Education & Career

107 रैंक पर ही भरी रिम्स में एमबीबीएस की सीट, हंगामे के साथ शुरू हुई मेडिकल काउंसिलिंग

Ranchi: झारखंड के मेडिकल कॉलेजों की एमबीबीएस, बीडीएस व आयुष चिकित्सा कोर्स में दाखिले के लिए हंगामे के साथ काउंसिलिंग की शुरुआत हुई. एक ही दिन में लगभग 3 हजार विद्यार्थियों को काउंसिलिंग के लिए बुलाया गया था. दोपहर एक बजे तक रिम्स में सामान्य कोटे की एमबीबीएस सीट भर चुकी थी. मौके पर विद्यार्थियों ने काउंसिलिंग में धांधली होने की बात को लेकर हंगामा कर दिया.

देखें वीडियो-

इसे भी पढ़ें – राजधानी रांची की 22 किमी लम्बी मुख्य सड़क में 72 गड्ढे, अधिकांश जानलेवा

advt

बिहार के छात्रों के शामिल होने की कह रहे थे बात

अभिभावकों का आरोप था कि झारखंड कंबाइंड बोर्ड की ओर से जो मेरिट लिस्ट तैयार की गयी है, उसमें अधिकतर  छात्र बिहार के अलावा दूसरे राज्यों के हैं. चूंकि इनकी रैंक अच्छी है, ऐसे में झारखंड के मूल छात्रों की सीट पर ये कब्जा जमा रहे हैं. अभिभावकों ने कहा कि बिहार व झारखंड दोनों ही जगहों पर मेरिट लिस्ट बनाने के लिए आवेदन मंगाये गये थे. जिसमें स्थानीयता प्रमाणपत्र की मांग की गयी थी. एक विद्यार्थी दोनों ही राज्यों में स्थानीयता प्रमाणपत्र प्रस्तुत कर मेरिट लिस्ट में शामिल हो गया है.

इसे भी पढ़ें – आम बजट : अमीरों पर टैक्स बढ़ा, मीडिल क्लास का टैक्स स्लैब नहीं बदला, बिजली, पानी पर फोकस

रिम्स व एमजीएम की एमबीबीएस जेनरल सीट भरी

खबर लिखे जाने तक रिम्स रांची व एमजीएम जमशेदपुर की एमबीबीएस जेनरल कोटे की सीटें भर चुकी थीं. काउंसिलिंग से बाहर निकल रहे विद्यार्थियों ने बताया कि रिम्स में एमबीबीएस जेनरल कोटे की सीट 107 रैंक पर ही भर गयी थी. पीएमसीएच धनबाद में सात सीटें खाली थीं. रिम्स के डेंटल कॉलेज में 16 सीटें सामान्य कोटे के विद्यार्थियों के लिए बची हुई थीं.

इसे भी पढ़ें – झारखंड सरकार की टेक्सटाइल नीति के तहत लगी हैं तीन इंडस्ट्रीज, एक का उद्घाटन अगले माह : के रविकुमार

adv
advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button