JharkhandRanchi

सफाई व्यवस्था की बदहाली पर भड़कीं मेयर आशा लकड़ा, स्वास्थ्य पदाधिकारी से पूछा, आखिर क्यों नहीं हो रहा कचरे का उठाव

♦मेयर ने की निगम की 26 शाखाओं की समीक्षा बैठक, पूछा 150 ट्रैक्टर निगम के पास तो क्यों नहीं उठ रहा शहर से कचरा

Ranchi : राजधानी में सफाई व्यवस्था की चरमराती स्थिति को देखते हुए मेयर आशा लकड़ा ने गुरुवार को निगम की 26 शाखाओं की एक समीक्षात्मक बैठक की. बैठक में मेयर ने सफाई व्यवस्था को लेकर सवाल खड़ा किया. उन्होंने पूछा कि निगम के पास जब 150 से अधिक ट्रैक्टर हैं. छोटे-बड़े वाहन हैं तो शहर से कचरा क्यों नहीं उठ रहा है. काम में लापरवाही के लिए बैठक में उपस्थित मेयर, डिप्टी मेयर संजीव विजयवर्गीय व नगर आयुक्त ने हेल्थ ऑफिसर से सवाल पूछा. सवाल सिर्फ यही था कि निगम के तरफ उन्हें सफाई को लेकर हर तरह का संसाधन दिया गया है, तो ऐसे में वे स्वास्थ्य शाखा की प्रभारी होने के नाते क्या कदम उठा रही हैं.

advt

बैठक में स्वास्थ्य अधिकारियों को स्पष्ट निर्देश दिया गया कि बरसात को देखते हुए वे स्वयं शहर का भ्रमण करें. देखें और बतायें कि शहर की सफाई व्यवस्था क्या वाकई में ठीक-ठाक है. इसके अलावा डॉ किरण को निर्देश दिया कि सफाई व्यवस्था के सिस्टम में वे बदलाव करें. 60 प्रतिशत ट्रैक्टरों से सुबह 6 से दोपहर 2 बजे तक काम लिया जाये. दिन के 2 बजे के बाद 40 प्रतिशत ट्रैक्टरों को सफाई कार्य में लगाया जाये.

इसे भी पढ़ें – Corona: 2 जुलाई को कुल 34 नये संक्रमित मिले, झारखंड में हुए 2559

डीजल के घोटाले का झिरी में चल रहा है खेल

बैठक में मेयर व नगर आयुक्त ने कहा कि नगर निगम के डंपिंग यार्ड झिरी के कर्मचारियों ने एक गैंग सा बना लिया है. यार्ड में आनेवाले वाहनों की निगरानी के लिए निगम ने पहले से ही यहां सीसीटीवी व धर्मकांटा लगाया है. लेकिन देखा जाता है कि दोनों ही मशीन बार-बार खराब हो जाती है. इससे साफ है कि निगम के कर्मचारी की मिलीभगत से झिरी की मशीनें खराब हो रही हैं. इसके पीछे का सारा खेल डीजल में घोटाले का है. बैठक में झिरी में प्रतिनियुक्त ऐसे कर्मचारियों को तत्काल हटाने का निर्देश दिया.

इसे भी पढ़ें – “What Hemant Soren thinks today, India thinks tomorrow” : सुप्रियो भट्टाचार्य

चिकनगुनिया व मलेरिया से बचाव को लेकर सभी वार्डों में हो स्प्रे 

मेयर आशा लकड़ा ने कहा कि कोरोना और बरसात को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग को विशेष तौर पर निर्देश दिया गया. कहा गया कि चिकनगुनिया व मलेरिया से बचाव को लेकर पूरे वार्डों में स्प्रे किया जाए. मेयर ने लोगों से अपने-अपने घरों में बरसात का पानी जमा नहीं करने की बात कही. इससे मच्छर व चिकनगुनिया का लार्वा पनपते हैं. मेयर ने निर्देश दिया कि वार्डों में अधिक से अधिक कचरा उठाने के लिए अब दो पालियों में टैक्टर को चलाया जाये. वार्डों में जीपीएस युक्त ही टैक्टर चलाने का निर्देश मेयर ने दिया. उन्होंने कहा कि झिरी में कचरे का डंपिग करने के दौरान दो-तीन स्थानों पर इसका निरीक्षण किया जाये.

निगम की चिन्हित जमीन का नक्शा बना कर जल्द जमा करने का आदेश

समीक्षात्मक बैठक में मेयर ने भू-संपदा शाखा को निर्देश दिया कि निगम की चिन्हित जमीन का नक्शा बना कर जल्द जमा किया जाये. वहीं सर्वे की भूमि को डिजिटल करने का आदेश भी मेयर ने दिया. मेयर ने बताया कि इस वित्तीय वर्ष में रांची नगर निगम को डिजिटल पेमेंट के माध्यम से 5 करोड़ जमा मिले हैं. इसे और बढ़ावा देने की बात भी मेयर ने की, ताकि जन्म और मृत्यु प्रमाण पत्र में बिचौलिये की भूमिका खत्म होने के साथ आवेदक स्वयं आवेदन कर अविलंब ही प्रमाण पत्र बनवा सकें.

इसे भी पढ़ें – पश्चिमी सिंहभूम जिला हुआ कोरोना मुक्त, 6 लोग कोविड अस्पताल से डिस्चार्ज

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: