HEALTHRanchi

रिम्स में चरमरा सकती है स्वास्थ्य व्यवस्था, स्ट्राइक पर जाने की तैयारी कर रहे हैं जूनियर डॉक्टर

विज्ञापन

Ranchi : रिम्स में एक बार फिर स्वास्थ व्यवस्था चरमरा सकती है. एक बार फिर से इलाज कराने के लिए आनेवाले मरीजों को मुसीबतों का सामना करना पड़ सकता है. रिम्स के जूनियर डॉक्टरों ने इसका इशारा दे दिया है. दरअसल रिम्स के जूनियर डॉक्टर सातवां वेतनमान लागू कराने और इंटर्न का स्टाइपेंड एम्स के बराबर करने के अलावा रिम्स हॉस्टल कैंपस की सड़क 10 दिन के अंदर बनाने, गर्ल्स हॉस्टल की सुरक्षा बढ़ाये जाने, नये गर्ल्स हॉस्टल को हैंडओवर लेने, पीजी और एचएस की सीटों को बढ़ाने आदि की मांग कर रहे हैं. इस मांग को लेकर जूनियर डॉक्टरों ने शनिवार को रिम्स निदेशक का घेराव भी किया. जूनियर डॉक्टरों ने स्पष्ट कहा कि यदि उनकी मांगें नहीं मानी गयीं, तो सभी जूनियर डॉक्टर स्ट्राइक पर चले जायेंगे. जूनियर डॉक्टर ऐसोसिएशन के अध्यक्ष डॉ अजित ने बताया कि सोमवार को सभी डॉक्टर कला बिल्ला लगाकर ड्यूटी करेंगे, यदि सरकार उनकी मांगें नहीं मानती है, तो सभी जूनियर डॉक्टर हड़ताल पर चले जायेंगे और उसके बाद रिम्स में स्वास्थ्य व्यवस्था के जिम्मेदार विभाग और रिम्स निदेशक होंगे.

निदेशक को सौंपा है मांगपत्र

जूनियर डॉक्टरों ने बताया कि सोमवार की सुबह रिम्स के इमरजेंसी के पास एवं दोपहर में निदेशक कार्यालय के बाहर विरोध प्रदर्शन किया जायेगा. साथ ही, रिम्स के सभी रेजिडेंट डॉक्टर और इंटर्न डॉक्टर काला बिल्ला लगाकर काम करेंगे. जूनियर डॉक्टरों ने बताया कि यदि मांग नहीं मानी गयी, तो विरोध का स्वरूप बदलेगा. रिम्स निदेशक को जेडीए की ओर से एक मांग पत्र भी सौंपा गया है.

सरकार के समक्ष रखी जायेगी मांग : निदेशक

इस मामले पर रिम्स निदेशक डॉ डीके सिंह ने कहा कि सातवें वेतनमान की मांग को सरकार के समक्ष रखा जायेगा और विधिसम्मत इस पर कार्रवाई होगी.

इसे भी पढ़ें- राज्य की स्वास्थ्य व्यवस्था भगवान भरोसे : योगेंद्र प्रताप

Telegram
Advertisement

Related Articles

Back to top button
Close