GarhwaJharkhand

गढ़वा : मिनी गन फैक्ट्री पकड़ायी, चार गिरफ्तार, भारी मात्रा में निर्मित-अर्द्धनिर्मित हथियार बरामद

Palamu : गढ़वा जिले के नगर उंटारी थानांतर्गत गरबांध के तुलबुला जंगल में छापेमारी कर पुलिस ने एक मिनी गन फैक्ट्री का उद्भेदन किया है. इसमें भारी मात्रा में निर्मित-अर्द्धनिर्मित आग्नेयास्त्र के साथ-साथ हथियार बनाने में उपयोगी सामान और उपकरण बरामद किये हैं. साथ ही इस गोरखधंधे में शामिल चार लोगों को गिरफ्तार किया गया है. इस आशय की जानकारी मंगलवार को एसपी शिवानी तिवारी ने प्रेसवार्ता कर दी.

एसपी ने बताया कि सूचना मिली थी कि गरबांध के तुलबुला जंगल में मिनी गन फैक्ट्री में कुछ लोग आग्नेयास्त्र बनाकर बेचते हैं. इसी के आलोक में सोमवार शाम में एसडीपीओ नीरज कुमार के नेतृत्व में थाना प्रभारी पंकज कुमार तिवारी व पुलिस बल के साथ एक टीम का गठन कर छापेमारी के लिए भेजा गया.

इसे भी पढ़ें : UP के शहरों में धनबाद से हथियारों की आपूर्ति, 23 पिस्टल व 46 मैगजीन के साथ दो गिरफ्तार

दो लोग भाग निकले

गढ़वा में मिनी गन फैक्ट्री पकड़ायी
बरामद हथियारो के साथ एसपी शिवारी तिवारी.

छापेमारी के दौरान तुलबुला जंगल में सुनसान स्थान में मिनी गन फैक्ट्री पकड़ी गयी. वहां से पुलिस को आधा दर्जन तैयार अवैध देसी आग्नेयास्त्र मिले. भारी मात्रा में अर्द्धनिर्मित हथियार व हथियार बनाने में उपयोगी सामान और उपकरण भी बरामद किये गये.

साथ ही इस अवैध कार्य में संलिप्त नागा सिंह खरवार, सुदामा अगरिया, अरविंद शुक्ला व फिरोज खलीफा को गिरफ्तार किया गया है. जबकि दो लोग अमेरिका विश्वकर्मा व सुधीर विश्वकर्मा भागने में सफल हो गये. पकड़े गये सभी लोग नगर उंटारी थाना क्षेत्र के ही रहने वाले हैं.

इसे भी पढ़ें : धनबाद : अपराधियों ने जमीन कारोबारी को दिनदहाड़े गोलियों से भूना 

यूपी, बिहार एवं बंगाल में भी बेचे जाते थे हथियार

पुलिस का कहना है कि नागा सिंह खरवार, सुदामा अगरिया, अमेरिका विश्वकर्मा व सुधीर विश्वकर्मा हथियार बनाने का काम करते थे. जबकि अरविंद शुक्ला और फिरोज खलीफा हथियार के लिए उपयोगी सामान की सप्लाई और निर्मित अवैध हथियार को बाहर ले जाकर बेचते थे.

एसपी ने बताया कि यहां के निर्मित हथियार झारखंड के अलावे यूपी, बिहार एवं बंगाल में सक्रिय अपराधियों को बेचे जाते थे. पुलिस हथियार सप्लाई नेटवर्किंग की गंभीरता से पड़ताल कर रही है.

क्या क्या हुआ बरामद

एक सिंगल बैरल की बंदूक, एक बड़े साइज का देसी कट्टा, चार छोटे साइज की देसी पिस्टल, बारह बोर का एक जिंदा कारतूस और एक खोखा, 315 बोर की दो जिंदा गोलियां और चार खोखे, पिस्टल के कई पार्ट्स, भाथी, शिकंजा आदि.

इसे भी पढ़ें : धनबाद : एसीबी ने अंचल कर्मचारी को तीन हजार रुपये घूस लेते किया गिरफ्तार

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: