ChaibasaCrime News

माओवादी रणवीर पात्रो और उसकी पत्नी शांति ने किया सरेंडर, दोनों पर घोषित था एक-एक लाख का इनाम

  • भाकपा माओवादी के सब-जोनल कमांडर अनमोल दा के दस्ते का सदस्य था यह दंपती

Chaibasa : झारखंड सरकार की सरेंडर पॉलिसी से प्रभावित होकर भाकपा माओवादी के सब-जोनल कमांडर अनमोल दा के दस्ता के सदस्य गोइंदा गागराई उर्फ रणवीर पात्रो उर्फ रामवीर पात्रो उर्फ गणेश्वर ने रविवार को पुलिस के समक्ष सरेंडर कर दिया. उसके साथ उसकी पत्नी शांति कंडुलना ने भी सरेंडर किया. इन दोनों माओवादी दंपती ने दस्ते की प्रताड़ना से तंग आकर समाज की मुख्यधारा से जुड़ने के लिए चाईबासा एसपी चंदन झा और सीआरपीएफ 174 बटालियन के कमांडेंट डॉ प्रेमचंद के समक्ष सरेंडर कर दिया. ओड़िशा के सुंदरगढ़ निवासी रणवीर और पश्चिमी सिंहभूम के छोटानागरा के कुदलीबाद निवासी शांति कंडुलना उर्फ अलबिना कंडुलना पर एक-एक लाख रुपये का इनाम था. दोनों अनमोल दस्ते के अहम सदस्य थे. दोनों के सरेंडर करने के दौरान सदर एसडीओ परितोष ठाकुर, अभियान एएसपी मनीष रमण, सीआरपीएफ के अधिकारी अरुण झा, दीपक मणि त्रिपाठी, रवि, एसआर रमण समेत पुलिस और सीआरपीएफ के अधिकारी भी मौजूद थे.

अलग-अलग थानों में रणवीर पर कई मामले हैं दर्ज

पुलिस ने बताया कि सरेंडर किये एक लाख के इनामी नक्सली गोइंदा उर्फ रणवीर पर चाईबासा जिले के अलग-अलग थानों में कई मामले दर्ज हैं. वर्ष 2014 में चाईबासा सदर थाना में भी मामला दर्ज है. कोर्ट में पेशी के बाद जेल में मारपीट कर जेल ब्रेक कर फरार होने का मामले के अलावा गुवा थाना में अवैध हथियार, विस्फोटक सामग्री रखने एवं लेवी मांगने का मामला भी दर्ज है. वहीं किरीबुरू थाना में सुरक्षा बलों को क्षति पहुंचाने, पक्की सड़क पर बम लगाने का मामला दर्ज है.

शांति के खिलाफ नक्सली कैंप चलाने और पुलिस से मुठभेड़ करने का मामला है दर्ज

गोइंदा उर्फ रणवीर की पत्नी शांति कंडुलना उर्फ अलबिना पर छोटानागरा थाना में वर्ष 2011 में बालिबा जंगल में पुलिस के साथ मुठभेड़ करने, नक्सली कैंप चलाने का मामला दर्ज है. नोवामुंडी में माओवादियों के लिए फंडिंग एवं पुराने नोटों को बैंक में जमाकर नये नोट निकालने का मामला भी दर्ज है. वहीं, किरीबुरू थाना में सुरक्षा बलों को क्षति पहुंचाने की नीयत से सड़क पर बम लगाने का मामला भी शांति के खिलाफ दर्ज है.

नसबंदी कराने की शर्त पर दी गयी थी शादी की मंजूरी

रणवीर पात्रो और शांति कंडुलना, दोनों एक-दूसरे से नक्सली संगठन में काम के दौरान मिले थे. कुछ दिनों के बाद ये दोनों शादी करना चाह रहे थे, लेकिन नक्सली दस्ते के बड़े नक्सली इसका विरोध कर रहे थे. उनकी बात नहीं मानने पर दस्ते ने रणवीर को नसबंदी कराने की शर्त पर शादी की मंजूरी दी थी.

दस्ते में हो रही प्रताड़ना से थे परेशान

नक्सली गोइंदा उर्फ रणवीर और उसकी पत्नी शांति कंडुलना उर्फ अलबिना नक्सली दस्ते में हो रही प्रताड़ना से परेशान थे. पति-पत्नी होकर भी ये अलग थे. सरेंडर करने को लेकर रणवीर पात्रो और शांति कंडुलना के परिजन पुलिस के साथ संपर्क बनाये हुए थे. दोनों ने झारखंड सरकार की प्रत्यर्पण एवं आत्मसमर्पण नीति से प्रभावित होकर रविवार को सरेंडर कर दिया.

सरेंडर पॉलिसी के तहत तत्काल दिये गये 50-50 हजार रुपये

एसपी चंदन झा, सीआरपीएफ 174 बटालियन के कमांडेंट डॉ प्रेमचंद, सदर एसडीओ परितोष कुमार ठाकुर ने सरेंडर करनेवाले दोनों पति-पत्नी को बुके देकर मुख्यधारा से जुड़ने का स्वागत किया. वहीं, सरेंडर पॉलिसी के तहत दोनों को 50-50 हजार रुपये दिये गये. पुलिस ने बताया कि बाकी के 50-50 हजार रुपये जल्द दिये जायेंगे. दोनों को सरेंडर पॉलिसी का पूरा लाभ मिलेगा.

इसे भी पढ़ें- खूंटी पुलिस ने 33 किलो अफीम के साथ नौ तस्करों को किया गिरफ्तार

इसे भी पढ़ें- कुख्यात अपराधी अमरेन्द्र तिवारी की छपरा में गोली मार कर हत्या

Related Articles

Back to top button