न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

मंत्री जी कह रहे हैं- नहीं लेना है बढ़ा हुआ भाड़ा, बस एजेंट नहीं मान रहे बात

290

Ranchi: परिवहन मंत्री सीपी सिंह भले ही गला फाड़-फाड़ कर चिल्लाते रहें कि बढ़ा हुआ भाड़ा किसी पैसेंजर से नहीं लेना है. लेकिन, बस एजेंट भला कहां मानने वाले हैं मंत्री की बात. उन्‍होंने तो  सवारियों से बढ़ा हुआ भाड़ा लेना शुरु भी कर दिया है. जो यात्री बढ़ा हुआ किराया नहीं देना चाहते हैं, उन्हें टिकट देने से इनकार कर दिया जाता है.

कांटाटोली स्थित बिरसा मुंडा बस स्टैंड में यात्रियों से बढ़ा हुआ किराया ही लिया जा रहा है. बस एजेंटों का कहना है कि जब सरकार गैस सिलेंडर, दाल, चावल आदि सभी की कीमतों में वृद्धि कर रही है तो हम क्यों नहीं बस भाड़ा बढ़ायेंगे. आज डीजल का दाम 73 रुपए हो चुका है. ऐसे में बस भाड़ा में बढ़ोत्‍तरी भी जरुरी हो गई है. बस एजेंटों ने कहा कि मंत्री जी जो बयान देना है देते रहें, लेकिन हम सभी भाड़ा में बढ़ोत्‍तरी करेंगे.

इसे भी पढ़ें: मिशन 2019 : चुनाव को लेकर नेताओं में दल-बदल का खेल शुरू

hosp1

जबरन नहीं लेना है बढ़ा हुआ भाड़ा: बस एसोसिएशन

बस ऑनर्स एसोसिएशन के कृष्ण मोहन सिंह ने कहा कि हम सरकार के खिलाफ तो जा नहीं सकते हैं. जैसा सरकार कहेगी वैसा करना होगा. लेकिन, सरकार को हमारी मजबूरी को समझना चाहिए. एक महीने में दस रुपए डीजल की कीमत बढ़ा दी गई है. ऐसे में भाड़ा पुराना रहने से बचत नहीं हो रही है. हम यात्रियों से जबरन बढ़ा हुआ पैसा नहीं ले रहे हैं. जो स्वेच्छा से दे रहा है, उन्हीं से पैसा लिया जा रहा है. बस मालिकों के कई बसें आज खड़ी हैं, कई बस मालिक नुकसान में व्यापार कर रहे हैं.

इसे भी पढ़ें: राय यूनिवर्सिटी को नहीं मिल रहे छात्र, नैक टीम की चेतावनी के बाद भी नहीं सुधरे हालात

छलक रहा है आम जनता का दर्द

अचानक भाड़ा बढ़ जाने से आम जनता का दर्द छलक आया है. जनता कह रही है कि कमाई का श्रोत कहीं से बढ़ा नहीं है. लेकिन, महंगाई बढ़ती ही जा रही है. अब बस का किराया भी बढ़ जाने से परेशानी और बढ़ गई है.

सिमडेगा जा रहे मो. आसिफ ने कहा कि परेशानी बहुत ज्यादा है. एक सप्ताह  पहले 150 रुपए में सिमडेगा गए थे. लेकिन, आज 180 रुपए लिये जा रहे हैं. यह बहुत गलत है. सिमडेगा जा रही सरिता देवी ने कहा कि बराबर रांची आना-जाना लगा रहता है, ऐसे में अचानक भाड़ा बढ़ा देने से परेशानी बढ़ गई है. हमलोगों का बजट तैयार रहता है, लेकिन अचानक महंगाई में इस कदर बढ़ोत्‍तरी होने से पूरा बजट गड़बड़ा जाता है.

इसे भी पढ़ें: अश्‍लील मैसेज भेजना मनचले आशिक को पड़ा महंगा, युवती ने की सरेआम युवक की पिटाई

पेट्रोल-डीजल की कीमत में वृद्धि के कारण बढाया गया है बस किराया

पेट्रोल-डीजल की कीमत में बढ़ोत्‍तरी के कारण बस एसोसिएशन के सदस्यों ने विभिन्न स्थानों के लिए बस किराया में बढोतरी की थी. अलग-अलग स्थानों के भाड़ा में करीब 10 से लेकर 30 रुपये तक की बढ़ोत्‍तरी कर दी गई है. इसमें रांची के आसपास और लंबी दूरी की अंतरराज्यीय बसों का किराया शामिल है. लेकिन, परिवहन मंत्री सीपी सिंह ने इसका विरोध किया है. उन्होंने अपने एक बयान में कहा कि बस किराया बढ़ाना कहीं से भी उचित नहीं है. उन्होंने सभी नागरिकों से भी बस भाड़ा बढ़ाकर मांगे जाने पर नहीं देने की बात कही थी. लेकिन, मंत्री की बात को बस वाले अनसुनी कर रहे हैं और बढ़ा हुआ किराया ही वसूल रहे हैं, यह साफ देखा जा सकता है. जो यात्री बढ़ा हुआ किराया देना नहीं चाहते हैं, उन्हें टिकट ही नहीं दिया जा रहा है.

इसे भी पढ़ें: आदिवासि‍यों के संवैधानिक अधिकारों पर हमले के मामले यूएन में उठाने का एलान

किस स्थान में कितना बढ़ाकर लिया जा रहा है भाडा

मांडर               25    30

बीजूपाड़ा          30    40

चान्हो               35   45

सोंस                40   50

मदरसा            40   50

कुडू                 50   60

सिसई              70   80

रामगढ़             55   65

गोला              80    100

लोहरदगा       70  80

खूंटी             50   60

मुरहू              40 50

सिमडेगा एसी  150-180

धनबाद एसी   230   250

बोकारो एसी    170  200

सिमडेगा लोकल 140 160

आसनसोल   180    220

दुर्गापुर      190   230

चक्रधरपुर  110   130

चाईबासा     140    170

जामदा          200   240

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: