JharkhandLateharPalamu

पलामू में अधेड़, तो लातेहार में किशोर की फंदे पर लटकी मिली लाश, मानसिक स्थिति थी खराब

Palamu/Latehar: पलामू जिले के चैनपुर थाना क्षेत्र में अधेड़, जबकि लातेहार के मनिका थाना में किशोर की लाश फंदे पर लटकी बरामद की गयी. दोनों घटनाएं शुक्रवार की है. चैनपुर थाना क्षेत्र के रानीताल मिडिल स्कूल के पास एक पेड़ पर इसी थाना क्षेत्र के लादी निवासी श्रवण बैठा (48वर्षीय) की लाश बरामद की गयी. इसी तरह मनिका के चेचेन्धा गांव के पत्थललठ्ठा टोला में 16 वर्षीय किशोर दीपक कुमार ने फांसी लगाकर जान दे दी.

पांच दिनों से लापता था अधेड़

श्रवण बैठा शनिवार की सुबह घर से निकला था. चैनपुर के थाना प्रभारी इंस्पेक्टर उदय कुमार गुप्ता ने जानकारी दी कि परिजनों ने बताया कि श्रवण की मानसिक स्थिति ठीक नहीं थी. घर से निकलने के बाद वापस नहीं लौटा था. उसकी खोजबीन की जा रही थी. वह एक गांव से दूसरे गांव में घूमता फिर रहा था. गुरूवार को उसे रानीताल इलाके में देखा गया. परिजन उसकी तलाश में जुटे थे. इसी बीच शुक्रवार की सुबह उसकी लाश फंदे पर लटकी मिली.

इसे भी पढ़ें :  देवघर : बहन को स्कूटी सीखाने के क्रम में स्कूटी दुर्घटनाग्रस्त, भाई-बहन की मौत

वन विभाग में प्राइवेट गार्ड था

थाना प्रभारी इंस्पेक्टर उदय ने बताया कि श्रवण लातेहार जिले में वन विभाग में प्राइवेट गार्ड की नौकरी करता था. इधर, कुछ दिनों से काम नहीं कर रहा था. परिजनों ने बताया कि कई दिनों से श्रवण परेशान रहता था. वह 5 दिनों से घर नहीं आया था. कल कुछ युवकों ने उसे पास के गांव में देखा था तो उसकी तलाश की जा रही थी पर वह नहीं मिला था. श्रवण वन विभाग में प्राइवेट जॉब करता था. मृतक शादीशुदा है. इसके दो बेटे हैं. एक पुलिस विभाग में है, दूसरा घर पर रहता है. पत्नी घर पर ही रहती है.

इसे भी पढ़ें :  T20 World Cup: वेस्टइंडीज के दिग्गज ऑलराउंडर ड्वेन ब्रावो ने श्रीलंका से हार के बाद लिया संन्यास 

एकलौता पुत्र था दीपक

उधर, लातेहार ज़िले के मनिका थाना क्षेत्र में चेचेन्धा गांव के पत्थललठ्ठा टोला में मृत पाए गए दीपक कुमार चलित्तर भुइयां का इकलौता पुत्र था. घटना के समय पिता काम पर निकले थे. मां गाय चराने निकली थे और बहन घर लीपपोत कर नहाने निकली थी. इसी बीच दीपक ने प्लास्टिक की रस्सी का फंदा बनाकर जान दे दी. बहन संगीता ने घर पहुंचने पर दीपक को फांसी के फंदे से लटकता पाया.

मानसिक स्थिति थी खराब

मृतक के पिता ने बताया कि दीपक की मानसिक हालत ठीक नहीं थी और रिनपास हॉस्पिटल से उसकी दवाई चल रही थी. घटना की सूचना मिलते ही थाना प्रभारी शुभम कुमार ने पुलिस बल को भेजकर शव को अपने कब्जे में ले लिया और पोस्टमार्टम के लिए लातेहार भेज दिया. मौके पर एसआई गौतम कुमार, एएसआई देवचंद हांसदा समेत कई लोग उपस्थित थे.

इसे भी पढ़ें : चाईबासा : लालकृष्ण आडवाणी की सुरक्षा में तैनात NSG जवान और ममरे भाई की सड़क हादसे में मौत

Related Articles

Back to top button