JharkhandLead NewsRanchi

मेयर ने नगर आयुक्त को दी चेतावनी, 2 दिनों के अंदर बुलायें बैठक, नहीं तो पीआइएल

बुधवार को बैठक के लिए मेयर करती रहीं इंतजार

Ranchi : बुधवार को मेयर आशा लकड़ा की अध्यक्षता में सफाई, सैनिटाइजेशन और फॉगिंग को लेकर बैठक बुलायी गयी थी. लेकिन नगर आयुक्त एक बार फिर बैठक में शामिल नहीं हुए.

दोपहर 2 बजे से होनेवाली बैठक के लिए मेयर अपने कार्यालय में इंतज़ार करती रहीं फिर भी न तो नगर आयुक्त पहुंचे और न ही नगर निगम के अन्य अधिकारी. मेयर ने कहा कि नगर आयुक्त राज्य सरकार के इशारे पर कार्य कर रहे हैं.

उन्होंने कहा कि आपदा की स्थिति को देखते हुए नगर आयुक्त 2 दिन के अंदर बैठक बुलायें नहीं तो उनके खिलाफ पीआइएल दायर किया जायेगा.

इसे भी पढ़ें:कोरोना के बढ़ते मामलों को लेकर छत्तीसगढ़ सरकार का बड़ा फैसला, रायपुर में 9 से 19 अप्रैल तक लगा लॉकडाउन

मनमानी करना चाहते हैं आयुक्तः मेयर

मेयर ने कहा कि नगर आयुक्त के आचरण व व्यवहार से यह स्पष्ट है कि वे सिर्फ अपनी मनमानी करना चाहते हैं. यदि उन्हें बैठक नहीं करानी है तो लिखित में जवाब दें कि किस कारण बुधवार को बुलायी गयी बैठक में वे और उनके अधीनस्थ अधिकारी नहीं आये?

शहरी क्षेत्र में कोरोना का संक्रमण तेजी से फैल रहा है. ऐसे हालात में भी नगर आयुक्त को कोई चिंता नहीं है. रांची के उपायुक्त समेत अन्य प्रशासनिक अधिकारी बखूबी अपनी जिम्मेदारी निभा रहे हैं. 2020 में तत्कालीन नगर आयुक्त मनोज कुमार ने मेयर के निर्देशों का अनुपालन कर हुए बिंदुवार निगम की तैयारी का ब्योरा दिया था.

रांची नगर निगम के अधिकारी, कर्मचारी व जनप्रतिनिधियों ने सेवा भाव से कार्य किया था, तभी हम कोरोना संक्रमण को रोकने में सफल हुए थे. लेकिन नगर आयुक्त के आचरण से ऐसा प्रतीत हो रहा है कि उन्हें शहरवासियों के सेहत की न तो कोई चिंता है और न ही अपनी जिम्मेदारी का अहसास.

इसे भी पढ़ें:Ranchi News: यहां होल्डिंग टैक्स जमा करना भी इतना आसान नहीं, ये रांची नगर निगम है

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: