न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

मथुरा : कृष्ण का जन्म कहां हुआ, क्या वे भगवान थे? आरटीआई कार्यकर्ता ने प्रमाण मांगा

मथुरा के अधिकारी इन दिनों परेशान हैं कि भगवान कृष्ण के जन्म का प्रमाण वे कहां से लायें.  बता दें कि छत्तीसगढ़ के एक सूचनाधिकार कार्यकर्ता ने मथुरा के जिला प्रशासन को मगजमारी करने को विवश कर दिया है.

216

Mathura : मथुरा के अधिकारी इन दिनों परेशान हैं कि भगवान कृष्ण के जन्म का प्रमाण वे कहां से लायें.  बता दें कि छत्तीसगढ़ के एक सूचनाधिकार कार्यकर्ता ने मथुरा के जिला प्रशासन को मगजमारी करने को विवश कर दिया है. आरटीआई कार्यकर्ता ने भगवान कृष्ण के जन्म, उनके गांव, उनके भगवान होने और लीलाओं आदि के संबंध में जानकारियों के साथ सबूत भी मांगा है. मथुरा के अधिकारी इसे लेकर फिलहाल असमंजस में हैं कि वे क्या जवाब दें. छत्तीसगढ़ के आरटीआई कार्यकर्ता जैनेन्द्र कुमार गेंदले ने जिला प्रशासन से पूछा है कि तीन सितंबर को देशभर में कृष्ण जन्माष्टमी के मौके पर अवकाश घोषित कर भगवान कृष्ण का जन्मदिन मनाया गया. इसलिए कृपया उन्हें भगवान श्रीकृष्ण के जन्म प्रमाणपत्र की प्रमाणित प्रतिलिपि उपलब्ध कराई जाएये जिससे यह सिद्ध हो सके कि उनका जन्म उसी दिन हुआ था.

इसे भी पढ़ें :  माकपा के अखबार दैनिक देशार कथा को बंद करने का आदेश, माकपा भाजपा पर हुई हमलावर

भगवान कृष्ण का गांव कौन सा था? उन्होंने कहां-कहां लीलाएं कीं

जैनेन्द्र कुमार ने पूछा कि क्या वे सच में भगवान थे? और थे, तो कैसे? उनके भगवान होने की प्रमाणिकता भी उपलब्ध कराई जाये; गेंदले ने यह भी पूछा है कि भगवान कृष्ण का गांव कौन सा था? उन्होंने कहां-कहां लीलाएं कीं आदि-आदि. गेंदले के अजीबोगरीब सवालों से पसोपेश में पड़े एडीएम (कानून एवं व्यवस्था) रमेश चंद्र का कहना है कि हिन्दू धर्म से संबंधित तमाम ग्रंथों, पुस्तकों आदि में इस प्रकार के वर्णन मौजूद हैं कि भगवान कृष्ण का जन्म द्वापर युग में तत्कालीन शौरसेन (जिसे वर्तमान में मथुरा के नाम से जाना जाता है) जनपद में हुआ था और उन्होंने यहां के राजा कंस का वध करने के बाद द्वारिका गमन से पूर्व पग-पग पर अनेक लीलाएं की थीं. धार्मिक आस्था से जुड़े ऐसे सवालों के क्या जवाब दिये जाएं, इस पर विचार हो रहा है.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: