIR, फुरकान, सुप्रियो, विनोद, श्यामल सिंह के खिलाफ की कार्रवाई की मांग

एसपी ने पीड़िता से ली घटना की जानकारी

इधर, सूचना मिलने पर जिले के पुलिस कप्तान श्रीकांत सुरेश राव खोत्रे ने मामले को गंभीरता से लिया. उन्होंने सोमवार को घटनास्थल पहुंचकर घटना की पूरी जानकारी ली और पीड़िता और पुलिस पदाधिकारियों से भी पूछताछ की. इस दौरान उन्होंने पुलिस इंस्पेक्टर रामजी महतो और थाना प्रभारी कमलेश कुमार महतो से घटना के बारे में जानकारी ली.

इसे भी पढ़ें – एंटीबॉडी जांच कैंप में प्लाज्मा डोनेशन के लिए आगे आये कोरोना से ठीक हुए 48 लोग

दो आरोपी गिरफ्तार, तीसरे को ढूंढ रही पुलिस

एसपी ने पत्रकारों को बताया कि बजरमरवा की नाबालिग लड़की से गत 30 अक्टूबर की देर शाम तीन लड़कों द्वारा सामूहिक दुष्कर्म किया गया है. उन्होंने बताया कि पीड़िता के परिजनों ने एक नवंबर को थाना में आवेदन देकर तीनों आरोपियों के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज करायी है. पुलिस ने तीन आरोपियों में से दो को गिरफ्तार कर लिया है. तीसरे आरोपी को भी जल्द गिरफ्तार कर लिया जायेगा. उन्होंने कहा कि घटना बहुत ही मार्मिक है. इस घटना में जो लोग भी सम्मिलित होंगे, प्रशासन जांच कर सभी को कड़ी से कड़ी सजा दिलायेगा.

इसे भी पढ़ें – सामान्य और उग्रवादी हिंसा से जुड़े 12 मामलों में अनुकंपा के आधार पर नौकरी देने की रांची डीसी की अनुशंसा

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: