Corona_UpdatesGiridihJharkhand

मंत्री ने कहा- राज्य में सामुदायिक संक्रमण नहीं, लॉकडाउन को लेकर दिया बड़ा संकेत

विज्ञापन

Giridih : कोरोना का सामुदायिक संक्रमण फिलहाल झारखंड में नहीं हो रहा है. संक्रमण के बीच संक्रमितों की रिकवरी दर भी राज्य में बेहतर है. सूबे के कृषि मंत्री सह कांग्रेस कोटे से मंत्री बादल पत्रलेख ने यह बातें गुरुवार को गिरिडीह में पत्रकारों से बातचीत के दौरान कहीं.

नहीं लगेगा लॉकडाउन
लॉकडाउन लगाने के संभावनाओं से इंकार करते हुए मंत्री ने कहा कि कोरोना संक्रमण को लेकर सीएम हेमंत सोरेन की पूरी नजर है. लिहाजा, राज्य की जनता और स्वास्थ्य कर्मियों का इस गंभीर मुद्दे पर भरपूर सहयोग मिल रहा है. सहयोग इसी प्रकार मिलता रहा तो उम्मीद है कि जल्द ही राज्य के हालात बेहतर होंगे.

इसे भी पढ़ें- RBI की नीतिगत ब्याज दर में कोई बदलाव नहीं, जीडीपी वृद्धि नकारात्मक रहने का अनुमान

advt

राज्य के खाली खजाने का जवाबदेह रघुवर सरकार ठहराते हुए कृषि मंत्री पत्रलेख ने दूसरे मंत्रियों की तर्ज पर आरोप लगाते हुए कहा कि पूरे खजाने को तो रघुवर सरकार ने चपत लगा दिया. अब जो बचा हुआ है उसे राज्य की स्थिति को सुधारने का प्रयास किया जा रहा है.

केन्द्र नहीं स्वीकार पा रही हेमंत सरकार को
कृषि मंत्री ने कहा कि हेमंत सरकार के गठन के बाद से ही केन्द्र सरकार झारखंड सरकार के साथ सौतेला व्यवहार कर रही है. कोरोना काल में केन्द्र सरकार से राज्य सरकार ने विशेष पैकेज की मांग किया था. जिसे कोरोना से निपटा जा सके.

लेकिन हेमंत सरकार द्वारा मांगे गए विशेष पैकेज पर भी केन्द्र सरकार का कोई सार्थक पहल नहीं रहा. इसे साफ जाहिर है कि जनता द्वारा निर्वाचित हेमंत सरकार को केन्द्र सरकार स्वीकार नहीं कर पा रही है.

कोरोना से ऊबरना पहली प्राथमिकता
पैकेज मिलता तो प्रवासियों के बेहतरी के लिए ठोस कदम उठाएं जाते. बावजूद प्रवासी मजदूरों के लिए कुछ बेहतर करने की दिशा में कार्य किया जा रहा है. कृषि विभाग में खाली पड़े बहालियों पर कृषि मंत्री ने कहा कि कोरोना काल की परेशानियों से उबरना पहली प्राथमिकता है. इसके बाद बहाली पर ध्यान दिया जाएगा.

adv

गिरिडीह के कांग्रेस नेता नरेन्द्र सिन्हा छोटन के निधन पर दुख जताते हुए कृषि मंत्री ने कहा कि निश्चित तौर पर उनके निधन से पार्टी को नुकसान हुआ है. लेकिन रांची के नीजी अस्पतालों द्वारा जिस प्रकार कांग्रेस नेता का भर्ती करने पर इंकार होता रहा. उस पर सीएम की खास तौर पर नजर है. लिखित शिकायत ली जा रही है, जांच के बाद हर हाल में वैसे अस्पतालों पर कार्रवाई किया जाएगा.

इस दौरान मंत्री पत्रलेख के साथ राज्य के सह प्रभारी उमंग सिंघार, महागामा विधायक दीपिका पांडेय, कांग्रेस के राज्य के कार्यकारी अध्यक्ष मानस सिन्हा के अलावे गिरिडीह के अध्यक्ष नरेश वर्मा, उपेन्द्र सिंह, कांग्रेस नेत्री डा. मंजू कुमारी अग्रवाल, पार्टी के ओबीसी सेल के प्रर्देश उपाध्यक्ष नवीन चैरसिया, महमूदअली खान लड्डु, अशोक विश्वकर्मा, ऋषिकेश मिश्रा, बलराम यादव, नदीम अख्तर, साबिर हुसैन लाडला, संतोष राय, पूनम वर्मा समेत पार्टी के कई कार्यकर्ता मौजूद थे. इस दौरान मंत्री ने नवनियुक्त बीडीओ ज्योति कुमारी को बुके देकर उत्साह भी बढ़ाया.

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button