National

पीएम आवास पर बैठक, अमित शाह, राजनाथ सिंह और कृषि मंत्री तोमर कर रहे  किसान आंदोलन पर मंथन  

नये कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसानों और सरकार के बीच पांचवें दौर की वार्ता आज विज्ञान भवन में दोपहर दो बजे

विज्ञापन

 NewDelhi :  नये कृषि कानूनों का विरोध  कर रहे किसानों और सरकार के बीच पांचवें दौर की वार्ता आज शनिवार को विज्ञान भवन में दोपहर दो बजे होने जा रही है. वार्ता से पहले किसान आंदोलन को लेकर प्रधानमंत्री आवास पर बड़ी बैठक शुरू होने की खबर है.

बैठक में गृह मंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर शामिल हैं. बता दें कि बैठक से पूर्व केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा, आज किसानों के साथ दोपहर 2 बजे मीटिंग होनी है. मुझे उम्मीद है कि किसान सकारात्मक रूप से सोचेंगे और आंदोलन को खत्म कर देंगे

इसे भी पढ़ें : बिहार : गांधी मैदान में तेजस्वी यादव के धरने को नीतीश सरकार की ना…

किसानें की तीनों कृषि कानून रद्द करने की मांग

दो बजे होने वाली इस वार्ता में विभिन्न किसान संगठनों के प्रतिनिधियों और सरकार के मंत्री भाग शामिल होंगे.   वार्ता से पहले किसानों ने सिंघु बॉर्डर पर बैठक करके तीनों कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग की है.

जान लें कि किसान आंदोलन का आज 10 वां दिन है. दिल्ली-नोएडा बॉर्डर पर किसानों के साथ सुरक्षा बलों के जवान भी तैनात हैं. ठंड से बचने के लिए किसान अलाव का सहारा ले रहे हैं. किसानों ने कहा है कि केंद्र से बातचीत का आज कोई नतीजा नहीं निकला तो वे संसद का घेराव करेंगे.

इसे भी पढ़ें :  किसान आंदोलन में अब ब्रिटेन की इंट्री, 36 ब्रिटिश सांसदों ने कहा, भारत सरकार से बात करे ब्रिटेन

दिल्ली के सिंघु बॉर्डर पर किसानों को जमावड़ा है

दिल्ली के सिंघु बॉर्डर पर किसानों को जमावड़ा है.  किसान सड़क पर ही भोजन बना रहे हैं. दिल्ली के टिकरी बॉर्डर पर भी किसान जमे हुए है. किसानों के आंदोलन की वजह से जाम के हालात बने हुए हैं और लोगों को कई तरह की परेशानियां भी हो रही हैं, लेकिन किसान अपनी मांग पर अड़े हुए हैं. किसान केंद्र सरकार से नये कृषि कानून को वापस लेने की मांग कर रहे हैं.

किसानों ने पांचवीं बैठक से पहले सरकार से संसद का विशेष सत्र बुलाकर तीनों कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग की. किसानों ने चेतावनी दी कि अगर उनकी मांगे पूरी नहीं होतीं तो वो दिल्ली आने वाले बाकी रास्ते भी जाम कर देंगे. किसानों ने कहा कि मंडी खत्म ना हो, एमएसपी लागू रहे. उन्होंने 26 जनवरी को दिल्ली में परेड करने की चेतावनी भी दी.

इसे भी पढ़ें : कोलकाता : ममता बनर्जी ने धमकाया,  विपक्ष के संपर्क में रहने वाले नेता छोड़ दें तृणमूल कांग्रेस

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: