JharkhandRanchiSports

Mega Sports Complex (4): JSSPS ने कराये 131 इवेंट्स, जुगाड़ टेक्नोलॉजी से किसी ने ली फ्री सेवा तो किसी की जेब हुई ढीली

Ranchi: रांची के होटवार स्थित स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स कैंपस में वर्ल्ड क्लास 9 स्टेडियम हैं. इनका फ्री में यूज किये जाने की हसरत सरकारी मुलाजिमों में ही नहीं, सक्षम लोगों और संस्थाओं में भी खूब दिखती है. जनवरी 2019 से फरवरी 2020 के दौरान स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स के अलग-अलग स्टेडियमों और वीवीआइपी गेस्ट हाउस की बुकिंग हुई. इनमें 131 इवेंट्स हुए. 75 फ्री में दिये गये जबकि 56 के लिए JSSPS ने निर्धारित राशि वसूली.

कायदे से सालभर में 30 दिनों तक ही स्टेडियम का फ्री में उपयोग सरकार के स्तर से किया जा सकता है. पर दमदार लोगों ने भी मुफ्त में यूज करने का जुगाड़ लगाया है.  ऐसे में यह चिंता बनी रहती है कि मुफ्त के स्टेडियम की चाह रखने से स्टेडियम का मेंटेनेंस चैलेंज ना बन जाये.

इसे भी पढ़ें – MNREGA: सरकार कैसे देगी रोजगार, काम देनेवाले कर्मी चले गये हड़ताल पर

Momentum Jharkhand सहित दूसरे प्रोग्राम के लिए स्टेडियम था फ्री 

JSSPS (झारखंड स्पोर्ट्स खेल प्रमोशन सोसाइटी) के जिम्मे स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स के आवंटन का जिम्मा है. स्पोर्ट्स और नन स्पोर्ट्स इवेंट्स के लिए JSSPS के पास स्टेडियम की Offline booking  की जाती है. राज्य सरकार और सीसीएल के बीच 2015 में हुए MoU के मुताबिक राज्य सरकार सालभर में 30 दिनों तक स्टेडियम का फ्री में उपयोग कर सकती है.

राज्य सरकार (कला संस्कति और खेलकूद तथा अन्य विभाग) अपनी जरुरतों के अनुसार स्टेडियम का यूज कर सकती है. बिजली बिल सभी आयोजकों के मामले में जरूरी समझा जाता है. इस आधार पर रघुवर सरकार में Momentum Jharkhand, लोकमंथन और दूसरे कई प्रोग्राम फ्री में ही हुए.

इसे भी पढ़ें – शादी का झांसा देकर नाबालिग को किया प्रेग्नेंट, HC ने नहीं दी गर्भपात की अनुमति

किसी खेल संघ को मुफ्त तो किसी को लगा चार्ज

जनवरी 2019 से फरवरी 2020 के बीच कुल 133 इवेंट्स के लिए स्टेडियमों की बुकिंग की गयी. हालांकि इनमें से 2 कैंसिल हो गये थे. इस तरह 131 इवेंट्स हुए जिनमें से 75 प्रोग्राम बिल्कुल फ्री हुए. कुछ के मामले में सीसीएल तो कुछ के मामले में साझा (झारखंड खेल प्राधिकरण) ने स्प़ॉन्सरशिप किया.

सीसीएल, सीएमपीडीआइ, लोकल एडमिनिस्ट्रेशन, विभिन्न सरकारी विभाग, सरकारी स्कूलों के अलावा आर्मी-एनसीसी को स्टेडियम और वीवीआइपी गेस्ट हाउस की सुविधाएं निःशुल्क दी गयीं. इसके अलावा समय समय पर कई खेल संघों को भी यही लाभ मिल चुका है. झारखंड वुशु संघ, रांची जिला बॉक्सिंग संघ, झारखंड खो खो संघ, सेपक टकरा, झारखंड ओलंपिक संघ और अन्य को स्पोर्ट्स इवेंट्स के लिए फ्री में आवंटन किया जा चुका है.

पर सबों को यह मौका नहीं बन सका है. झारखंड ताइक्वांडो संघ को नेशनल ताइक्वांडो चैंपियनशिप के लिये सवा दो लाख रुपये तक देने पड़े. झारखंड बैडमिंटन एसोसिएशन, झारखंड साइक्लिंग संघ, सुनील किस्पोट्टा (IMAA) को स्पोर्ट्स इवेंट्स के लिये चार्ज भरना पड़ा है. स्टेट कराटे चैंपियनशिप के लिए भी कराटे संघ को 40 हजार देने पडे. इंटर स्कूल नेशनल कराटे चैंपियनशिप के आयोजन में भी आयोजकों को जेब ढ़ीली करनी पड़ी.

वहीं, झारखंड योग संघ, सहज योग ट्रस्ट को सहज योग प्रोग्राम के लिए एक भी रुपया नहीं लगा. यही राहत योग विद्या प्राणिक हीलिंग फाउंडेशन ट्रस्ट को नहीं मिल सकी.

स्पोर्ट्स क़ॉम्प्लेक्स में 3 फिल्मों की शूटिंग

स्पोर्टस क़ॉम्प्लेक्स में किसी भी स्टेडियम का उपयोग पैसा देकर किया जा सकता है. चाहे वह स्पोर्ट्स इवेंट्स हो या नन-स्पोर्ट्स. पिछले एक साल में क़ॉम्पलेक्स में 3 फिल्मों की शूटिंग भी की जा चुकी है. इनमें ‘सब कुशल मंगल सावधान’, ‘जांबाज’ के लिए क्रमशः 35,400 और 1,84,080 रुपये जेएसएसपीएस ने वसूले.

इसके विपरीत फिल्म ‘बधाई हो बेटी हुई है’ के लिए साझा ने स्पॉन्सरशिप किया. जानकारी के अनुसार जिनका जुगाड़ सरकार के स्तर से बैठ जाता है, वे स्टेडियम का मुफ्त में लाभ उठा लेते हैं. जिनकी गोटी सेट नहीं हो पाती, उन्हें जेबें खाली पड़नी पड़ती हैं.

इसे भी पढ़ें – सरकारी स्कूलों में लगनेवाली फीस भी हो सकती है माफ, विभाग कर रहा विचार

Telegram
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
Close