Business

मोदी सरकार से कई यूनियनों ने की अपील, #AirIndia को न बेचा जाये…पायलट भी अपील करने वालों में शामिल

NewDelhi :  Air India की इंडियन कॉमर्शियल पायलट एसोसिएशन, ऑल इंडिया केबिन क्रु एसोसिएशन एंड पायलट गिल्ड सहित कई यूनियनों ने पीएम मोदी से अपील की है कि केंद्र सरकार Air India का विनिवेश रोक दे.

Jharkhand Rai

पीएम मोदी से अपील करने वाले लोगों में एअर इंडिया के पायलट भी शामिल है. यूनियन ने अपने अपील में सरकार को सुझाव दिया है कि एलएंडटी और आईटीसी की तरह ही एअर इंडिया को एक बोर्ड मैनेज्ड कंपनी बना दें.

जान लें कि भारी घाटे के बोझ से जूझ रही एअर इंडिया की 100 फीसदी हिस्सेदारी बेचने के लिए केंद्र सरकार लगातार प्रयासरत  है. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने 31 मार्च 2020 तक एअर इंडिया के विनिवेश की बात कही है.

इसे भी पढ़ें : #IMF की चीफ इकोनॉमिस्ट गीता के विचार, भारत को आर्थिक सुस्ती से जल्द राहत नहीं मिलने वाली

Samford

एयरलाइन को प्रोफेशनल मैनेजमेंट द्वारा चलाये जाने की मांग  

खबरों के अनुसार यूनियन की तरफ से जारी संयुक्त पत्र में कहा गया है, एअर इंडिया पिछले तीन साल से ऑपरेशनल प्रॉफिट रिपोर्ट कर रही है. सालाना आउटगो चार हजार करोड़ रुपये से अधिक होने के कारण लोन सर्विस करना बड़ी चुनौती है. आगे लिखा है कि हम सरकार से आग्रह करते हैं कि वो क्रेडिट्स की छूट दे और एयरलाइन को प्रोफेशनल मैनेजमेंट द्वारा चलाया जाये.

ज्वाइंट लेटर गृह मंत्री अमित शाह, एविएशन मिनिस्टर हरदीप सिंह पूरी, सिविल एविएशन सेक्रेटरी पीएस खरोला सहित एअर इंडिया के सीएमडी अश्विन लोहानी को भेजा गया है. पत्र में  कहा गया है कि कभी Jewel कही जाने वाले इस कंपनी को बेचे जाने से कर्मचारियों से लेकर आम लोगों को दुख होगा.

आधिकारिक सूत्रों के अनुसार  एयरलाइन के​ विनिवेश के लिए बिडिंग प्रक्रिया से पहले एक्सप्रेशन ऑफ इंटरेस्ट स्वीकार करना शुरू कर दिया जायेगा. खबर है कि एअर इंडिया पर यूपीए 2 सरकार ने 30 हजार करोड़ रुपये का राहत पैकेज दिया था. कंपनी इसी के आधार पर मौजूदा परिचालन कर रही है.

इसे भी पढ़ें : #CAAProtest : केंद्र सरकार ने फिर जारी की एडवाइजरी, कहा, न्यूज चैनल राष्ट्र विरोधी प्रवृत्ति को बढ़ावा देने वाली सामग्री न दिखायें

 

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: