Business

शुरुआती कारोबार में सेंसेक्स में मामूली उछाल, डिप्टी गवर्नर के इस्तीफे से रुपये पर दबाव

विज्ञापन

Mumbai: एशियाई बाजारों में कमजोर संकेतों एवं कच्चे तेल की बढ़ती कीमतों के कारण सोमवार को बीएसई सेंसेक्स एवं एनएसई निफ्टी में कारोबार की शुरुआत सतर्क रुख के साथ हुई.

बीएसई के 30 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक सेंसेक्स में सुबह के साढ़े नौ बजे 50.59 अंक यानी 0.13 प्रतिशत की बढ़त के साथ 39,245.08 अंक एवं निफ्टी में 5.55 यानी 0.5 प्रतिशत की तेजी के साथ 11,729.65 अंक पर कारोबार हो रहा था.

इससे पहले शुक्रवार को बीएसई 407.14 अंक यानी 1.03 प्रतिशत की गिरावट के साथ 39,194.49 अंक और एनएसई का निफ्टी 107.65 अंक या 0.91 प्रतिशत टूटकर 11,724.10 अंक पर बंद हुए थे.

advt

इसे भी पढ़ेंःRBI के डिप्टी गवर्नर विरल आचार्य का इस्तीफा, सात महीने में दूसरे उच्च अधिकारी ने छोड़ा पद

सेंसेक्स में सोमवार को शुरुआती कारोबार में इंडसइंड बैंक, एलएंडटी, भारती एयरटेल, एशियन पेंट्स, टीसीएस, एनटीपीसी, एसबीआई, आईटीसी, एचडीएफसी ट्विन्स, आईसीआईसीआई बैंक और इन्फोसिस के शेयरों में सबसे अधिक वृद्धि देखने को मिली.

वहीं बजाज ऑटो, हीरो मोटोकॉर्प, टेकएम, ओएनजीसी, सन फार्मा, टाटा मोटर्स और आरआईएल के शेयरों में गिरावट देखने को मिली.

विशेषज्ञों के मुताबिक वैश्विक राजनीतिक अनिश्चितता के चलते कच्चे तेल की कीमतों में वृद्धि के चलते निवेशकों की धारणा प्रभावित हो रही है. इसके अलावा आगामी केंद्रीय बजट भी बाजार के परिप्रेक्ष्य में महत्वपूर्ण होगा.

अन्य एशियाई बाजारों की बात करें तो शुरुआती कारोबार में शंघाई कंपोजिट इंडेक्स, हांग सेंग, निक्की और कोस्पी में बढ़त देखने को मिली.

इसी बीच शेयर बाजारों के अस्थायी आंकड़ों के मुताबिक, विदेशी संस्थागत निवेशकों ने शुक्रवार को शुद्ध आधार पर 730.58 करोड़ रुपये के इक्विटी शेयर बेचे. जबकि घरेलू संस्थागत निवेशकों ने 445.75 करोड़ रुपये मूल्य के शेयर खरीदे.

रुपया बगैर किसी घट-बढ़ के 69.58 के स्तर पर खुला

कच्चे तेल की कीमतों में बढ़ोत्तरी और विदेशी मुद्रा की निकासी के बीच डॉलर के मुकाबले रुपया सोमवार को बिना किसी घट-बढ़ के साथ 69.58 के स्तर पर खुला.

अंतरबैंक विदेशी मुद्रा विनिमय बाजार में रुपया 69.58 के स्तर पर खुला. घरेलू मुद्रा शुक्रवार को इसी स्तर पर बंद हुआ था. ब्रेंट कच्चे तेल का वायदा 0.38 प्रतिशत चढ़कर 65.45 डॉलर प्रति बैरल पर खुला.
विदेशी मुद्रा विनिमय से जुड़े कारोबारियों के मुताबिक आरबीआई के डिप्टी गवर्नर विरल आचार्य के त्यागपत्र से जुड़ी खबरों के प्रसार के बाद घरेलू मुद्रा दबाव में है.

भारतीय रिजर्व बैंक के डिप्टी गवर्नर विरल आचार्य ने खबरों के मुताबिक अपना कार्यकाल पूरा होने से छह महीने पहले ही इस्तीफा दे दिया है. वह मौद्रिक नीति विभाग के प्रमुख थे.

Advertisement

Related Articles

Back to top button
Close