न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

एक बार डोरंडा के नीम चौक पधारिये मेयर साहिबा, ऊबड़म-खाबड़म-कीचड़म-मच्छरम-सुस्वागतम

662

Nitesh Ojha

Ranchi : ऊबड़-खाबड़ सड़क. सड़क पर बने छोटे-बड़े गड्ढे और गड्ढों में भरा पानी. चारों तरफ फैली गंदगी, खुली नालियां और हर तरफ कीचड़ ही कीचड़. यह स्थिति किसी ग्रामीण क्षेत्र की नहीं, बल्कि झारखंड हाई कोर्ट के पीछे स्थित इलाके की है. बात हो रही है डोरंडा के वार्ड नं 45 और 49 के एरिया में फैले मनीटोला में यूनुस चौक से लेकर नीम चौक तक की सड़क की. इस सड़क पर पैदल चलना तो दूर, दोपहिया-चारपहिया वाहनों का चलना भी मुश्किल है. इस सड़क की जर्जरता ऐसी है कि अगर कोई गर्भवती महिला किसी लग्जरी कार में भी सवार होकर इस सड़क से गुजरे, तो उसके पेट में पल रहे बच्चे की जान पर बन आये. ऐसा भी नहीं कि यह स्थिति अभी-अभी हुई है, सात-आठ सालों से भी अधिक समय से इस इलाके के लोग इस सड़क के खस्ताहाल और रांची नगर निगम की अनदेखी की मार झेल रहे हैं.

इसे भी पढ़ें- असिस्टेंट प्रोफेसर बहाली को लेकर विरोध-प्रदर्शन, झारखंड बोर्ड के छात्रों की अनदेखी का आरोप

सड़क पर फैला रहता है कीचड़, पैदल तो दूर, गाड़ियों से चलना भी मुश्किल

झारखंड हाई कोर्ट के पीछे स्थित यूनुस चौक से नीम चौक तक इस सड़क की हालत काफी जर्जर है. इससे लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है. स्थानीय लोगों का कहना है कि सड़क की हालत बिल्कुल जर्जर हो गयी है. सड़क पर लगाया गया कंक्रीट निकलकर बाहर आ गया है, जिससे सड़क में कई जगह छोटे-बड़े गड्ढे बन गये हैं. इन गड्ढों की वजह से इस सड़क पर दोपहिया-चारपहिया वाहन से चलने में भी काफी परेशानी होती है. बरसात में यह सड़क पूरी तरह से कीचड़मय हो जाती है, जिससे लोगों का इस सड़क पर पैदल चलना भी अपनी जान को खतरे में डालने के समान हो जाता है. लोगों ने आक्रोश व्यक्त करते हुए बताया कि कई बार इस सड़क पर बने गड्ढों में वाहन दुर्घटनाग्रस्त हो चुके हैं, इसके बावजूद स्थानीय पार्षद को इसकी तनिक भी चिंता नहीं है.

इसे भी पढ़ें- निवेश के माहौल के लिहाज से 20 राज्यों में झारखंड नीचे से दूसरा, बिहार अंतिम पायदान पर

कई बार निकाला जा चुका है टेंडर, फिर भी नहीं हो सकी मरम्मत

स्थानीय लोगों के मुताबिक, इस जर्जर सड़क की मरम्मत के लिए तीन से चार बार टेंडर निकाला जा चुका है. इस बार टेंडर राम कुमार नामक ठेकेदार के हाथ लगा है. लेकिन, अभी तक एक इंच भी इस सड़क की मरम्मत या निर्माण का काम नहीं किया गया है. मरम्मत-निर्माण का काम हो भी रहा है या नहीं, यह देखने-जानने में रांची नगर निगम को भी कोई दिलचस्पी नहीं है. रांची नगर निगम की इसी अनदेखी का नतीजा है कि सात-आठ सालों से लगातार यह सड़क इलाके के लोगों के लिए मुसीबत बनी हुई है. स्थानीय लोगों और वार्ड नं 49 की पार्षद जमीला खातून का आरोप है कि टेंडर मिलने के बाद ठेकेदार ने अभी तक सड़क मरम्मत का काम शुरू तक नहीं किया है.

इसे भी पढ़ें- रांचीः मॉड्यूलर टॉयलेट की योजना अधर में लटकी, यात्रियों को झेलनी पड़ रही परेशानी

चिकनगुनिया-डेंगू फैलने का लोगों को सता रहा है डर

यूनुस चौक से नीम चौक तक सड़क पर बने गड्ढों में जलजमाव हो गया है. चारों तरफ गंदगी और कीचड़ के फैलने से लोग परेशान हैं. स्थानीय निवासी मोहम्मद राशिद का कहना है कि यहां सड़क की हालत काफी दयनीय है. चारों तरफ गंदगी फैली हुई है. सड़क पर जलजमाव होने से मच्छर फैलने की स्थिति बनती जा रही है. ऐसे में यहां डर बना हुआ है कि गंदगी के कारण कहीं इस इलाके में भी हिंदपीढ़ी की तरह चिकनगुनिया और डेंगू की बीमारी न फैल जाये.

इसे भी पढ़ें- 91 सैंपल की जांच में 57 चिकनगुनिया और डेंगू के 3 नये मामले सामने आए

बच्चों को हो रही है परेशानी

मनीटोला पुल के पास स्थित ख्वाजा नगर में अल हेरा पब्लिक स्कूल स्थित है. इस स्कूल की प्रिंसिपल नौशाद परवीन कहती हैं कि बरसात होते ही पूरे स्कूल परिसर के आसपास कीचड़ और गंदगी फैल जाती है. सड़क की जो हालत है, वह बयान करना भी मुश्किल है. चारों तरफ जिस तरह जलजमाव, कीचड़ और गंदगी का फैलाव है, उससे बच्चों के बीमार होने का खतरा बना रहता ही है, दुर्घटना की भी संभावना बनी रहती है.

इसे भी पढें- धनबाद : दशरथ मांझी की कहानी को दोहरा रहा भेलवाबेड़ा, दो किमी पहाड़ काट सड़क बनाने में जुटे ग्रामीण

सड़क की स्थिति को लेकर क्या कहना है पार्षद का

मनीटोला के यूनुस चौक से नीम चौक तक की सड़क की जर्जर हालत पर वार्ड नं 49  की पार्षद जमीला खातून का कहना है, “हमलोग लगातार इस ओर प्रयास कर रहे हैं कि जल्द सड़क का निर्माण पूरा हो. लेकिन, समस्या यह है कि जिस ठेकेदार को (राम कुमार) टेंडर दिया गया है,  उसने अभी तक काम ही शुरू नहीं किया है. कई बार इस बात को प्रशासन के समक्ष रखने का प्रयास किया गया, लेकिन हालत जस की तस बनी हुई है.” जमीला खातून ने बताया कि परिसीमन के कारण वार्ड का क्षेत्रफल एक विधानसभा क्षेत्र जैसा हो गया है,  हालांकि इस मुद्दे पर मेयर से बात हुई है. उन्होंने इसपर उचित कार्रवाई करने का आश्वासन दिया है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: