न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

मसूद अजहर एपिसोड : राहुल के तंज पर भाजपा का जवाब, जब देश दुख में है, तब राहुल क्यों सेलिब्रेशन मूड में हैं

रविशंकर प्रसाद ने 2004 में द हिंदू में छपे एक लेख का हवाला देते हुए कहा कि राहुल गांधी जी आपको जानना चाहिए कि चीन सिक्योरिटी काउंसिल में पहुंचा है, वे आपकी ही पार्टी और विरासत के कारण पहुंचा. 

20

NewDelhi :  भाजपा आतंकी मसूद अजहर और चीन के मसले पर राहुल गांधी के बयान पर हमलावर हो गयी है. भाजपा की प्रतिक्रिया राहुल गांधी के उस बयान पर आयी है, जिसमें उन्होंने कहा था कि चीन के राष्ट्रपति से कमजोर मोदी डरे हुए हैं. उनके मुंह से एक भी शब्द नहीं निकलता.  केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने राहुल पर निशाना साधते हुए प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि राहुल गांधी का ट्वीट हमने देखा है. कहा कि जब देश दुख में है, तब राहुल क्यों सेलिब्रेशन मूड में हैं. श्री प्रसाद ने कहा कि राजनीति में अंतर होगा, विरोध होना भी चाहिए. क्या घोर आतंकवादी के खिलाफ कार्रवाई में, चीन की पुरानी नीति के दोहराये जाने पर भी वे खुश हैं? राहुल गांधी को क्या हो गया है. कहा कि आपका ट्वीट पाकिस्तान में हेडलाइन बन जायेगा. आजकल  पाकिस्तानी मीडिया में ट्वीट और कमेंट देखकर आपको खुशी होती है.

रविशंकर प्रसाद ने कहा कि राहुल गांधी जी आज आपकी विरासत के कारण ही चीन सुरक्षा परिषद का सदस्य है. रविशंकर ने कहा कि आतंकवादी मसूद अजहर को ग्लोबल आतंकी घोषित करने के लिए इस बार प्रस्ताव अमेरिका, ब्रिटेन और फ्रांस लेकर आये. चीन को छोड़कर बाकी सभी देशों ने इस प्रस्ताव को सपोर्ट किया.

इसे भी पढ़ेंःआतंकी अजहर की ढाल बने चीन से नाराज UNSC सदस्यः कहा- कोई और कदम उठाने को हो सकते हैं मजबूर

 भारत को जब भी पीड़ा होती है तो राहुल खुश क्यों होते हैं

रविशंकर प्रसाद ने कहा कि चीन के इस कदम से भारत और भारतवासी बहुत दुखी हैं. क्या मसूद अजहर जैसे नृशंस हत्यारे के मामले में कांग्रेस का स्वर दूसरा होगा?  राहुल गांधी के ट्वीट से ऐसा लगता है कि उन्हें इस बात से खुशी है. रविशंकर प्रसाद ने कहा कि भारत को जब भी पीड़ा होती है तो राहुल खुश क्यों होते हैं? आतंकवादी मसूद अजहर को ग्लोबल आतंकी घोषित करने पर आज चीन को छोड़कर पूरी दुनिया भारत के साथ खड़ी है. ये एक तरह से भारत की कूटनीतिक जीत है. रविशंकर प्रसाद ने कहा कि  राहुल से आज कुछ सवाल पूछने जरूरी हैं. रविशंकर प्रसाद ने राहुल गांधी से पहला सवाल पूछते हुए कहा-2009 में यूपीए के समय में भी जब चीन ने यही टेक्निकल ऑब्जेक्शन लगाया था, तब उस समय भी आपने ट्वीट किया था क्या?  दूसरा सवाल पूछा कि राहुल गांधी जी, आपके चीन से अच्छे संबंध है डोकलाम के मुद्दे के वक्त आप चीन के दूतावास गये थे, आपकी बातचीत हुई थी.  बिना भारत सरकार की अनुमति के आप दूतावास गये थे.

इसे भी पढ़ेंःयोगी के मंत्री का तंज,  भाजपा का राष्ट्रवाद चुनावी दांव,  गरीब राष्ट्रवाद क्या जाने

चीन के साथ दोस्ती का तो लाभ दिला देते भारत को

जब आप मान सरोवर यात्रा पर गये थे. तब  चीन दूतावास के अधिकारी आपसे मिलने को लालायित थे.  कम से कम इस आतंकवादी मसूद अजहर के मामले में चीन के साथ दोस्ती का तो लाभ आप भारत को दिला देते.  रविशंकर ने कहा कि अगर राहुल गांधी अपने संबंधों का सदुपयोग कर आतंकवाद के खिलाफ कुछ करते तो हमें भी कोई आपत्ति नहीं होती. रविशंकर प्रसाद ने कहा-राहुल गांधी जी ट्विटर से देश की विदेश नीति नहीं चलती. चीन की बात निकलेगी तो बहुत दूर तलक जायेगी. राहुल गांधी जी आप तो विरासत के कारण वहां पर हैं, आपके विरासत की भूमिका क्या रही है, चर्चा तो इस पर भी होगी. राहुल गांधी जी आपको कुछ बताना है. आप लिखते-पढ़ते कम हैं. आजकल विदेश नीति में आपको क्या राय दी जा रही है.

कांग्रेस ने 55 साल देश में राज किया है, उम्मीद थी कि विदेश नीति पर आपको सही राय मिलेगी. रविशंकर प्रसाद ने 2004 में द हिंदू में छपे एक लेख का हवाला देते हुए कहा कि राहुल गांधी जी आपको जानना चाहिए कि चीन सिक्योरिटी काउंसिल में पहुंचा है, वे आपकी ही पार्टी और विरासत के कारण पहुंचा.

इसे भी पढ़ेंःआतंकी अजहर मामले पर कांग्रेस का तंजः विफल विदेश नीति फिर उजागर, काम नहीं आयी हगप्लोमेसी

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: