Jamshedpur

चाईबासा हरिगुटू में याद किये गये मरांग गोमके

Chaibasa : हरिगुटू के कला एवं संस्कृति भवन में महासभा एवं युवा महासभा के टीम ने मरांग गोमके जयपाल सिंह मुंडा की जयंती मनायी. मरांग  गोमके के तस्वीर पर पुष्प अर्पित कर उन्हे नमन किया गया. आदिवासी हो समाज महासभा केंद्रीय कमेटी के शिक्षा सचिव जवाहरलाल बंकिरा ने पढ़ाई के अलावा खेलकूद तथा वाद-विवाद में नाम कमाने के साथ-साथ आदिवासियों की खराब हालत देखकर उनके राजनीति में आने की जानकारियों का भी साझा किया गया. सन्  1938 जनवरी में आदिवासी महासभा की अध्यक्षता ग्रहण कर बिहार से झारखंड अलग राज्य स्थापना की मांग करते हुए आदिवासियों की अधिकारों की आवाज बन गये. जयंती पर आदिवासी हो समाज युवा महासभा के पदाधिकारियों ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए संविधान सभा में बेहद वाकपटुता से देश के आदिवासियों के बारे में सकारात्मक ढंग से बात रखने के प्रति आभार जताया.

मौके पर ये थे मौजूद

मौके पर युवा महासभा केन्द्रीय अध्यक्ष डॉ बबलू सून्डी, उपाध्यक्ष इपिल सामड, महासचिव गब्बरसिंह हेम्ब्रम, सगठंन सचिव सुशील सवैंया, साहित्यकार सोनु हेस्सा, दारे बोदरा, युवा महासभा टीम से गोबिन्द बिरूवा, मदन बोदरा, सिकंदर हेम्ब्रम, शंकर सिदु, रामचंद्र सामड, बधुराम सोय, विरेन्द्र अंगरिया, रेंगो सामड, कमलेश बिरूवा, अशीष तिरिया, संजीव तिरिया, संजय हेम्ब्रम, सुरेश पिंगुवा, दुदुगर पिंगुवा आदि मौजूद थे.

इसे भी पढ़ें- चाईबासा में जयंती पर याद किये गये मरांग गोमके जयपाल सिंह मुंडा

Related Articles

Back to top button