न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

मिनी गन फैक्टरी का उद्भेदन, तीन गिरफ्तार, देसी पिस्टल और रायफल बरामद

74

Palamu/Garhwa : गढ़वा सदर थाना क्षेत्र के फरठिया नगदरवा गांव में छापामारी कर पुलिस ने रविवार को अवैध गन फैक्टरी को ध्‍वस्‍त किया है. फैक्टरी में बनी पिस्टल, रायफल के अलावा अर्द्धनिर्मित अग्नेयास्त्र और हथियार बनाने के सामान बरामद भी किए गए हैं. इस सिलसिले में पुलिस ने तीन आरोपियों को भी गिरफ्तार किया है. पुलिस इसे बड़ी कामयाबी मान रही है.

गुप्त सूचना पर मिली कामयाबी

गढ़वा के पुलिस अधीक्षक शिवानी तिवारी को गुप्त सूचना मिली थी कि गढ़वा मुख्यालय से सटे फरठिया के नगदरवा गांव में बड़े पैमाने पर हथियार बनाए जा रहे हैं. सूचना पर डीएसपी ओपी तिवारी के नेतृत्व में टीम बनायी गयी और छापामारी की गयी. इस कार्रवाई में जहां मिनी गन फैक्टरी पकड़ी गयी, जबकि लंबे समय से इस गोरखधंधे में लिप्त दो भाइयों सहित तीन आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया. गिरफ्तार आरोपियों में एक पूर्व में भी हथियार बनाने के आरोप में जेल जा चुका है.

डीएसपी ने बताया कि शहर थाना प्रभारी अनिल कुमार सिंह एवं अन्य पुलिसकर्मी के साथ छापामारी की गयी. जहां हमें एक घर में हथियार बनाये जाने का मिनी गन फैक्टरी मिली. उक्त स्थल से हमने हथियार बनाये जाने के लिए उपयोग में लाये जाने वाले जेनरेटर, लेथ और वेल्डिंग मशीन सहित भारी मात्रा में सामान बरामद किया. वहीं कई निर्मित और अर्धनिर्मित हथियार भी बरामद हुए. उन्होंने बताया कि गिरफ्तार आरोपियों में अंजन विश्वकर्मा, पवन विश्वकर्मा और मुन्ना विश्वकर्मा शामिल हैं. अंजन और पवन सहोदर भाई हैं. जबकि मुन्ना परिवार का ही सदस्य है. मुन्ना पूर्व में गढ़वा जिले के ही बडीहा से हथियार बनाने के आरोप में जेल जा चुका है.

क्या-क्या मिला फैक्टरी से

डीएसपी ने जानकारी दी कि मिनी गन फैक्टरी एक नाइन एमएम का पिस्टल, देसी कट्टा तीन, देसी रायफल एक, अद्धनिर्मित पिस्तौल एक, बैरल 11 पीस, जनरेटर एक, लेथ मशीन एक, हथियार बनाने के सामान, खोखा 15 पीस और एक जिंदा गोली बरामद किया गया है. डीएसपी ने बताया कि गिरफ्तार आरोपियों से पूछताछ की जा रही है कि उनकी फैक्टरी में बने हथियारों का इस्तेमाल कौन-कौन लोग करते थे.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: