न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

सीबीआइ की गहन पूछताछ के बीच सिर्फ दो घंटे की ही नींद ले पाया मिशेल

19

New Delhi : अगस्ता वेस्टलैंड मामले का कथित बिचौलिया क्रिश्चियन मिशेल भारत आने के बाद दो घंटे की ही नींद ले पाया है क्योंकि सीबीआई उससे इस मामले में गहन पूछताछ कर रही है. सूत्रों ने बुधवार को यह जानकारी दी.

दस्तावेजों की पहचान के संबंध में उससे गहन पूछताछ

भारत के आग्रह पर दुबई से यहां लाए गए 57 वर्षीय मिशेल को तड़के सीबीआई मुख्यालय में पहुंचने के बाद बेचैनी का आघात आया. इसके बाद इलाज के लिए डॉक्टरों को बुलाया गया. इलाज के बाद धन की हेराफेरी और कई करोड़ रुपये वाले सौदे के दस्तावेजों की पहचान के संबंध में उससे गहन पूछताछ शुरू हुई. बुधवार को नाश्ता मिलने से पहले तड़के चार बजे से छह बजे तक ही उसे सोने की अनुमति दी गयी. उन्होंने बताया कि सुबह छह बजे के बाद सीबीआइ की विशेष जांच समिति के अधिकारियों ने उससे सवाल-जवाब शुरू कर दिए.

मंगलवार रात दस बजकर 35 मिनट पर इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा पहुंचा

संयुक्त अरब अमीरात सरकार द्वारा उसके प्रत्यर्पण का रास्ता साफ करने के बाद मिशेल को संयुक्त निदेशक साई मनोहर के नेतृत्व वाली सीबीआइ की एक टीम भारत लेकर आई. मिशेल (54) गल्फस्ट्रीम के विमान से मंगलवार रात दस बजकर 35 मिनट पर इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा पहुंचा जिसके बाद इस मामले में सीबीआइ ने उसे गिरफ्तार कर लिया. इसके बाद 57 वर्षीय मिशेल को पुलिस कार और बाइक के एक छोटे काफिले के साथ सीबीआइ मुख्यालय के भूतल के लॉकअप में मंगलवार की देर रात एक बजकर 20 मिनट पर ले जाया गया.

सौदे में अनुमानित तौर पर 2,666 करोड़ का नुकसान

silk_park

बुधवार शाम चार बजे उसे पाटियाला हाउस अदालत ले जाया गया, जिसने उसे पांच दिन की सीबीआई हिरासत में भेज दिया. मामले में मिशेल के अलावा ग्यूडो हैशके और कार्लो गेरोसा भी बिचौलिये हैं. प्रवर्तन निदेशाल और सीबीआई मामले की जांच कर रही है.  एसीबीआइ का आरोप है कि सौदे में अनुमानित तौर पर 39.82 करोड़ यूरो (तकरीबन 2,666 करोड़ रूपये) का नुकसान हुआ. कुल 55.62 करोड़ यूरो में वीवीआइपी हेलिकॉप्टरों की आपूर्ति के लिए आठ फरवरी 2010 को समझौता हुआ था.

12 अगस्ता वेस्टलैंड हेलीकाप्टर खरीदने का करार रद्द हुआ

प्रवर्तन निदेशालय (इडी) ने जून 2016 में मिशेल के खिलाफ अपने आरोपपत्र में आरोप लगाया था कि उसे अगस्ता वेस्टलैंड से कथित तौर पर तीन करोड़ यूरो (करीब 225 करोड़ रूपये) मिले थे. भारत ने इस सौदे को हासिल करने के लिये 423 करोड़ रूपए की दलाली के भुगतान का आरोप लगने के बाद एक जनवरी, 2014 को भारतीय वायु सेना के लिये 12 अगस्ता वेस्टलैंड हेलीकाप्टर खरीदने का करार रद्द कर दिया था. केन्द्रीय जांच ब्यूरो ने इस मामले में एक सितंबर, 2017 को आरोप पत्र दाखिल किया था जिसमे मिशेल भी आरोपी के रूप में नामित है.

इसे भी पढ़ें : बच्चों के मामलों में रिपोर्टिंग करते समय ज्यादा संवेदनशीलता दिखाए मीडिया : एनसीपीसीआर प्रमुख

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: