JamshedpurJharkhand

Jamshedpur : टाटा स्टील के जमशेदपुर प्लांट में धमाका, गैस रिसाव के बाद भगदड़, एंगल टूट कर लगने से एक ठेका कर्मी गंभीर रूप से घायल, गैस रिसाव से एक कर्मी की स्थिति भी नाजुक

Jamshedpur : टाटा स्टील के जमशेदपुर प्लांट के अंदर  धमाके की खबर है. धमाके के बाद पूरे क्षेत्र में भगदड़ मच गई. आग लगने और गैस रिसाव होने के बाद कर्मचारियों को तत्काल सुरक्षित बाहर निकाला गया. आग पर काबू पाने के लिए दमकल को भी बुलाना पड़ा. यह घटना सुबह दस बजकर 20 मिनट की बताई जा रही है. घटना आईएमएमएम कोक प्लांट के बैटरी नंबर 6 और 7 में हुई. इसमें काम कर रहे टीएन कन्स्ट्रक्शन के ठेका मजदूर नरसिंह मुर्मू (उम्र 39 साल) को एक अजीब सी आवाज सुनाई दी. आवाज के बाद एक एंगल टूट कर मुर्मू के बाईं जांघ में टक्कर मार दिया. इससे नरसिंह मुर्मू के जांघ में गंभीर चोट आई है. मुर्मू का इलाज टाटा मेन हॉस्पिटल में चल रहा है और वह खतरे से बाहर बताया जा रहा है.

 

इंजीनियरिंग सर्विेसेस में ही यूएई से आए हरि प्रसाद सेन जो, पाइपलाइन में काम करे थे, उन्होंने बताया कि सबसे पहले उन्होंने एक असामान्य आवाज सुनी. उसके बाद सीने में दर्द हुआ. कोई चोट नहीं लगी है. बताया जा रहा है कि जहरीली गैस के रिसाव के चलते सेन को सीने में दर्द हुआ. उनका भी इलाज टीएमएच में चल रहा है. मौके पर ही मेसर्स एसजीबी ठेका कंपनी के साहित्य कुमार भी काम कर रहे थे. वे बूस्टर लाइन के लिए कोक प्लांट में मचान बनाने का काम कर रहे थे. उन्होंने भी एक अजीब आवाज सुनी. हवा में कुछ कण उड़ते हुए दिखाई दिए. इससे उनके घुटने के नीचे दाहिने पैर में चोट आई है. इस घटना की पुष्टि टाटा कारपोरेट कम्युनिकेशन ने भी की है.

कारपोरेट कम्युनिकेशन ने बताया कि धमाका के कारणों की वजह जानने की कोशिश की जा रही है. कारपोरेट कम्युनिकेशन की ओर से जारी बयान के अनुसार आज सुबह करीब 10:20 बजे जमशेदपुर वर्क्स स्थित कोक प्लांट के बैटरी 6 में फाउल गैस लाइन में धमाका हुआ. वर्तमान में बैटरी 6 काम नहीं कर रही है और इसे हटाने की प्रक्रिया चल रही है. एंबुलेंस और दमकल की गाड़ियां तुरंत घटना स्थल पर पहुंच गईं और इलाके की घेराबंदी कर दी गई है. स्थिति पर काबू पा लिया गया है. ठेका के दो कर्मचारियों को मामूली चोटें आईं, जिन्हें इलाज के लिए टीएमएच भेजा गया. सीने में दर्द की शिकायत करने वाले एक अन्य कर्मचारी को भी जांच के लिए टीएमएच भेजा गया. उनकी हालत स्थिर है. घटना की सूचना संबंधित अधिकारियों को दे दी गई है और कारण का पता लगाने के लिए जांच की जा रही है.

उल्लेखनीय है कि कंपनी की सुरक्षा को लेकर एमडी टीवी नरेन्द्रन काफी गंभीर है. नये वित्तीय वर्ष के पहले दिन प्रबंधन और यूनियन पदाधिकारियों को संबोधित करते हुए सुरक्षा को लेकर बेहद गंभीर रहने की बात कही थी. उन्होंने सुरक्षा में किसी भी तरह की चूक को किसी भी कीमत में बर्दाश्त नहीं करने को कहा था.

ये भी पढ़े : बैंकों में खाता नहीं खुलने से बच्चों को नहीं मिल पा रहा सरकारी योजनाओं का लाभ

Related Articles

Back to top button