JharkhandRanchi

अड़ियल रवैया पर उतर आयी है मेयर आशा लकड़ा, पद से दें इस्तीफा : पार्षद संघ

Ranchi: निगम बोर्ड की विशेष बैठक बुलाने को लेकर मेयर और 43 पार्षदों के बीच उठा विवाद थमने का ना नहीं ले रहा है. इसी विवाद को लेकर सभी पार्षदों ने निगम कार्यालय के मुख्य गेट में एक दिवसीय धरना दिया. पार्षदों का कहना है कि मेयर अब अपनी मनमर्जी पर उतर आयी है. जब नगरपालिका अधिनियम के तहत कुल पार्षदों के 1/5 सदस्यों को बोर्ड की विशेष बैठक बुलाने का अधिकार हैं, तो मेयर क्यों नहीं विशेष बैठक बुलाती है. मालूम होता है कि धरने पर बैठे पार्षद शहर की साफ-सफाई को लेकर एक विशेष बैठक बुलाने के पक्ष में थे. हालांकि विवाद का एक मुख्य मामला रांची नगर निगम के कार्यपालक अधीक्षक नरेश कुमार सिन्हा के सेवाकाल में वृद्धि करने का भी है. नरेश कुमार सिन्हा इस माह के अंतिम 31 तारीख को सेवानिवृत्त होने वाले हैं.

इसे भी पढ़ें- अशोक नगर : नोटिस-नोटिस का गेम खेल रहा है रांची नगर निगम

 पद से इस्तीफा दे मेयर : अरुण झा 

वार्ड नंबर 26 के पार्षद अरुण झा का पूरे मामले पर कहना है कि मेयर आशा लकड़ा अब शहर के सभी पार्षदों की बात नहीं सुनती है. जब भी पार्षद अपने अधिकारों को लेकर बोर्ड की विशेष बैठक बुलाने की बात रखते हैं तो मेयर इस मांग को सिरे से नकार देती है. पार्षद का कहना है कि शहर के सभी गली-मोहल्ले की साफ-सफाई की जानकारी मेयर से ज्यादा हम पार्षदों को है. इसके बावजूद मेयर का हम पार्षदों को कोई महत्ता नहीं देना यह साबित करता है कि मेयर का अब रांची जनता के प्रति किसी तरह की कोई संवेदना नहीं बची है. ऐसे में उन्हें तत्काल ही अपनी पद से इस्तीफा दे देना चाहिए. निगम के कार्यालय अधीक्षक नरेश सिन्हा को अतिरिक्त सेवाकाल देने के पार्षदों की मांग पर उनका कहना था कि वर्तमान में निगम में चार से पांच ऐसे सहायक ही बचे हैं, जो कि काफी अनुभवी है. इस माह के अंत में वर्तमान कार्यालय अधीक्षक सेवानिवृत्त होने वाले हैं. ऐसे में निगम का कार्य प्रभावित हो सकता है. इसलिए हम सभी पार्षदों की मांग है कि इन्हें अतिरिक्त सेवाकाल दिया जाए और इनके अंदर एक ट्रेनी को रखा जाए, ताकि वह निगम के कार्य को पूरी तरह से समझ सके. इससे शहर की जनता के काम में किसी तरह की कोई परेशानी नहीं आ पाएगी.

इसे भी पढ़ें- रांची डीसी ने कहा पहाड़ी मंदिर को लेकर मेकॉन ने कोई चिट्ठी नहीं लिखी, न्यूज विंग अपनी खबर पर कायम

मेयर ने पार्षदों की मांग को किया खारिज

घरने पर बैठे वार्ड नंबर 39 के पार्षद वेद प्रकाश का कहना है कि करीब 43 पार्षदों ने हस्ताक्षर युक्त एक पत्र नगर आयुक्त को लिखा था. पत्र के माध्यम से पार्षदों ने शहर की साफ-सफाई को विशेष बैठक बुलाने की बात मेयर से किया था. मेयर ने पार्षदों की इस मांगों को पूरी तरह खारिज कर दिया. इसी के विरोध में पार्षद संघ मेयर और रांची नगर आयुक्त के खिलाफ एकदिवसीय धरना प्रदर्शन पर बैठे हैं. निगम के कार्यालय अधीक्षक नरेश सिन्हा को अतिरिक्त सेवाकाल देने की मांग पर वार्ड नंबर 27 के पार्षद ओमप्रकाश का कहना था कि वे निगम के एक अच्छे जानकार व्यक्ति हैं. जब तक इसी पद पर किसी अन्य जानकार व्यक्ति को चयन नहीं कर लिया जाता है, तब तक हम पार्षदों की मांग हैं कि इन्हें अतिरिक्त छह माह का सेवाकाल दे दिया जाए.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Related Articles

Back to top button