न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

सरहुल की तैयारी को लेकर जनजातीय एवं क्षेत्रीय भाषा विभाग ने की बैठक, तैयारी समिति का पुनर्गठन

100

Ranchi: जनजातीय एवं क्षेत्रीय भाषा विभाग रांची यूनिवर्सिटी की बैठक सोमवार को की गयी. जिसमें सरहुल महोत्सव पर चर्चा की गयी. बैठक की अध्यक्षता विभागाध्यक्ष डॉ त्रिवेणी नाथ साहु ने की. इस दौरान डॉ नाथ ने पूर्व गठित समितियों के सदस्यों के तैयारियों और कठिनाइयों की जानकारी ली. साथ ही आश्वस्त किया कि कठिनाइयों का जल्द से जल्द समाधान निकाला जाएगा.

सरहुल महोत्सव पर सभी सहायक प्राध्यापकों, शोधार्थियों और छात्र छात्राओं को अनिवार्य रूप से उपस्थित होने का निर्देश दिया गया. मौके पर विभागाध्यक्ष ने कहा कि विभाग सिर्फ भाषा सीखने के लिए नहीं है. बल्कि यहां से छात्रों को संस्कृति और परंपरा की सीख भी लेनी चाहिए.

इसलिए जरूरी है कि ऐसे आयोजनों का छात्र भरपूर आनंद लें. उन्हेांने कहा कि छात्रों और शिक्षकों की उपस्थिति से ही हमारी संस्कृति समृद्ध होगी.

इसे भी पढ़ेंः सितंबर में हुई स्नातक सेमेस्टर एक की परीक्षा, अबतक रिजल्ट नहीं निकाल पायी रांची यूनिवर्सिटी

तैयारी समिति की बैठक 5 को

विभागाध्यक्ष ने जानकारी दी कि 5 अप्रैल को तैयारी समिति की बैठक होगी. इस बैठक का आयोजन पद्मश्री डॉ रामदयाल मुंडा सभागार में किया जायेगा. साथ ही जानकारी दी गयी कि सरहुल महोत्सव की तैयारी को देखते हुए रविवार 7 अप्रैल को भी विभाग खुले रहेंगे.

इसे भी पढ़ेंः वीवीपैट मिलान: निर्वाचन आयोग के हलफनामे पर एक हफ्ते में जवाब दे विपक्ष- SC

तैयारी समिति का पूनर्गठन किया गया

बैठक में विचार विमर्श एवं दिशा निर्देश के बाद पूर्व गठित सरहुल महोत्सव तैयारी समिति का पुनर्गठन किया गया. संपूर्ण कार्यक्रम समन्वयक डॉ हरि उरांव और सह समन्वयक डॉ उमेश नंदन तिवारी बनाये गये.

इसके साथ ही मीडिया प्रभारी डॉ. बीरेन्द्र कुमार महतो, स्वागत गीत नागपुरी भाषा डॉ. अशोक कुमार बड़ाईक, नृत्य दल की संयोजक मंडली में डॉ. अशोक कुमार बड़ाईक, किशोर सुरीन, डॉ. दमयन्ती सिंकू, डॉ. अंजु कुमारी साहु, पूजन सामग्री के लिए प्रभा हेम्ब्रोम और बंसती देवी़, साफ-सफाई कार्यभार आंनद वर्णमाला, अजय कुमार, सेवित देवगम, इगन रंजन कुमार, रितु कुमार और संजय रविदास को दिया गया.

फूल सज्जा के लिए सुभाष साहु, जय प्रकाश उरांव और निरंजन कुमार को कार्यभार मिला. इसके साथ ही अखड़ा व्यवस्था, अखड़ा साज सज्जा समेत अन्य कार्यो के लिए भी कार्यभार सौंपे गये.

इसे भी पढ़ेंः मतदाता जागरूकता के लिए महिलाओं ने किया रैंप वॉक, महिमा और इंदू बनी विजेता

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
क्या आपको लगता है हम स्वतंत्र और निष्पक्ष पत्रकारिता कर रहे हैं. अगर हां, तो इसे बचाने के लिए हमें आर्थिक मदद करें.
आप अखबारों को हर दिन 5 रूपये देते हैं. टीवी न्यूज के पैसे देते हैं. हमें हर दिन 1 रूपये और महीने में 30 रूपये देकर हमारी मदद करें.
मदद करने के लिए यहां क्लिक करें.-

you're currently offline

%d bloggers like this: