Crime NewsJamshedpurJharkhand

जमशेदपुर : सूद कारोबारी धर्मेन्द्र हत्याकांड में कई राज अब तक अनसुलझे, आरोपी को रिमांड पर लेकर पूछताछ करेगी पुलिस

Jamshedpur : साकची थाना अंतर्गत काशीडीह लाइन नंबर-चार निवासी सूद कारोबारी धर्मेंद्र सिंह की हत्या के मामले में गिरफ्तार विश्वजीत प्रधान को पूछताछ के बाद पुलिस ने न्यायिक हिरासत में भेज दिया है. बावजूद इसके पुलिस भी मान रही है कि इस कांड के कई राज अब तक अनसुलझे हैं. इसे लेकर पुलिस आरोपी को रिमांड पर लेकर आगे पूछताछ करेगी.

आरोपी के बयान बदलने से बढ़ी पुलिस की उलझन
इस मामले में सिटी एसपी सुभाष चंद्र जाट ने बताया कि अब तक कि जांच में जो बात उभरकर सामने आई है उसके साफ है कि सिदगोड़ा स्थित बारा फ्लैट में योजनाबद्ध तरीके से हत्याकांड को अंजाम दिया गया है. पुलिस ने मामले में त्वरित कार्रवाई करते हुए आरोपी को कार समेत गिरफ्तार करने में भी सफलता पाई. हालांकि, पूछताछ में आरोपी ने कांड की जो वजह बतायी उस पर पुलिस को शक है. उसने पुलिस को बताया था कि धर्मेंद्र अक्सर किसी न किसी युवती को उसके फ्लैट में लेकर आता था. घटना के दिन भी वह एक लड़की को लेकर उसके फ्लैट में आया था. उसके थोड़ी देर बाद ही पीछे से दो और युवक आए और उनकी धर्मेंद्र से झड़प होने लगी. तभी युवक ने बैट से मारकर धर्मेंद्र की हत्या कर दी. फिर उसे भी युवकों ने डराया धमकाया और शव को ठिकाने लगाने के लिए अपने साथ कर लिया. उसके बाद साकची से उसने बैग खरीदा और शव को कार में लेकर दोनों युवकों के साथ घूमता रहा. इस बीच दोनों युवक कार से उतरकर चले गए. सिटी एसपी सुभाष चंद्र जाट के मुताबिक विश्वजीत बार-बार अपना बयान बदल रहा है.
रुपयों की खातिर हुई हत्या या कुछ और?
इधर, पुलिस इस बात को लेकर जांच कर रही है कि धर्मेंद्र की हत्या रुपयों की खातिर की गई है या बात कुछ और है. अब तक की जांच में यह बात सामने आई है कि विश्वजीत ने धर्मेंद्र से 11 लाख रुपए लिये थे. वह धर्मेंद्र के लिए सूद के रुपये वसूलने का भी काम करता था. वहीं, इस पूरे मामले में . के परिजनों को मोबाइल पर मैसेज कर 50 लाख की फिरौती की मांग करने की बात भी सामने आई है. दूसरी ओर विश्वजीत ने पुलिस को जो बयान दिया है उस पर भी जांच की जा रही है. यही वजह है कि मामले की जांच पूरी होने के बाद ही पुलिस किसी ठोस नतीजे पर पहुंचने की बात कह रही है.

ये भी पढ़ें- जमशेदपुर : बागबेड़ा में कन्हैया सिंह और मोनू के बीच हुई थी बारह राउंड फायिरंग, दोनों पक्षों के आठ लोग गिरफ्तार, तीन पिस्टल बरामद

ram janam hospital
Catalyst IAS

Related Articles

Back to top button