न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

मायावती की कांग्रेस से नाराजगी पर बोले तेजस्वी, समय का कीजिए इंतजार

दिग्विजय पर मायावती के आरोपों पर कुछ भी बोलने से बचते नजर आये नेता प्रतिपक्ष

279

Patna: आरजेडी सुप्रीमो लालू यादव और उनके बेटे तेजस्वी यादव हमेशा से महागठबंधन के पक्ष में रहे हैं. उनका मानना है कि यूपी में अगर बसपा-सपा साथ आ जाये और बिहार में विपक्ष एक मंच पर हो तो भाजपा के विजय रथ को रोका जा सकता है. लेकिन जिस तरह से बसपा प्रमुख मायावती ने 2019 से पहले कांग्रेस से किनारा किया है, उससे बिहार के नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव भी सकते में हैं.

इसे भी पढ़ें – पाकुड़ शहर में डीसी के खिलाफ पोस्टरबाजी, जूनियर इंजीनियर और खनन पदाधिकारी के साथ मिलकर भ्रष्टाचार…

ज्ञात हो कि मायावती ने राजस्थान, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ के विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस को झटका देते हुए गठबंधन से इनकार किया है. वही महागठबंधन को लेकर पूछे गये सवाल पर तेजस्वी सीधे जवाब देने से बचते नजर आये.

समय का कीजिए इंतजार- तेजस्वी

आईआरसीटीसी होटल आवंटन मामले में दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट में सुनवाई के लिए दिल्ली जाते तेजस्वी से जब मायावती के महागठबंधन से किनारा करने की बात पर सवाल किया तो उन्होंने बस इतना ही कहा कि समय का इंतजार किजीए, सब पता चल जायेगा. वही दिग्विजय सिंह पर मायावती के आरोपों पर उन्होंने कुछ भी कहने से इनकार कर दिया.

इसे भी पढ़ेंःप्रणव नमन कंपनी ने अच्छी क्वालिटी के कोयले में मिलाने के लिए कटकमसांडी रेलवे कोल साइडिंग में जमा कर रखा है हजारों टन चारकोल (देखें व पढ़ें ग्राउंड रिपोर्ट)

उल्लेखनीय है कि विपक्षी एकता की कोशिश कर रहे तेजस्वी की उम्मीदों को मायावती ने बड़ा झटका दिया है. वही बुधवार को बसपा प्रमुख ने कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा. इस दौरान उन्होंने कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह को बीजेपी का एजेंट भी बता डाला. गौरतलब है कि उस दिन दिग्विजय सिंह पटना में ही थे, और तेजस्वी यादव से उनकी मुलाकात भी हुई थी.

इसे भी पढ़ें – IAS अफसरों का बड़ा तबका महसूस कर रहा असहज, ऑफिसर ने बर्खास्त होना समझा मुनासिब, लेकिन वापसी मंजूर…

इन उलझनों के बीच महागठबंधन की कोशिशों में जुटे तेजस्वी पूरी तरह से पशोपेश में हैं. बिहार में कांग्रेस और राजद के पुराने संबंध है, ऐसे में किसी तरह की बयानबाजी कर वो कांग्रेस से अपने रिश्ते बिगाड़ा नहीं चाहते. कुल मिलाकर देखा जाये तो राजद नेता तेजस्वी फिलहाल ‘वेट एन वॉच’ की भूमिका में नजर आते हैं

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: