न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

सबरीमाला मंदिर में जानेवाली महिलाएं माओवादी, भाजपा-कांग्रेस एक साथ माकपा पर हमलावर, केरल में हड़ताल

सबरीमला विवाद पर कांग्रेस और भाजपा एक साथ केरल की सीपीएम सरकार पर हमलावर है.  केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार हेगड़े ने एक इंटरव्यू में सबरीमाला मामले पर केरल सरकार को घेरते हुए इसे हिंदुओं का दिनदहाड़े दुष्कर्म बताया है.

24

NewDelhi : सबरीमला विवाद पर कांग्रेस और भाजपा एक साथ केरल की सीपीएम सरकार पर हमलावर है.  केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार हेगड़े ने एक इंटरव्यू में सबरीमाला मामले पर केरल सरकार को घेरते हुए इसे हिंदुओं का दिनदहाड़े दुष्कर्म बताया है. इसके अलावा भाजपा नेता वी मुरलीधरन ने  कहा कि महिलाओं का मंदिर में प्रवेश पूरी तरह से सुनियोजित था जिसके तहत दो माओवादी महिलाओं को पुलिस की देख रेख में मंदिर के अंदर ले जाया गया.  अनंत कुमार हेगड़े ने कहा कि केरल सरकार सबरीमाला मामले में पूरी तरह से नाकाम रही है. मुरलीधरन ने कहा कि बुधवार को दो महिलाएं जो मंदिर में गयी थीं वे श्रद्धालु नहीं बल्कि माओवादी थीं. कहा कि सीपीएम ने चुनिंदा पुलिसवालों की मदद से महिलाओं को मंदिर ले जाने का सुनियोजित प्लान बनाया. यह एक साजिश है जो माओवादियों ने केरल सरकार और सीपीएम के साथ तैयार की. कांग्रेस नेता रमेश चेन्निथला ने वामपंथी सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन का आह्वान किया. उन्होंने कहा, विजयन को इसके लिए भारी कीमत चुकानी पड़ेगी.  एक अन्य कांग्रेस नेता के सुधाकरन ने विजयन को फासीवादी बताते हुए कहा कि मंदिर में प्रवेश करने वाली दोनों महिलाएं उनकी कठपुतलिया थीं

 दोनों महिलाओं ने मंगलवार आधी रात में मंदिर की चढ़ाई शुरू की

जैसी कि जानकारी मिली है, दोनों महिलाओं ने मंगलवार आधी रात में मंदिर की चढ़ाई शुरू की थी और वे बुधवार को लगभग सुबह 3:45 बजे मंदिर में पहुंच गयीं.  इसके बाद उन्होंने भगवान अय्यपा के दर्शन किए और लौट गयीं. महिलाओं का नाम बिंदू और कनकदुर्गा बताया जा रहा है. बता दें कि एएनआई ने इसका एक वीडियो भी जारी किया है.  इस एंट्री के खिलाफ गुरुवार को कई संगठनों की राज्यव्यापी हड़ताल का जबरदस्त असर है. सड़कों पर सन्नाटा है और बसें ठप हैं. बता दें कि मंदिर में दो महिलाओं द्वारा दर्शन किये जाने को लेकर बुधवार को विरोध-प्रदर्शन के दौरान एक शख्स जख्मी हो गया था, उसकी आज मौत हो गयी. विभिन्न हिंदूवादी संगठनों के समूह सबरीमाला कर्म समिति की हड़ताल का  भाजपा समर्थन कर रही है.  आज कांग्रेस के नेतृत्व वाला यूडीएफ काला दिवस मना रहा है. बुधवार को सीपीआई (एम) और भाजपा कार्यकर्ताओं के बीच हुई झड़प में घायल  55 साल के सबरीमाला कर्म समिति (एसकेएस) कार्यकर्ता की पंडलम में मौत हो गयी. हिंसा के आरोप में पुलिस ने दो लोगों को हिरासत में लिया है

सरकार की जिम्मेदारी है कि महिलाओं को सुरक्षा प्रदान की जाये

सबरीमाला विवाद पर केरल के सीएम पिनराई विजयन ने कहा, यह सरकार की जिम्मेदारी है कि महिलाओं को सुरक्षा प्रदान की जाये. कहा कि सरकार ने यह संवैधानिक जिम्मेदारी पूरी की है. आरोप लगाया कि संघ परिवार सबरीमाला को युद्ध स्थल बनाने में तुला है. इस क्रम में शाही पंडलम परिवार के सदस्य पीजीएस वर्मा ने महिलाओं के मंदिर में घुसने पर कहा, ‘केरल सरकार हर दिन किसी न किसी को वहां भेजकर रिवाजों के साथ छेड़छाड़ कर रही है. बता दें कि केरल की दो महिलाओं ने बुधवार तड़के सबरीमाला मंदिर में दर्शन-पूजन किये थे. इस घटना का एसकेएस ने विरोध करते हुए पूरे राज्य में हड़ताल का आह्वान किया है.  केरल के मुख्यमंत्री पी विजयन द्वारा इस बात की पुष्टि किये जाने के बाद कि बिंदू और कनक दुर्गा नामक दो महिलाओं ने तड़के साढ़े तीन बजे दर्शन किये हैं, मंदिर को शुद्धिकरण अनुष्ठान के लिए एक घंटे तक बंद कर दिया गया था.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: