National

#Meghalaya  : CAA के खिलाफ विरोध-प्रदर्शन में  तीन की मौत, 16 घायल, अर्धसैनिक बलों की 8 कंपनियां तैनात, कुछ इलाकों में कर्फ्यू

Shillong : मेघालय में कथित तौर पर नागरिकता संशोधन अधिनियम(CAA) को लेकर भड़की हिंसा में अज्ञात लोगों के एक गुट ने शनिवार को शिलांग के व्यस्ततम बाजार में चाकुओं से गैर मूलवासी लोगों पर हमला किया. इसमें एक की मौत हो गयी और नौ लोग घायल हो गये हैं. शिलांग के जियाव और लैंग्सिंग, और सोहरा (चेरापूंजी) शहर के ल्यू सोहरा बाजार में भी झड़पें होने की खबर है, जिससे कम से कम दो गैर-आदिवासी घायल हुए हैं. अब तक कुल मिलाकर तीन लोगों की मौत हो चुकी है.

इसे भी पढ़ें : #Amit_Shah कोलकाता पहुंचे,  लेफ्ट पार्टियों और छात्र संगठनों का एयरपोर्ट के बाहर जाेरदार विरोध, गो बैक के नारे लगे

 राज्यपाल रॉय ने शांत रहने और अफवाहों पर ध्यान न देने की अपील की

मेघालय के राज्यपाल तथागत रॉय ने लोगों से शांत रहने और अफवाहों पर ध्यान न देने की अपील की है. उन्होंने बयान में कहा, मैं मेघालय में सभी नागरिकों आदिवासी या गैर आदिवासियों से शांत रहने की अपील करता हूं. अफवाहें न फैलायें और उन पर ध्यान न दें. मुख्यमंत्री ने मुझसे बात की है. उन्होंने मुझे आवश्यक कदम उठाने का आश्वासन दिया है. अब सबसे बड़ी जरूरत कानून एवं व्यवस्था की स्थिति बनाए रखना है.

साथ ही मेघालय के गृह मंत्री एल रिमबुई ने इचामति में घटना की निंदा की है. उन्होंने कहा कि सच्चाई का पता लगाने के लिए घटना की मजिस्ट्रेट जांच के आदेश दिये गये हैं. इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार झड़प के दौरान हुई मौतों के बाद शेला और शिलांग के कुछ हिस्सों में कर्फ्यू लगा दिया गया है.

शुक्रवार को खासी छात्र संघ (केएसयू) और गैर-आदिवासियों के सदस्यों के बीच हुई झड़पों में बांग्लादेश की सीमा से सटे पूर्वी खासी हिल्स जिले के इचमती इलाके में एक टैक्सी चालक की हत्या कर दी गयी. सरकार ने एक मार्च की सुबह तक शिलांग बाजार और उसके आसपास के क्षेत्रों में कर्फ्यू की घोषणा की है. अब तक अर्धसैनिक बलों की 8 कंपनियां तैनात की जा चुकी हैं.

 

इसे भी पढ़ें :  #RSS की भाजपा नेताओं को नसीहत, भाषा पर रखें संयम, राजनीतिक जीवन में भगवान राम के वचन मर्यादा के पालन  की जरूरत  

हमले में शामिल लोगों की पहचान की जा रही है

शिलांग के सबसे पुराने बाजारों में शामिल बारा बाज़ार में हुए हमले को लेकर सहायक पुलिस महानिरीक्षक (IGP), मेघालय, जीके ईंगरई ने कहा कि सभी घायलों को सिविल अस्पताल ले जाया गया है. असम के बारपेटा जिले के 29 वर्षीय रूपचंद दीवान ने रास्ते में ही दम तोड़ दिया. पुलिस अधीक्षक क्लाउडिया लिंगवा ने पीटीआई को बताया कि हमले में शामिल लोगों की पहचान की जा रही है. इस क्रम में लैंग्सिंग में 21 वर्षीय आकाश अली को पीटा गया. सोहरा में भी एक अज्ञात गैरआदिवासी को स्थानीय लोगों ने पीटा. लिंगवा के अनुसार झड़पों में घायल होने वालों की संख्या 16 पहुंच गयी है.

मेघालय के बड़े हिस्से को सीएए से छूट दी गयी है

CAA पर चर्चा करने के लिए केएसयू की बैठक और इनर लाइन परमिट (आईएलपी) के लागू करने की मांग के बाद इचमती के लुरशाई हाइनेविता (35 साल) की मौत हुई. जान लें कि मेघालय के बड़े हिस्से को सीएए से छूट दी गयी है, क्योंकि व्यावहारिक रूप से पूरा राज्य छठी अनुसूची के दायरे में आता है. इनर लाइन परमिट (ILP) एक दस्तावेज है, जो गैर-स्थानीय लोगों के प्रवेश को नियंत्रित करता है. इसकी मांग मेघालय के विभिन्न आदिवासी समूहों की लंबे समय से कर रहे हैं. दिसंबर में CAA के पारित होने के बाद मेघालय विधानसभा में आईएलपी को लागू करने के लिए सर्वसम्मति से एक प्रस्ताव पास किया गया.

घटना के बाद केएसयू द्वारा दर्ज एक प्राथमिकी के आधार पर आठ लोगों को गिरफ्तार किया गया है. पूर्वी खासी हिल्स के जिला मजिस्ट्रेट के कार्यालय से जारीविज्ञप्ति में कहा गया कि शिलांग में कानून और व्यवस्था बिगड़ने की आशंका थी. पश्चिम जयंतिया हिल्स, ईस्ट जयंतिया हिल्स, ईस्ट खासी हिल्स, री भोई, वेस्ट खासी हिल्स और साउथ वेस्ट खासी हिल्स जिलों में मोबाइल इंटरनेट सेवाएं कर दी गयी है, जबकि एसएमएस भेजने की सीमा प्रति दिन पांच तक सीमित कर दी गयी है.

इसे भी पढ़ें : अमेरिका : #Donald_Trump को रैली में भारत याद आया, कहा, भारत में एक लाख ने स्वागत किया, यहां बस 15 हजार!

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button