न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

मेरठः देश भर में फैले आक्रोश का शिकार हुए भाजपा के केद्रीय मंत्री और सांसद

शहीद के अंतिम संस्कार में जूता पहन पहुंचे केंद्रीय मंत्री, परिजनों की आपत्ति के बाद उतारे

941

Meerut : पुलवामा हमले के बाद, देशभर में गुस्से की लहर और उन्माद है. देशभक्ति से अलग, इस गुस्से और उन्माद को भाजपा नेताओं ने अपने तीखे भाषणों जरिये चरम सीमा तक पहुंचा दिया है. इस कड़ी में सबसे ताजा बयान मेघालय के राज्यपाल तथागत राय का है. जिसमें उन्होंने कहा है कि भारतीयों को कश्मीर नें बनी हर वस्तु का बहिष्कार करना चाहिये. कश्मीरियों के साथ किसी भी तरह का संबंध नहीं रखना चाहिए. इस तरह के बयानों का अप्रत्य़क्ष निशाना देशभर का अल्पसंख्यक वर्ग भी बन रहा है. लेकिन मेरठ में उसके उलट हो गया. भाजपा के फैलाये गुस्से और आक्रोश का शिकार, प्रत्यक्ष रूप से भाजपा के ही मंत्री और नेता बन गये. इनमें केद्रीय मंत्री सत्यपाल सिंह, सांसद साक्षी महाराज और योगी सरकार के कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह जैसे दिग्गज नेता शामिल हैं.

जूते पहनकर पहुंचे थे नेता, बार-बार हंसते हुए दिखायी पड़े

दरअसल पुलवामा आतंकी हमले के बाद सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ में तीन आतंकी मारे गये थे. इसमें मेजर समेत पांच जवान भी शहीद हुए थे. इन शहीदों में मेरठ के एक जवान अजय कुमार भी थे. मंगलवार को शहीद अजय कुमार का अंतिम संस्कार गाजियाबाद के निवाड़ी में किया गया. इस दौरान भारी जनसैलाब उमड़ा था. जवान के अंतिम संस्कार में भाजपा के कई मंत्री और नेता मौजूद थे. ये सभी लोग सिकर घाट पर जूते पहनकर बैठे हुए थे. अंतिम संस्कार के दौरान ही केन्द्रीय मंत्री सत्यपाल सिंह कई बार हंसते हुए देखे गये. इस कारण इन नेताओं को लोगों के गुस्से का शिकार होना पड़ा. पहले शोर-शराबा हुआ फिर इसने ने हंगामे का रूप ले लिया. स्थिति गंभीर होती देख इन नेताओं ने अपने-अपने जूते उतारे तब भीड़ किसी तरह शांत हुई. इस दौरान कई आला अधिकारी इन नेताओं के जूते समेटते हुए दिखाई पड़े. इसका वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है.

ये है पूरा मामला

जवान के अंतिम संस्कार में केन्द्रीय मंत्री सत्यपाल सिंह के अलावा योगी कैबिनेट के मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह, बीजेपी सांसद राजेन्द्र अग्रवाल और बीजेपी के व्यापार प्रकोष्ठ के अध्यक्ष विनीत शारदा समेत कई नेता मौजूद थे. ये लोग अंतिम संस्कार स्थल पर भी जूते पहनकर बैठे थे. जिसको लेकर स्थानीय लोगों और शहीद के परिजनों ने आपत्ति जताई. वहीं इस दौरान सत्यपाल हंसते हुए भी दिखाई पड़े. भाजपा नेताओं की हरकत देखकर ग्रामीण भड़क गए और हंगामा होने लगा तब जाकर नेताओं ने अपने जूते उतारे. इस बीच कई अधिकारी इन नेताओं के जूते समेटते हुए देखे गये. इस घटना को लोग पुलवामा हमले के बाद देशभर में पैदा हुए आक्रोश और उन्माद से जोड़कर देख रहे हैं. जिसकी शुरुआत भाजपा की ओर से की गयी है. और आज उसका खामियाजा भाजपा के नेताओं को ही भुगतना पड़ा.

पूरे प्रकरण में हो रही है भाजपा नेताओं की किरकिरी

इस पूरे प्रकरण के दौरान केंद्रीय मंत्री सत्यपाल सिंह हंसते नजर आए. वहीं साक्षी महाराज बकायदा हाथ को हिलाकर लोगों का अभिवादन करते नजर आ रहे थे. केंद्रीय मंत्री का फोटो और वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है. सोशल मीडिया पर भी लोगों ने बीजेपी सांसद को खूब खरी खोटी सुनाई. पूरे प्रकरण में भाजपा नेताओं की किरकिरी हो रही है.

पुलवामा मुठभेड़ में शहीद हुए थे अजय कुमार

बता दें कि पुलवामा में जैश के आतंकियों और सुरक्षाबलों की मुठभेड़ हुई थी. इसमें सुरक्षाबलों ने गाजी, कामरान समेत तीन आतंकियों को मार गिराया था. इस एनकाउंटर में शहीद हुए मेरठ के अजय कुमार मेरठ के बसी टींकरी गांव के रहनेवाले थे. उनके ढाई साल के बेटे आरव ने मंगलवार को जैसे ही अपने पिता को मुखाग्नि दी, हजारों आखें नम हो गईं.

दरअसल शहीद जवान के अंतिम संस्कार में केन्द्रीय मंत्री सत्यपाल सिंह के अलावा योगी कैबिनेट के मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह, बीजेपी सांसद राजेन्द्र अग्रवाल और बीजेपी के व्यापार प्रकोष्ठ के अध्यक्ष विनीत शारदा समेत कई नेता मौजूद थे. ये लोग अंतिम संस्कार स्थल पर भी जूते पहनकर बैठे थे. जिसको लेकर स्थानीय लोगों और शहीद के परिजनों ने आपत्ति जताई. वहीं इस दौरान सत्यपाल कई बार हंसते हुए दिखाई दिए. नेताओं की हरकत देखकर ग्रामीण भड़क गए और हंगामा होने लगा तब जाकर नेताओं ने अपने जूते उतारे.

 

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: