HEALTHJharkhandRanchiTOP SLIDER

मेडिको सिटी में साढ़े तीन सौ करोड़ में बनेगा मेडिकल कॉलेज व हॉस्पिटल, 85 फीसदी सीटें झारखंडी छात्रों के लिए होंगी रिजर्व : हेमंत

  • ईटकी में स्थित टीबी सेनेटोरियम की जमीन पर पीपीपी मोड पर विकसित किए जाने वाले मेडिको सिटी को लेकर सीएम ने देखा प्रेजेंटेशन
  • मेडिको सिटी में मेडिकल कॉलेज और हॉस्पिटल, मेडिकल एजुकेशनल हब, सुपर स्पेशिएलिटी हॉस्पिटल और आयुर्वेद सेंटर बनाने की घोषणा

Ranchi  : राज्य की स्वास्थ्य व्यवस्था को लेकर मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने एक बड़ी घोषणा की है. उन्होंने कहा है कि राजधानी से सटे ईटकी में बनने वाले मेडिको सीट को अब मेडिकल हब बनाया जाएगा. यहां पर बनने वाले मेडिकल कॉलेज और हॉस्पिटल के निर्माण के लिए सरकार का बजट करीब 350 करोड़ रूपये का होगा. इन मेडिकल कॉलेजों में 85 प्रतिशत सीट राज्य के डोमिसाइल के विद्यार्थियों के लिए आरक्षित होगा.

20 प्रतिशत सीटों पर विद्यार्थियों का नामांकन स्वास्थ विभाग द्वारा तय किए गए फीस के आधार पर होगा. इन मेडिकल कॉलेज अस्पताल में 30 प्रतिशत बेड सेलेक्ट किए गए पर मरीजों के लिए आरक्षित होगा. सीएम ने यह बातें ईटकी में मेडिको सिटी विकसित किए जाने संबंधी स्वास्थ्य विभाग के प्रेजेंटेशन कार्यक्रम के दौरान कही. उन्होंने कहा कि मेडिको सिटी में मल्टी और सुपर स्पेशियलिटी चिकित्सा सुविधा से जुड़ी सभी तरह की सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएंगी, जिसका फायदा राज्यवासियों को होगा.

इसे भी पढ़ें – मिड डे मील : रसोइया बहनें बोलीं- नौ महीने से नहीं मिला है मानदेय, भूखे मरने की आ गयी है स्थिति

मेडिको सिटी प्रोजेक्ट में किया गया है बदलाव

हेमंत ने कहा कि ईटकी स्थित टीबी सेनेटोरियम की लगभग 70 एकड़ जमीन में पीपीपी मोड पर मेडिको सिटी को विकसित करने की प्रक्रिया लंबे समय से चल रही है. लेकिन अब तक इस दिशा में कोई ठोस कदम नहीं उठाया जा सका है.

इस वजह से मेडिको सिटी प्रोजेक्ट में कुछ बदलाव किए गए हैं, ताकि वर्तमान परिस्थितियों में इसे पीपीपी मोड पर विकसित करने की दिशा में निजी कंपनियों और संस्थानों को आकर्षित किया जा सके. इन्हें राज्य सरकार द्वारा कई रियायतें भी दी जाएंगी.

चार प्रोजेक्ट में विकसित किया जाएगा मेडिको सिटी, नर्सिंग के लिए भी सीट होगी आरक्षित

मुख्यमंत्री ने कहा कि मेडिको सिटी को अब नयी तर्ज पर विकसित किया जाएगा. टीबी सेनेटोरियम की जमीन पर मेडिको सिटी को चार  प्रोजेक्ट के आधार पर विभाजित कर विकसित किया जाएगा. इसके तहत प्रोजेक्ट A में मेडिकल कॉलेज और हॉस्पिटल,  प्रोजेक्ट B में मेडिकल  एजुकेशनल हब, प्रोजेक्ट C में सुपर स्पेशिएलिटी हॉस्पिटल और प्रोजेक्ट D में आयुर्वेद सेंटर बनाया जाएगा. मेडिकल एजुकेशन हब के तहत नर्सिंग में बीएससी और एमएससी की पढ़ाई होगी. बीएससी नर्सिंग में 100 सीटें और एमएससी नर्सिंग में 60 सीट होगी. इनमें से 15 प्रतिशत सीटें राज्य सरकार द्वारा चयनित किए गए विद्यार्थियों के लिए आरक्षित होगी.

इसे भी पढ़ें – चेंबर चुनाव ऑफलाइन कराने के लिए रांची डीसी से ली जायेगी अनुमति, किया जायेगा पत्राचार

सुपर स्पेशिएलिटी हॉस्पिटल के लिए 178 करोड रुपए का बजट

मेडिको सिटी में सुपर स्पेशिलिटी हॉस्पिटल और अन्य सुविधाओं के लिए 178 करोड़ का बजट है. यहां 30 प्रतिशत बेड वैसे मरीजों के लिए आरक्षित होंगे जिनका निशुल्क इलाज किया जाना है. मेडिको सिटी में 50 करोड़ रुपए की लागत से आयुर्वेद सेंटर विकसित किया जाएगा.

यहां भी 15 प्रतिशत सीटें वैसे विद्यार्थियों के लिए आरक्षित होंगी जिनका चयन राज्य सरकार द्वारा किया गया हो. यहां इलाज के लिए 30 प्रतिशत बेड राज्य कोटा के लिए आरक्षित होंगी.

इसे भी पढ़ें – 7 दशक बीत गये, कई सरकारें आयीं और गयीं, चाराडीह में बसे पूर्वी पाकिस्तान के शरणार्थियों को नहीं मिला रैयती हक का पर्चा

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: