Crime NewsGiridihJharkhandTOP SLIDER

माओवादियों ने दी पारा शिक्षकों को धमकी, नौकरी छोड़कर संगठन से जुड़िए वरना छह इंच छोटा कर देंगे

Giridih: गिरिडीह-जमुई के सीमावर्ती गांव गरुड़बाद में माओवादियों ने पोस्टरबाजी कर अपनी उपस्थिति का अहसास तो कराया है. साथ ही इलाके के पारा शिक्षकों में भी दहशत पैदा कर दी है. गांव के एक पेड़ में पोस्टरबाजी कर माओवादियों ने पारा शिक्षकों को संगठन से जुड़ने का आह्वान किया है.

इस दौरान जानकारी मिलने के बाद जमुई की सीआरपीएफ करीब दोपहर दो बजे गांव पहुंची और पेड़ से माओवादियों के पोस्टर को हटाया. प्रतिबंधित नक्सली संगठन भाकपा माओवादी के दस्ते ने सीमावर्ती इलाके के जिस गांव में पोस्टरबाजी की है, वह गांव जमुई के चकाई थाना में पड़ता है, लेकिन गिरिडीह की भेलवाघाटी से गरुड़बाद गांव काफी नजदीक बताया जा रहा है.

गांव में की गयी पोस्टरबाजी के कारण ग्रामीण भी दहशत में हैं. पेड़ में चिपकाए गए पोस्टर में माओवादियों ने कुछ स्थानीय लोगों के नाम लिखकर उन्हें पारा शिक्षक बताया है और इन पारा शिक्षकों को नौकरी छोड़कर क्रांतिकारी संगठन से जुड़ने का आह्वान किया है. क्रांतिकारी संगठन से नहीं जुड़ने पर छह इंच छोटा करने की धमकी भी माओवादियों ने पोस्टर में दी है.

वैसे यह भी स्पष्ट नहीं हो पाया है पोस्टर में जितने नाम हैं, वे सही हैं या गलत, लेकिन चकाई थाना की पुलिस और दोनों जिलों की सुरक्षा बलों का सक्रियता एक बार फिर इन इलाकों में बढ़ चुकी है.

बताते चले कि इसी गांव में डेढ़ साल पहले दो ग्रामीणों की हत्या माओवादियों ने पुलिस मुखबिरी का आरोप लगाकर गला रेतकर कर दी थी.

इसे भी पढ़ें – चेंबर प्रतिनिधियों को मुख्यमंत्री का आश्वासन, उद्योगों को पुनर्जीवित करने पर हो रहा काम

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: