न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

मिनिस्टर साहब स्टिंग देखिये ! ओरिजिनल सर्टिफिकेट के लिए वसूले जा रहे हैं 5000 रुपये

2,283

Ranchi : अगर आपको अपना ओरिजिनल सर्टिफिकेट जो आपने बीएड करने से पहले जमा किया है, तो आप पांच हजार रुपए जमा करवा दीजिए. नहीं करेंगे तो आपको सर्टिफिकेट नहीं मिलेगी. क्योंकि सभी लोग अपनी मर्जी से ऐसा कर रहे हैं. आपने पूरी फीस चुका दी हो. किसी तरह का कोई वित्तीय मामला आपके साथ कॉलेज का नहीं हो फिर भी आपको ये पैसे चुकाने पड़ेंगे. बिना पैसा दिए किसी भी सूरत में आपको आपका सर्टिफिकेट नहीं मिलेगा. जी हां, ऐसा शाइन बीएड कॉलेज में खुलेआम हो रहा है. यह एक स्टिंग से बाद साफ हो गया है. आप भी नीचे लगे वीडियो में साफ देख सकते हैं कि कैसे सर्फिकेट के बदले पैसा मांगा जा रहा है.

इसे भी पढ़ें- 6302 करोड़ हुए खर्च लेकिन खेतों में नहीं पहुंचा पानी, 88 फीसदी किसान को सिंचाई सुविधा नहीं

आपको बताते चलें कि कैसे समय में बीएड छात्रों से ब्लैकमेलिंग की जा रही है. सीएम ने 15 नवंबर को लगभग 21000 से ज्यादा चयनित होने वाले छात्रों को शिक्षक नियुक्ति पत्र दिया जाएगा. उससे पहले सभी अपनी सर्टिफिकेट को अपडेट करा रहे हैं. संस्थान जान रहा है कि बिना सर्टिफिकेट के बिना उन्हें ज्वाइनिंग लेटर नहीं मिल पाएगी. ऐसे में छात्र रकम देने में भी आनाकानी नहीं करेंगे. इसलिए संस्थान खुलेआम नियमों का हवाला देते हुए पैसे की ऊगाही कर रहे हैं.

छठीं जेपीएससी पीटी परीक्षा में सफल परीक्षार्थियों एवं हाईस्कूल शिक्षक बहाली में सफल परीक्षार्थियों को इन दिनों विश्वविद्यालय एवं कॉलेज से मूल प्रमाण-पत्र निकालने में पसीने छूट रहे हैं. दरअसल जेपीएससी मुख्य परीक्षा में शामिल होने के लिए अभ्यार्थियों और हाईस्कूल शिक्षक में सफल छात्रों को स्नातक मूल प्रमाण-पत्र देना होता है, इसी को लेकर छात्रों की भारी भीड़ इन दिनों रांची विश्वविद्यालय(आरयू) में देखने को मिल रही है. छात्र मूल प्रमाण-पत्र के लिए लंबी कतारों में नजर आ रहे हैं. प्रमाण-पत्र के लिए छात्रों को कतार में घंटो इंतजार करने के बाद भी सर्टिफिकेट समय पर नहीं मिल पा रहा है. इस बारे में आरयू प्रशासन का कहना है कि आरयू में कर्मचारियों की संख्या कम है, इसके कारण छात्रों को ज्यादा परेशानी मूल प्रमाण-पत्र निकालने में हो रही है. वहीं इसी बारे में छात्रों का कहना है कि विश्वविद्यालय के कर्मचारी जल्दी सर्टिफिकेट निकालने के लिए छात्रों से पांच से हजार रूपये की मांग कर रहे हैं.

इसे भी पढ़ें- तीन महीने बाद अयोग्‍य हो जायेंगे 70,175 सरकारी शिक्षक

शिक्षक बहाली में सफल छात्रों से पैसे वसूल रहे हैं निजी बीएड कॉलेज

झारखंड में जेएसएससी के माध्यम से हाईस्कूल शिक्षक नियुक्ति प्रक्रिया ली गयी है, इस महीने जेएसएससी द्वारा संथाल क्षेत्र का परीक्षाफल जारी कर दिया गया है. आनेवाले दिनों में पूरे राज्य के क्षेत्रों का परीक्षाफल प्रकाशित किया जायेगा. इसके लिये अभ्यार्थी अपने बीएड कोर्स का मूल प्रमाण आयू से निकालने में लगे हैं. इसके एवज में निजी बीएड कॉलेज उनसे तीन हजार से लेकर पांच हजार रूपये तक की वसूली कर रहे हैं, मामला यही खत्म नहीं होता है. इन निजी बीएड कॉलेजों द्वारा छात्रवृत्ति की जो रकम कल्याण विभाग, झारखंड सरकार से निर्गत की गयी है, उसके एवज में भी निजी बीएड कॉलेज छात्रों से पांच हजार रूपये की वसूली कर रहे हैं. न्यूज विंग को इस घटना के संदर्भ में शाइन बीएड कॉलेज, मनरखन बीएड कॉलेज, भारती बीएड कॉलेज, फतिमा बीएड कॉलेज, एनएन घोष बीएड कॉलेज, संघमित्रा बीएड कॉलेज के छात्रों ने आपबीती सुनाई. न्यूज विंग से नाम ना साझा करने की शर्त पर कई छात्रों ने प्रमाण के रूप में इन कॉलेजों के वीडियो भी संवाददाता को दिये हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: