Lead NewsNationalNEWS

मंत्री बोले, स्कूलों में महिला शिक्षकों की वजह से पुरुषों को खाना पड़ता है सैरीडॉन टेबलेट

Jaipur: राजस्थान के शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा का बयान इन दिनों सुर्खियों में है. उन्होंने अंतरराष्ट्रीय बालिक दिवस पर कहा कि महिलाएं झगड़ालू होती हैं. यही बात उन्हें पुरुषों से आगे बढ़ने से रोकती है. जिन स्कूलों में महिला स्टॉफ है वहां झगड़े अधिक होते हैं. उन्होंने बताया कि उनके पास ऐसी बहुत सी रिपोर्ट आती हैं, जहां महिलाएं स्कूलों में झगड़ा करतीं हैं. अगर महिलाएं इन स्थितियों सुधार कर लें तो वह पुरुषों से आगे निकल जायेंगी.

इसे भी पढ़ेंःNational Corona Update: लगातार पांचवें दिन 20 हजार से कम संक्रमित, सक्रिय मरीजों की संख्या दो लाख के करीब

डोटासरा ने आगे चुटकी लेते हुए कहा कि महिलाओं के झगड़े कारण स्कूलों का पुरुष स्टॉफ बहुत परेशान रहता है. पुरुषों और प्रधानाचार्यों को सैरीडॉन टेबलेट तक खानी पड़ती है. उन्होंने कहा कि सरकार महिलाओं के लिए योजनाएं लाई है, महिलाएं सरकार की प्राथमिकता में हैं. वे इन सब से ऊपर उठकर पुरुषों से आगे निकलें.

advt

 

इससे पहले कर्नाटक के स्वास्थ्य मंत्री हैं सुर्खियों में

इससे पहले से कर्नाटक के स्वास्थ्य मंत्री डॉ. के सुधाकर का बयान सुर्खियों में है. उन्होंने कहा था कि आधुनिक भारतीय महिलाएं बच्चों को जन्म नहीं देना चाहती हैं. वह या तो कुंवारा रहना चाहती हैं या फिर शादी के बाद भी बच्चों को जन्म नहीं देना चाहती हैं उन्हें सेरोगेसी से बच्चे चाहिए. हमारी सोच में यह बदलाव सही नहीं है.

adv

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: