National

वापस भारत लाया जायेगा मेहुल चोकसी, रद्द होगी एंटिगुआ की नागरिकता

New Delhi: पीएनबी घोटाले का आरोपी भगोड़े कारोबारी मेहुल चोकसी पर शिकंजा कस गया है. जल्द ही उसे भारत वापस लाया जायेगा. हालांकि, मेहुल चोकसी फिलहाल एंटिगुआ में रह रहा लेकिन उसकी नागरिकता जल्द ही रद्द होगी.

एंटिगुआ के प्रधानमंत्री गैस्टन ब्राउन ने बयान दिया है कि वह जल्द ही मेहुल चोकसी की नागरिकता रद्द करने वाले हैं. उनके मुताबिक, भारत की ओर से लगातार इसको लेकर दबाव बनाया जा रहा था. कैरेबियाई देश के इस फैसले के बाद मेहुल के बचने के रास्ते कम हो गए हैं. ऐसे में मेहुल चोकसी को भारत लाने का रास्ता भी साफ हो जाएगा.

इसे भी पढ़ेंःगुजरात राज्यसभा चुनाव पर कांग्रेस की याचिका को सुप्रीम कोर्ट ने किया खारिज

advt

भारत बना रहा लगातार दबाव

चौकसी के प्रत्यर्पण के लिए भारत लगातार कोशिश में है. चंद दिनों पहले ही जांच एजेंसियों ने चोकसी के बीमार होने के दावे पर एयर ऐम्बुलेंस के जरिए वापस लाने का प्रस्ताव भी दिया था.

हालांकि, इस प्रस्ताव पर चोकसी ने इनकार करते हुए कहा था कि वो जांच में मदद करने के लिए तैयार है, लेकिन वह स्वास्थ्य कारणों से भारत यात्रा नहीं कर सकता.

एंटीगुआ पीएम गेस्टन अल्फांसो ब्राउन ने कहा कि उनकी सरकार चोकसी को भारत प्रत्यर्पित करने से पहले उसके हर कानूनी रास्ते आजमाने का इंतजार कर रही है. एंटीगुआ की एक कोर्ट अगले महीने चोकसी से जुड़े मामले की सुनवाई करेगा.

14 करोड़ का पीएनबी घोटाला

PNB घोटाले के तहत नीरव मोदी और मेहुल चोकसी पर 14 हजार करोड़ रुपये के गबन का आरोप था. ये मामला 2018 में सामने आया था.

adv

इसे भी पढ़ेंःरिपोर्टः हाल के दिनों तेजी से बढ़ा हेट क्राइम, बीजेपी शासित राज्यों में 66% घटनाएं

इसके बाद से ही विपक्ष लगातार मोदी सरकार को घेरता रहा है. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने लोकसभा चुनाव के दौरान लगातार ये मुद्दा उठाया था.

लेकिन ऐसे में मेहुल चोकसी की वापसी होती है तो ये मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल की पहली बड़ी कामयाबी मानी जा सकती है.

इसे भी पढ़ेंःरिजर्व बैंक के डिप्टी गवर्नर विरल आचार्य का जाना तय था!

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button