National

#Melania_Trump’s_School_Tour : स्वागत कार्यक्रम में केजरीवाल नहीं,  मनीष सिसोदिया के साथ शशि थरूर भी बरसे

NewDelhi : अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की पत्नी मेलानिया ट्रंप 25 फरवरी को दिल्ली सरकार के स्कूल में आ रही है. खबर है कि मेलानिया की यात्रा के दौरान स्वागत कार्यक्रम से दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल और उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया का नाम हटा दिया गया है. इसे लेकर भाजपा-आप आमने-सामने है. भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा है कि महत्वपूर्ण मौकों पर ओछी राजनीति नहीं की जानी चाहिए. भारत सरकार अमेरिका को यह सलाह नहीं देती कि कौन आयेगा और कौन नहीं. इसलिए हम इस तू-तू मैं-मैं…में नहीं पड़ना चाहते.

हालांकि मनीष सिसोदिया ने उनका और अरविंद केजरीवाल का नाम मिलेनिया ट्रंप के आयोजन से काटे जाने पर प्रत्यक्ष में तो कुछ नहीं कहा, लेकिन उन्होंने एक ट्वीट के जरिए कहा कि हैपीनेस क्लास नफरत और छोटी मानसिकता का हल है. मैं खुश हूं कि दिल्ली के सरकारी स्कूल दुनिया को एक रास्ता दिखा रहे हैं. दुनिया यह जानने को उत्सुक है कि हम अपने हैपीनेस क्लास में क्या कर रहे हैं.

इसे भी पढ़ें : #Trump’s_Arrival_IN_India : कांग्रेस ने ताना मारा, मोदी सरकार ने निकाली 69 लाख नौकरियां, ट्रंप को देख हाथ हिलाना, अच्छे दिन सैलरी में मिलेंगे

जानबूझकर केजरीवाल और सिसोदिया का नाम कटवाया

आम आदमी पार्टी के सूत्रों का कहना है कि आप सरकार यह मान रही है कि केंद्र सरकार ने जानबूझकर केजरीवाल और सिसोदिया का नाम कटवाया है. अब ट्रंप की पत्नी मेलानिया अकेले ही स्कूल का दौरा करेंगी. सूत्रों के अनुसार, आप सरकार द्वारा केंद्र सरकार को बता दिया गया था कि राष्ट्रपति ट्रंप की पत्नी मेलानिया ट्रंप जब दिल्ली सरकार के स्कूल में पहुंचेंगी तो उनका स्वागत करने के लिए केजरीवाल और सिसोदिया वहां मौजूद रहेंगे.

इसे भी पढ़ें : धार्मिक स्वतंत्रता पर ट्रंप करेंगे मोदी से बात, ये मसला एकसाथ कई निशाने साधता है

रोड शो में गुजरात के सीएम रुपाणी को भी शामिल होने की इजाजत नहीं  

शुक्रवार तक यही कार्यक्रम था, लेकिन शनिवार सुबह दिल्ली सरकार को सूचना मिली कि मेलानिया स्कूल में तो जायेंगी, वे बच्चों से बातचीत करेंगी, मगर उनके साथ सीएम अरविंद केजरीवाल या मनीष सिसोदिया नहीं होंगे. उन्हें इस कार्यक्रम में भाग लेने की मंजूरी नहीं मिली है.

कांग्रेस नेता शशि थरूर ने अनुमति नहीं दिये जाने को लेकर कहा कि ऐसे आधिकारिक कार्यक्रमों में चुनिंदा रूप से आमंत्रित करने की शुरुआत मोदी सरकार ने की थी और यह हमारे लोकतंत्र के लिए ठीक नहीं है. राष्ट्रपति भवन और प्रधानमंत्री के रिसेप्शन के कार्यक्रमों से विपक्ष को बाहर रखना तुच्छ लगता है, लेकिन यह भारत को कमजोर करता है. बता दें कि अहमदाबाद में मोदी ट्रंप के रोड शो में गुजरात के सीएम विजय रुपाणी को भी शामिल होने की इजाजत नहीं दी गयी है.

इसे भी पढ़ें :  भारत दौरे के दौरान PM मोदी से धार्मिक स्वतंत्रता पर बात करेंगे डोनाल्ड ट्रंप, #CAA_NRC पर US चिंतित

Telegram
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
Close