न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें
bharat_electronics

रुपे पेमेंट सिस्टम से मात खाये मास्टर कार्ड ने ट्रंप से की मोदी की शिकायत  

भारत के एक बिलियन डेबिट और क्रेडिट कार्ड में से आधे से अधिक अब रुपे पेमेंट सिस्टम के तहत काम कर रहे हैं.

64

 NewDelhi  : न्यूयॉर्क स्थित कंपनी मास्टर कार्ड भारतीय पेमेंट नेटवर्क रुपे से परेशान है. मास्टर कार्ड ने अमेरिका की ट्रंप सरकार से इसकी शिकायत की है. दरअसल मास्टर कार्ड ने जून महीने में  भारत के पीएम नरेंद्र मोदी की शिकायत अमेरिकी सरकार से की है. बता दें कि रॉयटर ने एक डॉक्यूमेंट के हवाले से जानकारी दी है कि मास्टर कार्ड ने डोमेस्टिक पेमेंट नेटवर्क के उपयोग को बढ़ावा देने के लिए पीएम मोदी द्वारा राष्ट्रवाद के उपयोग पर अपनी आपत्ति दर्ज की है.  खबरों के अनुसार मेादी सरकार की पॉलिसी की वजह से विदेशी पेमेंट कंपनी को ठेस पहुंची है.  जान लें कि मोदी सरकार ने अपने कार्यकाल में भारतीय पेमेंट नेटवर्क रुपे को बढ़ावा दिया है.  इसके असर से अमेरिकी की दिग्गज पेमेंट कंपनियां मास्टर कार्ड और वीजा का दबदबा कम हुआ है.  जानकारी के अनुसार भारत के एक बिलियन डेबिट और क्रेडिट कार्ड में से आधे से अधिक अब रुपे पेमेंट सिस्टम के तहत काम कर रहे हैं.

mi banner add

इससे मास्टर कार्ड परेशान है. मास्टर कार्ड केा इस बात से परेशानी है कि पीएम मोदी ने स्वदेशी कार्ड पेमेंट नेटवर्क को लागू किया और कहा कि रुपे कार्ड देश की सेवा कर रहा है. इसके ट्रांजेक्शन से मिलने वाले शुल्क से देश में सड़क, स्कूल और अस्पताल के निर्माण में सहायता मिलती है.

इसे भी पढ़ें : दोषी करार नेताओं पर आजीवन प्रतिबंध लगाने की याचिका पर सुनवाई को तैयार SC

मोदी राष्ट्रवाद के साथ रुपे कार्ड को जोड़ रहे हैं

मास्टर कार्ड ने 21 जून को  पीएम मोदी के द्वारा रुपे कार्ड को बढ़ावा देने के संदर्भ का हवाला देते हुए  संयुक्त राज्य व्यापार प्रतिनिधि (यूएसटीआर) को लिखा कि मेादी राष्ट्रवाद के साथ रुपे कार्ड को जोड़ रहे हैं और दावा कर रहे हैं कि इस कार्ड का उपयोग एक प्रकार से राष्ट्र सेवा है. बता दें कि मास्टर कार्ड के वाइस-प्रसिडेंट सहारा इंग्लिश ने भेजे गये नोट के माध्यम से कहा कि पीएम मोदी का  डिजिटल पेमेंट को बढ़ावा देने का प्रयास सराहनीय था, लेकिन भारत सरकार द्वारा वैश्विक कंपनियों के नुकसान के लिए संरक्षणवादी उपायों की एक श्रृंखला बनाये जाने से  अमेरिकी कंपनियां मोदी सरकार की संरक्षणवादी नीतियों की वजह से जूझ रही है.  इसके अलावा रॉयटर्स ने एक अन्य नोट के हवाले से बताया, मोदी सरकार द्वारा रुपे को बढ़ावा दिये जाने की वजह से मास्टर कार्ड  काफी निराश है.  मास्टर कार्ड के अनुसार रुपे को बढ़ावा देने के लिए पीएम मोदी और उनकी सरकार द्वारा किये जा रहे उपायों से अमेरिकी पेमेंट टेक्नोलॉजी कंपनियों को बाजार में पहुंच बनाने में समस्या पैदा हो रही है. मास्टर कार्ड  पूरी दुनिया में दूसरी सबसे बड़ी पेमेंट प्रोसेसर है.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

dav_add
You might also like
addionm
%d bloggers like this: