HEALTHJharkhandRanchi

26 जुलाई से शुरू होगा मिजिल्स रूबेला अभियान, 1 करोड़ 17 लाख बच्चों को लगाया जाएगा टीका

Ranchi: झारखंड, देश का 16 वां राज्य बनेगा जहां 9 वर्ष से 15 वर्ष तक के बच्चों को मिजिल्स रूबेला का टीका लगाया जाएगा. अभियान का उद्देश्य नवजात बच्चों की होने वाली मौत को कम करना है. इस अभियान में राज्य के 1 करोड़ 17 लाख बच्चों को टीका लगाया जाएगा. ये बातें प्रधान स्वास्थ्य सचिव निधि खरे ने सूचना भवन सभागार में कही. उन्होंने कहा कि इस अभियान के तहत झारखंड के सभी स्कूल, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र और आंगनबाड़ी केंद्रों पर 9 वर्ष से 15 वर्ष के बच्चों को टीका लगाया जाएगा. टीकाकरण के एक घंटा तक बच्चों को चिकित्सकों की निगरानी में रखा जाएगा. यह अभियान पांच चरणों में चलेगा.

इसे भी पढ़ेःरांचीः मोरहाबादी में तालाब में तब्दील हुई सड़क, कुसुम विहार रोड नबंर 4 के लोगों की बढ़ी परेशानी

मिजिल्स रूबेला अभियान के दौरान 497 सेंटर पर निगरानी रखी जाएगी. अभियान को सफल बनाने के लिए 11 विभाग का सहयोग लिया गया है. साथ ही डब्ल्यूएचओ, यूनिसेफ, यूएनडीपी, लायंस क्लब, रोटरी क्लब, आईएमए और आईपीए के सहयोग से अभियान को सफल बनाया जाएगा. अभियान सफल बनाने के लिए पिछले चार माह से तैयारी चल रही थी. जिसमें पूरे राज्य के पदाधिकारी लगे हुए थे. 26 जुलाई को स्वास्थ्य मंत्री के द्वारा अभियान की शुरुआत होगी.

सोशल मीडिया से होगा प्रचार-प्रसार

मीजल्स रूबेला अभियान के प्रचार-प्रसार के लिए सोशल मीडिया का प्रयोग किया जाएगा. इस अभियान का ब्रांड एंबेसडर क्रिकेटर सौरभ तिवारी को बनाया गया है.

इसे भी पढ़ेंःबड़ा सवाल : धनबाद पुलिस कानून के हिसाब से चलती है या ढुल्लू महतो के इशारों पर

आंगनबाड़ी केंद्र ,स्कूलों में निःशुल्क मिलेगा मिजिल्स रूबेला टीका

सिविल सर्जन डॉ एसएस हरिजन ने कहा कि इस टीकाकरण अभियान में कोई भी ना छूट पाए, इसके लिए तैयारी की गई है. पूरे जिले में 1 लाख 56 हजार 467 बच्चों को टीका देने का लक्ष्य रखा गया है. इसके लिए 3554 स्कूल और 2832 आंगनबाड़ी केंद्र को चिन्हित किया गया है. जहां टीका दिया जाएगा. सिविल सर्जन ने कहा कि सभी अभिभावकों से अनुरोध है कि 9 माह से 15 साल के बच्चों को नजदीकी सरकारी स्कूल या आंगनबाड़ी केंद्र में अपने बच्चे को ले जाकर टीका जरूर दिलवाएं.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Related Articles

Back to top button