न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

22 को बैठक, एन चंद्रबाबू नायडू भाजपा विरोधी साझा मंच बनाने की कवायद में जुटे

चंद्रबाबू नायडू ने कहा कि हमारी कोशिश भाजपा के खिलाफ लड़ने के लिए सभी को एक मंच पर लाना है.

18

NewDelhi : टीडीपी अध्यक्ष और आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू भाजपा विरोधी दल का एक साझा मंच व भविष्य की योजना बनाने को लेकर 22 नवंबर को दिल्ली में बैठक करने जा रहे हैं. बता दें कि कांग्रेस महासचिव अशोक गहलोत के साथ अपने रिवरफ्रंट आवास पर बैठक करने के बाद पत्रकारों को संबोधित करते हुए एन चंद्रबाबू नायडू ने कहा कि हमारी कोशिश भाजपा के खिलाफ लड़ने के लिए सभी को एक मंच पर लाना है.  नायडू ने कहा कि वह 19 या 20 नवंबर को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से मुलाकात करेंगे. बता दें कि अशोक गहलोत राहुल गांधी के दूत बनकर नायडू से मिले थे.

इससे पूर्व चंद्रबाबू नायडू ने पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवेगौड़ा से बेंगलुरु में की. यहां हुई बैठक में कर्नाटक के मुख्यमंत्री और देवेगौड़ा के बेटे एचडी कुमारस्वामी भी शामिल हुए. राजनीतिक गलियारों में इस कवायद को 2019 के चुनाव से पहले विपक्ष को एकजुट करने की पहल के तौर पर देखा जा रहा है.

इसे भी पढ़ें : मप्र विस चुनाव: कांग्रेस की बनी सरकार तो किसानों का दो लाख तक का कर्ज होगा माफ

नायडू ने प्रधानमंत्री पद के दावेदार के नाम पर चुप्पी साध ली

याद करें कि चंद्रबाबू नायडू ने दिल्ली में राहुल गांधी, शरद पवार, अखिलेश यादव और फारूक अबदुल्ला से भी मुलाकात की थी. मुलाकात के बाद आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू ने कहा कि एचडी देवगौड़ा के साथ मेरे अच्छे सबंध हैं. हमें इस देश को बचाने के लिए, लोकतंत्र को बचाने के लिए साथ आना होगा. इस क्रम में नायडू ने सीबीआई, आरबीआई का जिक्र किया. कहा कि ये संस़्थाएं मुश्किल में है. इसके लिए कौन जवाबदेह है. रेग्युलेटरी बॉडी पर भी खतरा है. ईडी, इनकम टैक्स का इस्तेमाल विपक्षियों पर हमला करने के लिए किया जा रहा है. चंद्रबाबू नायडू के अनुसार गठबंधन बनाने के लिए शुरुआती कदम अभी तक तय नहीं हुए हैं.  कहा कि मैंने मायावती, अखिलेश यादव से बातचीत की है.    गठबंधन की यह शुरुआती कवायद है. इसके बाद हम मिलकर काम करेंगे. हालांकि नायडू ने प्रधानमंत्री पद के दावेदार के नाम पर चुप्पी  साध ली.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: